--Advertisement--

अनोखे तरीके से आंदोलन के लिए फेमस हैं ये MLA, अब कोर्ट ने सुनाई यह सजा

कडू और उनके कार्यकर्ता चौराहे से जा रहे थे तभी पुलिस कर्मचारी और उनके बीच कहासुनी हुई थी।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 01:23 PM IST
निर्दलीय विधायक बच्चू कडू अपने अनोखे तरीके से आंदोलन के लिए फेमस हैं (फाइल) निर्दलीय विधायक बच्चू कडू अपने अनोखे तरीके से आंदोलन के लिए फेमस हैं (फाइल)

अमरावती। प्रदर्शन के अनोखे तरीकों के लिए पूरे महाराष्ट्र में फेमस निर्दलीय विधायक बच्चू कडू को अचलपुर की कोर्ट ने पुलिसवाले की पिटाई करने के आरोप में एक साल की सजा सुनाई थी। उन्हें बुधवार को जमानत मिली है। कडू और उनके कार्यकर्ता चौराहे से जा रहे थे तभी पुलिस कर्मचारी और उनके बीच कहासुनी हुई थी। उन्होंने पुलिसवाले की पिटाई की थी। इसके बाद पुलिसवाले ने उनके खिलाफ कंप्लेंट दर्ज कराई थी। यह है पूरा मामला.....


-पिछले साल चांदूरबाजार में ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी इंद्रजित चौधरी की विधायक बच्चू कडू और उनके कार्यकर्ताओं ने पिटाई की थी।
24 मार्त 2017 को विधायक बच्चू क़डू परतवाडा चौराहे अपने कार्यकर्ताओं के साथ जा रहे थे। राज्य परिवहन निगम डिपो के पास उन्हें प्राइवेट बसे दिखाई दी।
-विधायक कडू ने वहां पर मौजूद पुलिस कर्मचारी चौधरी से पूछा कि प्राइवेट बसों पर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही।
इसी बात को लेकर दोनों की बीच कहासुनी हुई। कडू और उनके कार्यकर्ताओं ने चौधरी की जमकर पिटाई की।
-पुलिस वाले ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी। इसकी सुनवाई बुधवार को हुई।
-अमरावती की अचलपुर कोर्ट ने बच्चू कडू को 1 साल की सजा और 600 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। कुछ देर बार उन्हें जमानत मिली।

हेमा को लेकर दिया था विवादित बयान

- महाराष्ट्र की अचलपूर सीट से बच्चू कडू निर्दलीय विधायक हैं। उन्होंने किसानों की मांगों को लेकर यात्रा का आयोजन पिछले साल।
- यात्रा रे दौरान नांदेड में पर विधायक ने कहा कि, लोग कहते हैं कि, किसानों की ज्यादा आत्महत्या की वजह शराब होती है, लेकिन यह गलत है।
-हेमा मालिनी रोज बंपर शराब पीती हैं, तो उन्होंने अब तक आत्महत्या क्यों नहीं की।
आगे कडू ने कहा कि, शराब कौन नहीं पीता? 75 फिसदी से ज्यादा विधायक, सांसद और पत्रकार भी पीते हैं।


मंत्रालय में उपसचिव की थी पिटाई

-पिछले साल विधायक बच्चू कडू ने मंत्रालय में उप सचिव बी आर गावित नामक उपसचिव की पिटाई की थी।
- कडू के एक सहयोगी को 10% स्कीम के तहत सरकारी क्वार्टर मिला हुआ था।
- इस संबंध में उपसचिव बीआर गावित (जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट) के पास शिकायत दर्ज करवाई गई थी।
- कडू के सहयोगी इसी फ्लैट में रहना चाहते थे, लेकिन गावित ने कहा कि यह संभव नहीं है।
- इसी बात पर दोनों के बीच बहस बढ़ी और गावित ने कडू को कथित तौर पर चांटा जड़ दिया।
- जिसके बाद मंत्रालय के कर्मचारियों ने कडू की गिरफ्तारी की मांग करते काम ठप कर दिया था।
- मामला बढ़ता देख पुलिस ने उन्हें आईपीसी की धारा 353, 332 और 34 के तहत गिरफ्तार किया था।


आंदोलनों के लिए रहे हैं फेमस

- महाराष्ट्र के अचलपुर से तीन बार एमएलए रहे बच्चू अपने आंदोलनों के तरीकों से आम लोगों में बेहद पॉपुलर हैं।
- विदर्भ में किसानों की आत्महत्या के मुद्दे को उठाते हुए वे पानी की टंकी पर चढ़ गए थे।
- अपने इलाके में नाली गंदी देख वे समर्थकों संग उसमें उतर गए और सफाई की।
- एक गांव में टॉयलेट को गंदा देख बच्चू ने अपने हाथों से उसकी सफाई की थी।
- वे अन्ना के बेहद करीबी हैं, उनके साथ वे कई आंदोलनों में भी रहे हैं।
- अचलपुर से लगातार तीन बार चुनाव जीतने वाले कडू पहले एमएलए हैं। वे प्रहार युवाशक्ति संगठन नाम से एक पार्टी भी चलाते हैं।
- वे अक्सर ब्लड डोनेशन और मेडिकल चेकअप के लिए शिविर आयोजित करते रहे हैं।


लगे कई गंभीर आरोप


- साल 2009 में बच्चू ने मंत्रालय के एक क्लर्क संग मारपीट की थी।
- 2011 में उन्होंने हेल्थ मिनिस्टर के क्लर्क की जमकर पिटाई कर दी थी। जिसके बाद कर्मचारी हड़ताल पर चले गए थे।
- कडू पर इंडियन नेशनल पार्टी के उम्मीदवार की पिटाई का भी आरोप लगा है।

बच्चू कड़ू ने किसानों की कर्ज माफी के महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में यात्रा निकाली थी। (फाइल) बच्चू कड़ू ने किसानों की कर्ज माफी के महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में यात्रा निकाली थी। (फाइल)
किसानों की मांगो को लेकर वे एक बार आंदोलन में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे थे। किसानों की मांगो को लेकर वे एक बार आंदोलन में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे थे।
एक आंदोलन के दौरान टाॅयलेट साफ किया था। एक आंदोलन के दौरान टाॅयलेट साफ किया था।
सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था। सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।
सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था। सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।
बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था। बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।
बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था। बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।
X
निर्दलीय विधायक बच्चू कडू अपने अनोखे तरीके से आंदोलन के लिए फेमस हैं (फाइल)निर्दलीय विधायक बच्चू कडू अपने अनोखे तरीके से आंदोलन के लिए फेमस हैं (फाइल)
बच्चू कड़ू ने किसानों की कर्ज माफी के महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में यात्रा निकाली थी। (फाइल)बच्चू कड़ू ने किसानों की कर्ज माफी के महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में यात्रा निकाली थी। (फाइल)
किसानों की मांगो को लेकर वे एक बार आंदोलन में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे थे।किसानों की मांगो को लेकर वे एक बार आंदोलन में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे थे।
एक आंदोलन के दौरान टाॅयलेट साफ किया था।एक आंदोलन के दौरान टाॅयलेट साफ किया था।
सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।
सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।सरकारी अफसर के अपसेंट रहने पर उन्होंने उसकी कुर्सी को माला पहनाकर अनोखा आंदोलन किया था।
बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।
बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।बिजली की मांग को लेकर ट्रांसफार्मर पर चढ़ कर आंदोलन किया था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..