--Advertisement--

नर्सें हड़ताल पर, 48 में से 40 ऑपरेशन रुके, मरीज हो रहे परेशान

दोनों मेट्रन को निलंबित करने और अधीक्षक पर कार्रवाई की मांग।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 07:38 AM IST
Nurses on strike, 40 out of 48 operations stayed

नागपुर. शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (मेडिकल) में मेट्रन की तानाशाही के विरोध में बुधवार को करीब 1200 नर्सेस हड़ताल पर चली गईं। इससे विभिन्न विभागों के 48 में से 40 ऑपरेशनों को रोकना पड़ा। नर्सेस ने मेट्रन ई.सू.जोसेफ व वैशाली तायडे को निलंबित करने एवं अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश गोसावी पर कार्रवाई की मांग की। बाद में आश्वासन के बाद हड़ताल वापस ले ली। नर्सेस एसोसिएशन ने आरोप लगाया कि अधिवेशन में ही वार्ड क्यों साफ चाहिए, जब हमेशा वार्ड गंदा ही रहता है।

- जानकारी के अनुसार, पिछले दिनों अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश गोसावी ने वार्ड क्रमांक 36 का राउंड लिया और वार्ड में गंदगी होने पर नर्सों को साफ करने के लिए कहा, लेकिन नर्सों ने अपना काम नहीं होने से इनकार कर दिया।

- अधीक्षक ने मामले की शिकायत मेट्रन से की, तो उन्होंने वार्ड 36 में आकर खुद खड़े होकर सिस्टर, इंजार्च सिस्टर और असिस्टेंट मेट्रन से वार्ड के टॉयलेट, फर्श और खिड़की आदि साफ करवाई। इसके बाद नर्सों ने मामले की लिखित शिकायत महाराष्ट्र गवर्मेंट विदर्भ नर्सेस एसोसिएशन से की और बुधवार को सुबह 8 बजे से हड़ताल पर चली गईं।

उल्टे पांव लौटे डीन
नर्सों से मिलने पहुंचे मेडिकल डीन डॉ. अभिमन्यु निसवाडे से नर्सों ने लिखित में आश्वासन मांगा, तो वे उल्टे पांव लौट गए। एसोसिएशन की अध्यक्ष कल्पना विंचूरकर का कहना है कि हमने डीन से दोनों मेट्रन ई.सू.जोसेफ और वैशाली तायडे को निलंबित करने एवं अधीक्षक डॉ. गोसावी पर कार्रवाई की मांग लिखित में मांगी, तो डीन वापस चले गए।

कार्रवाई के लिए प्रस्ताव
देर रात नर्सेस जांच समिति में का एक सदस्य नर्स होने और शासन को कड़ी कार्रवाई के िलए प्रस्ताव भेजने पर एसाेसिएशन मान गया। एसोसिएशन की महासचिव प्रभा भजन, कार्यकारी अध्यक्ष तनुजा घोडमारे कोषाध्यक्ष सुनंदा महंत आदि नर्सेस उपस्थित थीं।

X
Nurses on strike, 40 out of 48 operations stayed
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..