--Advertisement--

मूड इंडिगो 2017: हाफ मैराथन में 3000 रनर्स ने लिया हिस्सा, स्टेमसेल कैंप की तारीफ

रनर्स को सपोर्ट करने और मैराथन का फ्लैग ऑफ करने के लिए मिस्टर इंडिया इंटरनेशनल दारा सिंह खुराना खास तौर पर मौजूद थे।

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 04:23 PM IST
मैराथन में हिस्सा लेने वाले फिटनेस लवर्स का जोश देखते ही बनता था। मैराथन में हिस्सा लेने वाले फिटनेस लवर्स का जोश देखते ही बनता था।

मुंबई. आइआइटी बांबे के सालाना कल्चरल फेस्टिवल मूड इंडिगो में हर साल की तरह इस बार भी कुछ नया था। इस बार 26 नवंबर को फिटनेस अवेयरनेस का ध्यान रखते हुए हाफ-मैराथन का आयोजन किया गया, जिसमें 3000 से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया। Fitizen India के साथ मिलकर किया गया यह इवेंट में आइआइटी के 550 एकड़ के कैंपस में हुआ, जहां 5, 10 और 21 किमी का रनिंग स्पैन तय किया गया था। रनर्स को सपोर्ट करने और मैराथन का फ्लैग ऑफ करने के लिए मिस्टर इंडिया इंटरनेशनल दारा सिंह खुराना खास तौर पर मौजूद थे।

हर बार तरह की तरह इस बार भी मूड इंडिगो फेस्टिवल के साथ एक सोशल इनीशिएटिव जोड़ा गया, जो स्टेम सेल्स डोनेशन के लिए अवेयरनेस कैंप के रूप में था। इस बार 6 शहरों में इस लगाया गया। इसके साथ ही 2 मिनट का Buccal Swab test भी किया गया, जिससे स्टेम सेल मैचिंग का पता चल सके और एक जान भी बचाई जा सके। बता दें कि स्टेम सेल्स डोनेशन से ब्लड कैंसर और कई अन्य तरह के कैंसर से लोगों की जान बचाई जा सकती है।

मैराथन में हिस्सा लेने वालों पार्टिसिपेंट्स ने वॉर्मअप के लिए एनर्जेटिक 'जुंबा डांस' में भी हिस्सा लिया। स्टेम सेल डोनेशन में अवेयरनेस लाने के लिए इंडिया को क्रिकेट वर्ल्ड कप दिलाने वाले कोच गैरी कस्टर्न का एक खास मैसेज भी सोशल मीडिया के ज़रिए शेयर किया गया।

मूड इंडिगो के बारे में

मूड इंडिगो हर साल खुद को बड़ा कर रहा है। सिर्फ 5000 रुपए से 1971 में शुरू हुआ ये फेस्ट आज 1650 कॉलेजों के 13100 स्टूडेंट्स के साथ खड़ा है और उसके पास स्पॉन्सर्स की भी कमी नहीं है। बीते कुछ सालों में अपने इवेंट्स और एक्टिविटीज के कारण बड़ा हो चुका ये इवेंट अपने हर एडिशन में पहले से नया और ज्यादा बेहतर हुआ है। 2008 में पहली बार इंटरनेशनल आर्टिस्ट्स ने इस फेस्ट में हिस्सा लिया था। इस साल, जब इसका 47वां एडिशन है, मूड इंडिगो बिल्कुल बदल चुका है।

इस फेस्टिवल में मानवीय मुद्दों और विषयों को भी शामिल किया गया है। 3000 समर्पित लोगों का यह समूह हर साल अपने कैंपेन में एक सोशल इश्यू जोड़ता है। प्लेटलेट डोनेशन, थैलेसीमिया, खून छाला और स्पर्श जैसे अवेयरनेस कैंपेन्स को काफी प्रोत्साहन मिला। इस साल फेस्ट के तहत देश के 6 शहरों में स्टेम सेल डोनेशन कैंप लगाए गए।

आगे देखें- हाफ मैराथन के PHOTOS

मैराथन विनर्स को प्राइज़ भी दिए गए। मैराथन विनर्स को प्राइज़ भी दिए गए।
मैराथन में हिस्सा लेने वालों पार्टिसिपेंट्स ने वॉर्मअप के लिए एनर्जेटिक 'जुंबा डांस' में भी हिस्सा लिया। मैराथन में हिस्सा लेने वालों पार्टिसिपेंट्स ने वॉर्मअप के लिए एनर्जेटिक 'जुंबा डांस' में भी हिस्सा लिया।