--Advertisement--

गुजरात में जीत मोदी की लेकिन चर्चा राहुल की, शिवसेना ने कसा बीजेपी पर तंज

गुजरात में बीजेपी की जीत हुई है, लेकिन चर्चा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छलांग की हो रही है।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 11:36 AM IST
शिवसेना ने सामना में सवाल किया है कि जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या?’’ शिवसेना ने सामना में सवाल किया है कि जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या?’’

मुंबई. गुजरात में बीजेपी की जीत पर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में बीजेपी पर निशाना साधा है। सामना की संपादकीय में लिखा है कि गुजरात में बीजेपी की जीत हुई है, लेकिन चर्चा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छलांग की हो रही है। और क्या लिखा है सामना में....

-सामना में लिखा है, ‘’गुजरात में बीजेपी की जीत हुई है, जीत होने वाली ही थी।
- जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या?’’
-आगे लिखा है, ‘’जीत बीजेपी की हुई है, पर चर्चा राहुल गांधी की ओर से लगाई गई छलांग की हो रही है।’’
- आगे लिखा है, ‘’गुजरात और हिमाचल प्रदेश की जीत के लिए हम बीजेपी का अभिनंदन करते हैं, इसके साथ ही कांग्रेस ने जो सफलता हासिल की है, वो भी महत्वपूर्ण है।
- गुजरात में बीजेपी को 150 से एक भी कम सीटें नहीं मिलेगी, ऐसा सीना ठोक कर कहा जा रहा था, लेकिन 100 का आंकड़ा छूने में भी पार्टी की सांस फूल गई।

मचलती लहरें ठंडी हो गई

-संपादकीय में कहा कि ‘’मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है।
- यह तस्वीर दयनीय है। देश के प्रधानमंत्री को भी आखिरकार गुजरात की अस्मिता का कार्ड खेलना पड़ा।’’
-बता दें कि गुजरात में बीजेपी 99 तो कांग्रेस को 80 सीटें मिली हैं. वहीं साल 2012 के चुनाव में बीजेपी को 115 और कांग्रेस को 61 सीटें मिली थीं।
- बीजेपी को इस बार 49.1 फीसदी और कांग्रेस को 41.5 फीसदी वोट मिले हैं।

संपादकीय में कहा कि ‘’मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है। संपादकीय में कहा कि ‘’मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है।
X
शिवसेना ने सामना में सवाल किया है कि जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या?’’शिवसेना ने सामना में सवाल किया है कि जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या?’’
संपादकीय में कहा कि ‘’मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है।संपादकीय में कहा कि ‘’मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..