--Advertisement--

थाना कैम्पस में लेबर पेन से तड़प रही थीं प्रेग्नेंट गाय, पुलिसवालों ने कराई डिलिवरी

परिसर में दो गायें दर्द से तड़प रहीं थीं, कोई ग्वाला भी नहीं था, इसलिए लिया फैसला

Danik Bhaskar | Jan 13, 2018, 06:21 AM IST
कोई ग्वाला भी नहीं था, इसलिए दर कोई ग्वाला भी नहीं था, इसलिए दर

कामठी/कन्हान. कामठी के नया पुलिस थाने में पुलिस ने शुक्रवार को मिसाल पेश की। थाना कैम्पस में प्रेग्नेंट गाय लेबर पेन से तड़प रही थी आस-पास कोई ग्वाला भी नहीं था। किसकी गाय है, कोई सामने भी नहीं आया, ऐसे में पुलिसकर्मियों से नहीं देखा गया। वे आगे आए और कुछ कर्मियों ने मिलकर डिलिवरी करा दी।

दूसरी गाय की भी सफल डिलिवरी

- जानकारी के मुताबिक, कामठी के नेशनल हाईवे 7 के नया पुलिस थाने के पीछे शुक्रवार की दोपहर कुछ मवेशी चरने आए। इसमें दो गायें प्रेग्नेट थीं। अचानक उन्हें लेबर पेन होने लगा।

- इस समय थाने में हेड कॉन्स्टेबल विनायक आसटकर और एनपीसी विजय लांजेवार मौजूद थे। अचानक दोनों प्रेग्नेंट गायों की हालत खराब होने लगी।

- हालात को भांप एनपीसी कामेश्वर, महिला हेड कॉन्स्टेबल माकोड़े और डब्ल्यूपीसी भारती जुनघरे भी वहां पहुंची। जैसे-तैसे उन्होंने पहली गाय की डिलिवरी कराई। इसके बाद दूसरी गाय की भी सफल डिलिवरी वहीं हो गई। दोनों गायें और उनके बछड़े सही सलामत हैं।

पुलिसकर्मियों की तारीफ और चर्चा थाने में चलती रही

एक गाय खुशबू मोटर के पास रहने वाली गवली की थी, तो दूसरी भाजीमंडी कैम्पस निवासी की है। खबर मिलते ही दाेनों थाने पहुंचे और गायें समेत बछड़े साथ ले गए। दाेनों ने पुलिस वालों का आभार माना। दिनभर इन पुलिसकर्मियों की तारीफ और चर्चा थाने में चलती रही।