--Advertisement--

बारिश की भेट चढ़ा तीन साल का बच्चा, बीएमसी की लापरवाही से गटर में गिरा हुई मौत

बीएमसी की लापरवाही के कारण गुरुवार को एक तीन साल का बच्चा खुले गटर में गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई।

Dainik Bhaskar

Jun 08, 2018, 05:06 PM IST
तीन साल का बच्चा अरिहंत तांबोल तीन साल का बच्चा अरिहंत तांबोल

मुंबई. पिछले साल हुई भारी बारिश के दौरान मुंबई के मशहूर गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट दीपक अमरापुरकर खुले गटर में गिर गए थे। उनकी बॉडी एक दिन बाद वर्ली में समुद्र तट के पास मिली थी। इतनी बड़ी घटना के बावजूद मुंबई बीएमसी ने अभी तक सबक नहीं सीखा है। बीएमसी की लापरवाही के कारण गुरुवार को एक तीन साल का बच्चा खुले गटर में गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई।

ऐसे हुआ हादसे का शिकार

- गुरुवार तड़के से ही मुंबई में जोरदार बारिश हो रही है। तमाम दावे करने के बावजूद बीएमसी की पोल खुल गई। कई स्थानों पर मुंबई की सड़कें पानी से लबालब भरी नजर आईं।
- इस बीच चेंबूर के चीता कैंप में रहने वाला तीन साल का बच्चा अरिहंत तांबोली बारिश का मजा लेने के लिए घर के बाहर आया और सभी बच्चों के साथ खेलने लगा।
- इसी दौरान अचानक बच्चे का पैर फिसला गया और पास ही स्थित एक बड़े से गटर में जा गिरी। बारिश होने के कारण पूरा गटर पानी से भरा हुआ था।

बच्चे को बचाया नहीं जा सका
- बच्चे के गटर में गिरते ही स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना तत्काल अग्निशमन दल को दी। दमकल विभाग के पहुंचने के पहले ही स्थानीय लोगों ने बच्चे को निकालने का भरकस प्रयास किया लेकिन वे असफल रहे।
- कई घंटे के प्रयास के बाद दमकल कर्मियों ने किसी तरह से बच्चे को बाहर निकाला। इसके बाद उसे गोवंडी के शताब्दी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

- इलाके के डीसीपी शाहजी उपम के मुताबिक जो कोई भी इसके लिए जिम्मेदार होगा उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

X
तीन साल का बच्चा अरिहंत तांबोलतीन साल का बच्चा अरिहंत तांबोल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..