--Advertisement--

Scam: 18 हजार का टायर 85 हजार में खरीदा, 5 अफसर आखिरकार सस्पेंड

मनपा को करोड़ों की चपत लगाने वालों में सहायक आयुक्त भी शामिल

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 06:09 AM IST
scam accused officers suspended

नागपुर. मनपा कारखाना विभाग अंतर्गत कलपुर्जे खरीदी में मामले में बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। विभाग के प्रभारी सहायक आयुक्त विजय हुमणे, यांत्रिकी अभियंता उज्जवल लांजेवार, यांत्रिकी अभियंता राजेश गुरनुले, वाहन निरीक्षक विक्रम मानकर, कनिष्ठ वाहन निरीक्षक मनीष कायरकर को शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि कर्मचारी-अधिकारी मिलीभगत कर बाजार मूल्य के कई गुना ज्यादा कीमत पर सामान खरीदी में भ्रष्टाचार करते थे।


तीन गुना कीमतों पर खरीदी
कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक संदीप सहारे ने सूचना अधिकार अंतर्गत इस मामले की जानकारी मांगी थी। कई चौंकाने वाले खुलासे हुए। बाजार में जो टायर 14,800 रुपए में मिलता है, उस टायर को कारखाना विभाग ने 35,950 रुपए में कंपनियों से टेंडर मंगाकर खरीदा है। यह एकमात्र मामला नहीं है। बाजार में रीडायल टायर की कीमत 18400 है, उसे कंपनियों से 85,456 रुपए में खरीदा गया था। 12 वोल्ट की बैटरी बाजार में 5390 रुपए में मिलती है, उसे 18,500 रुपए में खरीदा गया है। इंजन ऑयल फिल्टर बाजार में 600 रुपए में मिलता है, उसे 5842 रुपए में खरीदा गया है। ऐसी अनेक वस्तु या पार्ट्स हैं, जिन्हें कंपनियों से तीन गुना अधिक कीमतों पर खरीदा गया था। आरटीआई में खुलासा हुआ था कि पिछले दो साल में करीब 2 करोड़ 31 लाख 43 हजार 677 रुपए के वाहनों के पार्ट्स कारखाना विभाग ने खरीदे हैं।

...मनपा को एक करोड़ की बचत होती

बताया गया कि मनपा कारखाना िवभाग अंतर्गत शहर में 201 वाहन संचालित होते हैं। वाहन में खराबी आने पर इनकी दुरुस्ती की जाती है, लेकिन दुरुस्ती या मरम्मत के लिए सीधे तौर पर बाजार से पार्ट्स नहीं खरीदे जाते हैं। इसके लिए टेंडर (निविदा) निकाला जाता है। कुल 24 कंपनियों से अलग-अलग पार्ट्स की खरीदी की गई है। वर्ष 2015-16 में 98 लाख 4 हजार 909 रुपए और वर्ष 2016-17 में 1 करोड़ 33 लाख 38 हजार 768 रुपए के पार्ट्स खरीदे गए हैं। सभी पार्ट्स की कीमत में 3 गुना अंतर है। दावा किया गया कि अगर सीधे बाजार मूल्य पर यह पार्ट्स खरीदे जाते तो मनपा को करीब 1 करोड़ रुपए की बचत होती। इस खरीदी में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है।

मनपा आमसभा में जोर-शोर से उठा था मुद्दा

यह मामला 8 दिसंबर की मनपा आमसभा में जोर-शोर से उठा। संदीप सहारे ने गंभीर आरोप लगाकर अधिकारियों को तुरंत निलंबित करने की मांग की थी। प्रतिपक्ष नेता तानाजी वनवे, निर्दलीय नगरसेविका आभा पांडे ने भी इस मामले को मुद्दा बनाया था। सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने मामले को गंभीर बताते हुए दोषियों पर सख्त कार्रवाई करने की सूचना की थी। इस अनुसार प्रभारी सहायक आयुक्त विजय हुमणे, यांत्रिकी अभियंता उज्जवल लांजेवार, यांत्रिकी अभियंता राजेश गुरनुले सहित 5 लोगों को शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया है।

भास्कर ने किया था मामला उजागर
फिलहाल कारखाना विभाग का प्रभार, परिवहन विभाग के कनिष्ठ निरीक्षक योगेश लुंगे को सौंपा गया है। संपत्ति कर विभाग के बाद कारखाना विभाग में पिछले एक सप्ताह में यह दूसरी बड़ी कार्रवाई हुई है। इससे पहले 8 दिसंबर को मनपा की आमसभा में कार्यकारी महापौर दीपराज पार्डीकर ने श्री हुमणे, लांजेवार, गुरनुले को निलंबित करने की घोषणा की थी। शुक्रवार को इस संबंध में आयुक्त अश्विन मुद्गल ने आधिकारिक आदेश जारी किए है। इसमें अब दो और नए नाम जुड़ गए हैं। वाहन निरीक्षक विक्रम मानकर, कनिष्ठ वाहन निरीक्षक मनीष कायरकर को भी इस घोटाले में समान सहभागी पाया गया। इन्हें भी निलंबित करने का निर्णय लिया गया है। बता दें कि दैनिक भास्कर ने 6 दिसंबर के अंक में इस घोटाले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

X
scam accused officers suspended
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..