--Advertisement--

ये है इंडिया की नेशनल लेडी बॉडी बिल्डर चैम्पियन, बीमारी के बाद शुरू की थी जिमिंग

वर्षा ने कड़े मुकाबला में कई महिला कंटेस्टेंट्स को पीछे छोड़ते हुए यह खिताब अपने नाम किया।

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 09:11 AM IST
वर्षा आडवाणी ने मां बनने के बाद बॉडी बिल्डर बनने का फैसला लिया था। वर्षा आडवाणी ने मां बनने के बाद बॉडी बिल्डर बनने का फैसला लिया था।

नागपुर. शहर की इकलौती बॉडी बिल्डर वर्षा आडवाणी ने पुणे में आॅर्गनाइज 11वीं सीनियर बॉडी बिल्डर मिस इंडिया और छठवीं फिजिक स्पोर्ट्समैन और वुमेन चैंपियनशिप-2018 में पहला नेशनल गोल्ड मेडल जीता। वर्षा को मिस इंडिया-2018 का खिताब हासिल हुआ। उन्होंने मुकाबला में कई महिला कंटेस्टेंट्स को पीछे छोड़ते हुए यह खिताब अपने नाम किया।

कहा- देश में अभी भी महिला बॉडी बिल्डर को स्पांसर नहीं मिलते

इस मौके पर देश की महिला चैंपियन शामिल हुईं। वर्षा आडवाणी ने कहा कि भारत में अभी भी महिला बॉडी बिल्डर को स्पांसर नहीं मिलते हैं। यह प्रतियोगिता काफी महंगी है। इसमें महिलाएं ज्यादा-से ज्यादा हिस्सा लें। इस दौरान वे डाइट के लिए काफी सजग रहीं। वेट मेंटेन रखना उनके लिए चुनौतीपूर्ण रहा।

थाइराइड होने के बाद लगा बड़ा कदम उठाना पड़ेगा...
- एक बार वर्षा को थाइराइड हो गया था, जिसके बाद कसरत करने की सलाह दी गई। उसी वक्त लगा कि अब फिटनेस के लिए कड़ा कदम उठाना पड़ेगा। उन्होंने जिम जाना शुरू कर बॉडी बिल्डिंग करने लगी। वह कसरत के दौरान अपने खान-पान और मसल्स पर खास ध्यान देने लगीं। कड़ी ट्रेनिंग लीं। डाइट फॉलो कर घर पर भी प्रैक्टिस की।

कहा- लड़कियों को उनकी फिगर और बॉडी से ही आंका जाता है

वर्षा कहती हैं कि लड़कियों को उनकी फिगर और बॉडी से ही आंका जाता है। अगर लड़की की फिगर में कुछ 19-20 हुआ तो कहा जाता है उनमें औरतों वाली बात नहीं है। अगर महिलाएं कसरत करेंगी, तो उनके डोले-शोले बन जाएंगे। मसल्स दिखने लगेंगे और उनका लड़कियों वाला लुक खत्म हो जाएगा।

परिवार की जिम्मेदारियां भी बखूबी निभाते खुद को रखती हैं मेंटेन

- सिक्स पैक को मेंटेन रखते हुए वर्षा अपने परिवार की जिम्मेदारियां भी बखूबी निभा रही हैं। वे ‘महाराष्ट्र श्री’ जीत चुकी हैं। इसमें उन्हें गोल्ड मेडल मिला था।

- वहीं सीनियर नेशनल फीमेल बीबी इंदौर, आईबीबीएफ में सिल्वर मिला था। गुड़गांव में आयोजित सीनियर्स नेशनल्स में वे चौथे स्थान पर रही थीं।

- वे वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र को रिप्रजेंट कर चुकी हैं।

- इससे पहले वे दक्षिण कोरिया की सिओल में आयोजित 51वीं एशियन बॉडी बिल्डिंग फिजिक स्पोर्ट्स चैंपियनशिप में पांचवां स्थान हासिल कर नागपुर का नाम रोशन कर चुकी हैं। यह प्रतियोगिता जीतने वाली वे नागपुर की पहली महिला बनी थीं। प्रतियोगिता में उन्हें गोल्डन ट्राफी और सर्टिफिकेट मिला था।

वर्षा आडवाणी के पति एक बिजनेसमैन हैं। वर्षा आडवाणी के पति एक बिजनेसमैन हैं।
वर्षा वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र का रिप्रेसेंट कर चुकी हैं। वर्षा वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र का रिप्रेसेंट कर चुकी हैं।
वर्षा बॉडी बिल्डिंग में पुरुषों के इस क्षेत्र में अपनी जगह बना रही हैं। वर्षा बॉडी बिल्डिंग में पुरुषों के इस क्षेत्र में अपनी जगह बना रही हैं।
नागपुर शहर की एकलौती लेडी बॉडी बिल्डर हैं वर्षा। नागपुर शहर की एकलौती लेडी बॉडी बिल्डर हैं वर्षा।
X
वर्षा आडवाणी ने मां बनने के बाद बॉडी बिल्डर बनने का फैसला लिया था।वर्षा आडवाणी ने मां बनने के बाद बॉडी बिल्डर बनने का फैसला लिया था।
वर्षा आडवाणी के पति एक बिजनेसमैन हैं।वर्षा आडवाणी के पति एक बिजनेसमैन हैं।
वर्षा वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र का रिप्रेसेंट कर चुकी हैं।वर्षा वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र का रिप्रेसेंट कर चुकी हैं।
वर्षा बॉडी बिल्डिंग में पुरुषों के इस क्षेत्र में अपनी जगह बना रही हैं।वर्षा बॉडी बिल्डिंग में पुरुषों के इस क्षेत्र में अपनी जगह बना रही हैं।
नागपुर शहर की एकलौती लेडी बॉडी बिल्डर हैं वर्षा।नागपुर शहर की एकलौती लेडी बॉडी बिल्डर हैं वर्षा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..