Hindi News »Maharashtra Latest News »Pune News »News» Bombay High Court Give Clean Chit To State Goverment In Sanjay Dutt Release Case.

जल्द रिहाई के मामले में संजय दत्त को राहत, हाईकोर्ट ने कहा- नहीं हुई गलती

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 02, 2018, 09:59 AM IST

जल्द रिहाई के मामले में राज्य सरकार के खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की गई थी।
  • जल्द रिहाई के मामले में संजय दत्त को राहत, हाईकोर्ट ने कहा- नहीं हुई गलती
    +1और स्लाइड देखें
    पुणे की यरवदा जेल से अभिनेता संजय दत्त को 8 महीने पहले रिहा कर दिया गया था।

    मुंबई. पुणे की यरवदा जेल से जल्द रिहाई के मामले में अभिनेता संजय दत्त और राज्य सरकार को बड़ी राहत मिली है। गुरुवार को कोर्ट ने कहा कि दत्त को मिली पांच साल की सजा पूरी होने से आठ महीने पहले ही जेल से रिहा किए जाने के मामले में राज्य सरकार की कोई गलती नहीं मिली है। बता दें की जल्द रिहाई के मामले में राज्य सरकार के खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की गई थी।क्या है अदालत का फैसला...

    - जस्टिस एस सी धर्माधिकारी और भारती डांगरे की बेंच ने कहा कि राज्य सरकार गृह विभाग के वैध दस्तावेजों की मदद से इस मामले में निष्पक्षता के अपने दावे की पुष्टि करने में सफल रही।
    - बेंच ने कहा कि ऐसी स्थिति में अदालत संजय दत्त को सजा में छूट और पुणे की यरवदा जेल में कारावास के दौरान उन्हें बार-बार दिए गए परोल और अन्य छुट्टियों को चुनौती देने वाली जनहित याचिका का निस्तारण किया जाता है।
    - बेंच ने कहा, "हमें राज्य सरकार के गृह विभाग द्वारा सौंपे गए रेकॉर्ड और उसके स्पष्टीकरण में कहीं कोई अंतर्विरोध नहीं मिला। साथ ही किसी तरह के उल्लंघन का मामला सामने नहीं आया है।"

    क्या था जनहित याचिका में..

    - संजय दत्त की जल्द रिहाई के खिलाफ दायर एक जनहित याचिका में दावा किया गया है कि ऐसे कई कैदी हैं, जिन्होंने अच्छे आचरण का परिचय दिया लेकिन संजय दत्त एकमात्र ऐसे थे, जिनका जेल प्रशासन ने पक्ष लिया।
    - इस याचिका की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार ने इस से इंकार करते हुए कई जरुरी दस्तावेज कोर्ट में पेश किये थे।
    - बता दें कि अभिनेता संजय दत्त को 1993 के सिलसिलेवार बम धमाकों के मामले में AK-56 राइफल रखने और उसे नष्ट करने को लेकर दोषी ठहराया गया था।
    - इसके बाद बतौर विचाराधीन कैदी संजय दत्त ने एक साल चार महीने और सजायाफ्ता कैदी के तौर पर ढाई साल जेल में गुजारे।
    - इस ढाई साल के दौरान वह परोल और अन्य छुट्टी पर पांच महीने से अधिक समय जेल से बाहर रहे। वह आठ महीने पहले ही 25 फरवरी, 2016 को हमेशा के लिए जेल से बाहर आ गए क्योंकि राज्य सरकार ने जेल में उनके अच्छे आचरण को लेकर उनकी सजा कम कर दी थी।

  • जल्द रिहाई के मामले में संजय दत्त को राहत, हाईकोर्ट ने कहा- नहीं हुई गलती
    +1और स्लाइड देखें
    जिसके बाद कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Pune News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Bombay High Court Give Clean Chit To State Goverment In Sanjay Dutt Release Case.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×