--Advertisement--

प्रदेश की विकास दर में गिरावट, महाराष्ट्र पर 4,13,044 करोड़ का कर्ज

देश के आर्थिक रूप से सबसे संपन्न राज्यों में गिने जाने वाले महाराष्ट्र 4,13,044 करोड़ रुपये का कर्ज है।

Dainik Bhaskar

Mar 09, 2018, 12:15 PM IST
Maharashtra growth story slumps to weakest in 3 years

मुंबई. महाराष्ट्र की अर्थ व्यवस्था की वृद्धि दर पिछले साल के मुकाबले 7.3 प्रतिशत रहने वाली है। वर्ष 2016-17 में राज्य की विकास दर 10 प्रतिशत थी, मगर इस बार इसमें 2.7 की गिरावट आने का अनुमान विधान मंडल के दोनों सदनों में गुरुवार को पेश की गई आर्थिक सर्वे रिपोर्ट में व्यक्त किया गया है। क्या है आर्थिक सर्वे रिपोर्ट में...

- आर्थिक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार कृषि व संलग्न कार्य क्षेत्र की विकास दर बीते वर्ष 2016-17 में 22.5 फीसदी थी। परंतु इस समाप्त हो रहे आर्थिक वर्ष में यह 14.2 प्रतिशत घटकर 8.3 फीसदी रहने का अंदाज है। वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस वर्ष बारिश कम होने की वजह से कृषि व संलग्न क्षेत्र में गिरावट देखी जा रही है। बता दें कि वर्ष 2017 में खरीफ के मौसम में कुल 150.45 लाख हेक्टर क्षेत्र में बुआई हुई थी। मगर पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष अनाज के उत्पादन में 4 प्रतिशत, दलहन के उत्पादन में46 प्रतिशत,तिलहन के उत्पादन में 15 प्रतिशत और कपास का उत्पादन44 फीसदी कम रहने का अनुमान है। फलोत्पादन भी पिछले वर्ष की तुलना में 12.39 लाख मीट्रिक टन होने का अनुमान है। वर्ष 2017-18 में 207.54लाख मीट्रिक टन फलोत्पादन होने की उम्मीद है जबकि पिछले साल 219.93 लाख मीट्रिक टन फलोत्पादन हुआ था।

महाराष्ट्र पर कर्ज बढ़कर 4,13,044 करोड़ रुपये हुआ

देश के आर्थिक रूप से सबसे संपन्न राज्यों में गिने जाने वाले महाराष्ट्र 4,13,044 करोड़ रुपये का कर्ज है। पिछले साल यह कर्ज 3,71,047 करोड़ रुपये थे। हालांकि महाराष्ट्र के लिए राहत की बात यह है कि उसका प्रति व्यक्ति आय पिछले साल के मुकाबले 15,102 रुपये बढ़ा है। पिछले साले प्रति व्यक्ति आय 1,65,491 रुपये थी, मगर इस वर्ष बढ़कर 1,80,593 रुपये होने का अंदाज है।

मध्य प्रदेश, गुजरात और राजस्थान की तुलना में महाराष्ट्र में जिंदा रहने की लोगों की औसत उम्र ज्यादा

आर्थिक सर्वे रिपोर्ट में भारत सरकार के स्वास्थ्य विभाग के महानिबंधक के आकड़े के हवाले से दावा किया गया है कि महाराष्ट्र में जन्म लेने वाले प्रति एक हजार लोगों में से औसतन ज्यादातर लोगों की उम्र 72 साल तक रहती है। पुरुषों के जिंदा रहने की औसत उम्र 70.3 वर्ष और महिलाओं की 73.9 वर्ष है। जबकि मध्य प्रदेश में औसतन लोगों की उम्र 64.8 वर्ष, गुजरात में 69.1 वर्ष, आंध्र प्रदेश में 69 वर्ष, कर्नाटक में 69 वर्ष, केरल में 75.2वर्ष, राजस्थान में 67.9 वर्ष और उत्तर प्रदेश में 64.5 वर्ष है।

आर्थिक सर्वे रिपोर्ट के मुख्य अंश :-

- वर्ष 2017-18 में पिछले साल के मुकाबले राजस्व प्राप्ति में 10.8 प्रतिशत और राजस्व खर्च में 5.9 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान

- उद्योग क्षेत्र में 6.5 प्रतिशत, सेवा क्षेत्र में 9.7 प्रतिशत, पशुसंवर्धन क्षेत्र में 5.8 प्रतिशत, मत्स्य व्यवसाय व मत्स्य कृषि क्षेत्र में 5.9 प्रतिशत, वन व लकड़ी तोड़ने के क्षेत्र में 1.5 प्रतिशत, वस्तु निर्माण क्षेत्र (मैन्युफैक्चरिंग) क्षेत्र में7.6 प्रतिशत और निर्माण क्षेत्र (कंस्ट्रक्शन) में 4.5 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है।

- महाराष्ट्र में 1 जनवरी 2018 तक करीब 314 लाख वाहन थे। इस तरह से राज्य में प्रति लाख जनसंख्या के पीछे25,859 और प्रति किमी सड़क पर 104 वाहन हैं।

Maharashtra growth story slumps to weakest in 3 years
X
Maharashtra growth story slumps to weakest in 3 years
Maharashtra growth story slumps to weakest in 3 years
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..