--Advertisement--

घर के भीतर 90 साल की लेडी ने बनाई चिता, फिर आग लगाकर दे दी जान

उसके परिजन सुबह मौके पर पहुंचे तो उसकी सिर्फ अस्थियां बची थी। यह बुजुर्ग लेडी कई सालों के घर में अकेली रह रही थी।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 11:42 AM IST
सोमवार रात बुजुर्ग लेडी ने अपनी चिता बनाई और आग लगाकर जान दे दी। सोमवार रात बुजुर्ग लेडी ने अपनी चिता बनाई और आग लगाकर जान दे दी।
कोल्हापुर. कागल तहसील के बामणी गांव में 90 साल की एक बुजुर्ग लेडी ने अपनी चिता खुद बनाई और उसमें आग लगाकर अपनी जान दे दी। जब उसके परिजन सुबह मौके पर पहुंचे तो उसकी सिर्फ अस्थियां बची थी। यह बुजुर्ग लेडी कई सालों के घर में अकेली रह रही थी। क्या है पूरा मामला.....

-कल्लवा दादू कांबले (90) साल की बुजुर्ग लेडी बामणी गांव में अकेली रह रही थी।
-सोमवार रात उसने अपने लिए खाना बनाया, इसके बाद पड़ोसियों से बातें भी और रात में सो गई।
-लेकिन कुछ देर बाद नींद से जागी और लकडिया जुटाई। फिर घर में जितनी साडियां थी उनसे अपना शरीर लपेट लिया।
इसके बाद लकड़ियों में आग लगाई और उसमें कूदकर गई। साडियां लपेटने से और आग भड़कने से वह जलकर खाक हुई।
-रात में घर से निकला धुवां भी किसी को दिखाई नहीं दिया। मंगलवार सुबह जब परिजनों ने देखा तो उसका घर की टीन काली पड़ी थी।
वहीं उसका दरवाजा भी बंद था। पड़ोसी महिलाओं ने दरवाजा तोड़ा तो घर के भीतर सिर्फ राख और कल्लवा की अस्थियां दिखाई दी।
पुलिस को इस बारे में जानकारी देने पर मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी। कल्लवा ने यह कदम क्यों उठाया इसका पता नहीं चल सका है।
आगे की स्लाइड््स में देखें फोटोज.....
90 साल की कल्लवा कईं सालों से अकेली रह रही थी। 90 साल की कल्लवा कईं सालों से अकेली रह रही थी।
X
सोमवार रात बुजुर्ग लेडी ने अपनी चिता बनाई और आग लगाकर जान दे दी।सोमवार रात बुजुर्ग लेडी ने अपनी चिता बनाई और आग लगाकर जान दे दी।
90 साल की कल्लवा कईं सालों से अकेली रह रही थी।90 साल की कल्लवा कईं सालों से अकेली रह रही थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..