--Advertisement--

आग में घिरी हुई थी पूरी फैक्ट्री, चंद सांसों के लिए इधर-उधर भाग रहे थे लोग

एक पुलिस अधिकारी ने बताया की आग लगने के बाद लपटों में घिरे 12 कर्मचारी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 06:11 PM IST
कुछ ही देर में आग के गोले में बदल गई पूरी फैक्ट्री। कुछ ही देर में आग के गोले में बदल गई पूरी फैक्ट्री।

मुंबई. अंधेरी के साकीनाका इलाके में सोमवार तड़के एक दुकान में आग लग गई। आग में 12 लोगों की जान चली गई है और पूरी फैक्ट्री जलकर खाक हो गई है। हादसे के वक्त फैक्ट्री में कुल 15 लोग सो रहे थे, जिनमें से तीन ने किसी तरह से अपनी जान बचाई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया की आग लगने के बाद लपटों में घिरे 12 कर्मचारी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे। जांच में सामने आया है कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी थी। तेल की वजह से भड़की आग...

- घटना साकीनाका के खैरानी रोड इलाके की है। यहां लक्ष्मी नारायण मंदिर के पास एक नमकीन फैक्ट्री
में सोमवार सुबह आग लग गई।
- आग सबसे पहले शॉप के अंदर लगे बिजली के तारों से शुरू हुई। इसके बाद इसने लकड़ी और खाने के सामान को अपनी चपेट में ले लिया।
- फायर ब्रिगेड कर्मचारियों के मुताबिक, फैक्ट्री में रखे तेल की वजह से यह आग और ज्यादा भड़की है। आग की लपटों में घिरे कर्मचारी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे लेकिन सिर्फ तीन ही अपनी जान बचाने में कामयाब हुए।

कुछ ही देर बाद मौके पर पहुंच गई थी फायर ब्रिगेड
- साकीनाका पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर ए. धर्माधिकारी ने बताया कि उनके पास सुबह 4 बजे खैरानी रोड में स्थित भानू फरसान फैक्ट्री में आग लगने की जानकारी मिली।
- फायर ब्रिगेड टीम के मुताबिक, यह लेवल 1 (बहुत भीषण) की आग थी। इसके बाद मौके के लिए 6 फायर इंजन और तीन एम्बुलेंस को रवाना किया गया।
- कुछ ही देर में फायर ब्रिगेड टीम मौके पर पहुंच गई और आग बुझाने का काम शुरू कर दिया। लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। आग इतनी भीषण थी कि उसने फैक्ट्री में सो रहे सभी 12 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया।
- बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के बाहर सो रहे कुछ और लोग झुलसे हैं। इनका इलाज मुंबई के राजवाड़ी इलाके में जारी है।

आग के बाद गिर पड़ी इमारत
- बताया जाता है कि आग लगने के साथ दुकान की इमारत ढहने लगी थी। कई लोग बचने के लिए बाहर भागे लेकिन कई लोग समय से न भाग पाने के कारण अंदर ही फंसे रह गए।
- दुकान के अंदर काफी नुकसान हुआ है लेकिन आसपास के इलाके में आग नहीं फैली। दुकान के अंदर लगे बिजली के तार और कनेक्शन, खाने-पीने का सामान और फर्निचर आग में जल गए।

हादसे की खबर मिलते ही 6 फायर इंजन और तीन एम्बुलेंस को मौके पर रवाना किया गया। हादसे की खबर मिलते ही 6 फायर इंजन और तीन एम्बुलेंस को मौके पर रवाना किया गया।
इस हादसे में कुल 12 लोगों की डेथ हुई है।` इस हादसे में कुल 12 लोगों की डेथ हुई है।`
हादसे के वक्त फैक्ट्री में कुल 15 लोग सो रहे थे। हादसे के वक्त फैक्ट्री में कुल 15 लोग सो रहे थे।
हादसे के बाद गिर पड़ी फैक्ट्री। हादसे के बाद गिर पड़ी फैक्ट्री।
फैक्ट्री में रखे तेल की वजह से यह आग ज्यादा भड़की है। फैक्ट्री में रखे तेल की वजह से यह आग ज्यादा भड़की है।
फायर ब्रिगेड कर्मियों  ने ऐसे निकाले शव। फायर ब्रिगेड कर्मियों ने ऐसे निकाले शव।
फैक्ट्री में नमकीन बनाने का काम किया जा रहा था। फैक्ट्री में नमकीन बनाने का काम किया जा रहा था।
X
कुछ ही देर में आग के गोले में बदल गई पूरी फैक्ट्री।कुछ ही देर में आग के गोले में बदल गई पूरी फैक्ट्री।
हादसे की खबर मिलते ही 6 फायर इंजन और तीन एम्बुलेंस को मौके पर रवाना किया गया।हादसे की खबर मिलते ही 6 फायर इंजन और तीन एम्बुलेंस को मौके पर रवाना किया गया।
इस हादसे में कुल 12 लोगों की डेथ हुई है।`इस हादसे में कुल 12 लोगों की डेथ हुई है।`
हादसे के वक्त फैक्ट्री में कुल 15 लोग सो रहे थे।हादसे के वक्त फैक्ट्री में कुल 15 लोग सो रहे थे।
हादसे के बाद गिर पड़ी फैक्ट्री।हादसे के बाद गिर पड़ी फैक्ट्री।
फैक्ट्री में रखे तेल की वजह से यह आग ज्यादा भड़की है।फैक्ट्री में रखे तेल की वजह से यह आग ज्यादा भड़की है।
फायर ब्रिगेड कर्मियों  ने ऐसे निकाले शव।फायर ब्रिगेड कर्मियों ने ऐसे निकाले शव।
फैक्ट्री में नमकीन बनाने का काम किया जा रहा था।फैक्ट्री में नमकीन बनाने का काम किया जा रहा था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..