Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Maharashtra: All India Kisan Sabha Protest Update

आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान

6 मार्च को ये किसान महाराष्ट्र के नासिक से पैदल मुंबई के लिए रवाना हुए थे। करीब 180 किमी चले।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 12, 2018, 08:34 PM IST

  • आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान
    +4और स्लाइड देखें
    सरकार और किसानों की बीच मीटिंग करीब तीन घंटे चली। इसमें करीब 14 मुद्दों पर चर्चा की गई।

    मुंबई.महाराष्ट्र सरकार 30 हजार किसानों को मानने में कामयाब रही। किसानों ने सोमवार शाम को अपना आंदोलन वापस ले लिया। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि हमने ज्यादातर मांगें मान ली हैं। हमने एक लिखित आश्वासन भी दिया है। उधर, मंत्री विष्णु सावरा ने कहा कि छह महीने के अंदर इन मांगों पर काम शुरू हो जाएगा। बता दें कि किसानों की यह रैली 6 मार्च को नासिक से शुरू हुई थी। तकरीबन 180 किलोमीटर का सफर पूरा कर सोमवार तड़के मुंबई के आजाद मैदान पहुंची थी। इन्होंने विधानसभा का घेराव करने की चेतावनी दी थी।

    मीटिंग के बाद ये बोली सरकार

    - किसानों से मीटिंग के बाद महाराष्ट्र सरकार में सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन ने कहा, ''किसानों की 80 फीसदी मांग को मान लिया गया है। आदिवासी राशन कार्ड 3 महीने में दिया जाएगा। वन जमीन को लेकर सरकार ने किसानों से 6 महीने का टाइम मांगा है। सरकार के लिखित आश्वासन देने पर किसानों ने आंदोलन वापस लेने का भरोसा दिया है। किसानों के साथ बैठक हुई। सभी बातों पर चर्चा हुई। किसान नेता आंदोलन को खत्म करने का एलान करेंगे।

    - बता दें कि सरकार और किसानों की बीच मीटिंग करीब तीन घंटे चली। इसमें करीब 14 मुद्दों पर चर्चा की गई।

    - सरकार के एक और मंत्री विष्णु सावरा ने कहा, "किसानों की शिकायत है कि उनकी जो जमीन है, उससे कम उनके नाम है। जितनी जमीन पर वो फसलें बो रहे हैं वो उनके नाम होनी चाहिए। इस पर सीएम सहमत हो गए हैं। मामले को चीफ सेक्रेटरी देख रहे हैं, 6 महीने में किसानों की मांगों पर काम शुरू हो जाएगा।''

    किसानों ने कहा- हम खुश हैं

    - किसानों ने सरकार के साथ बातचीत को कामयाब बताया। किसान संजय सुखदेव ने कहा, "सरकार ने हमारी मांगें मान ली हैं। हम खुश हैं। सभी दलों के नेताओं और मुंबई की जनता ने हमारा पूरा सहयोग किया। हमारी ताकत उनकी ताकत से मिलने के बाद ही यह रिजल्ट सामने आया है।''

    किसानों के घर लौटने पर क्या व्यवस्था की गई?

    -किसानों को उनके घर तक पहुंचने के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग सरकार ने मान ली। मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से यह दोनों ट्रेनें शाम 8:50 बजे और रात 10 बजे रवाना होंगी। एक ट्रेन भुसावल तक और दूसरी नागपुर तक जाएगी।

    किस-किस पार्टी का सपोर्ट था इस आंदोलन को?

    -कांग्रेस, शिवसेना, मनसे, एनसीपी और लेफ्ट समेत विपक्ष हर पार्टी ने इस आंदोलन को सपोर्ट किया।

    - रविवार देर रात किसानों से मिलने पहुंचे राज ठाकरे ने कहा, "उन्हें को जब भी मेरी जरूरत होगी, मैं हाजिर हो जाऊंगा।" कांग्रेस ने पहले ही इस मोर्चे को समर्थन दे दिया है।

    - राहुल गांधी ने कहा, "ये मामला केवल महाराष्ट्र के किसानों का नहीं है बल्कि पूरे देश के किसानों का है।"

    कई किसानों की तबियत हुई खराब
    - किसानों ने मुंबई पहुंचने के लिए नासिक से मुंबई तक का सफर तय किया। करीब 180 किमी के इस सफर में कई किसानों की तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इन किसानों को पानी की कमी और कम ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद अस्पताल ले जाया गया था।

    क्या हैं किसानों की प्रमुख मांगें?
    - संपूर्ण कर्जमाफी।
    - कृषि उत्पाद को दोगुना भाव मिले।
    - स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों पर अमल हो।
    - वन अधिकार कानून पर अमल हो।
    - जिस जमीन पर आदिवासी खेती कर रहे हैं, उसे आदिवासियों के नाम पर किया जाए।
    - नदी जोड़ो परियोजना से सिंचाई के लिए पानी मिले।

    - बिजली के बिल में छूट मिले।

    मुंबईवासियों ने किया स्वागत

    - अखिल भारतीय किसान सभा की तरफ से निकाले गए मोर्चे के मुंबई पहुंचते ही मुंबईवासियों ने किसानों का दिल खोलकर स्वागत किया। मुंबई के ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर ठाणे से सायन तक के बीच में जगह-जगह पर नागरिकों ने किसानों का फूल देकर स्वागत किया। किसानों के लिए पानी, चाय और नाश्ता की व्यवस्था भी की।

  • आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान
    +4और स्लाइड देखें
    ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) के आह्वान पर निकाली गई थी यह रैली।
  • आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान
    +4और स्लाइड देखें
    किसान तकरीबन 180 किलोमीटर का सफर पूरा कर सोमवार तड़के मुंबई के आजाद मैदान पहुंचे थे।
  • आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान
    +4और स्लाइड देखें
    मुंबई के आजाद मैदान में भारी तादाद में पुलिसबल तैनात किया गया था।
  • आंदोलन खत्म: महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान
    +4और स्लाइड देखें
    मुंबई के लोगों ने किसानों का स्वागत किया। उन्हें जगह-जगह खाना और पानी दिया गया।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Pune News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Maharashtra: All India Kisan Sabha Protest Update
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×