--Advertisement--

मुंबई हादसे में गई CA स्टूडेंट की जान, 2 दिन जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा

वे पहली बार मुंबई आईं थीं और नए साल पर मुंबई में जश्न मनाने की उनकी इच्छा अधूरी रह गई।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 12:10 PM IST
शनिवार को यशा का अंतिम संस्कार शनिवार को यशा का अंतिम संस्कार

मुंबई. लोअर परेल में कमला मिल कैंपस में छत पर बने पब में चल रही बर्थडे पार्टी का जश्न दर्जनभर परिवारों के लिए मातम में बदल गया। गुरुवार आधी रात इस पब में लगी आग ने 14 लोगों की जान ले ली। मरने वालों में अहमदाबाद की रहने वाली सीए की स्टूडेंट यशा ठक्कर भी थीं। 6 महीने पहले यशा की कार में आग लग गई थी और वे किसी तरह मौत के मुंह से बाहर आईं थी। लेकिन इस बार उनके लक ने साथ नहीं दिया। वे पहली बार मुंबई आईं थीं और नए साल पर मुंबई में जश्न मनाने की उनकी इच्छा अधूरी रह गई। अपनी कजिन के साथ डिनर कर रही थी यशा...

- गुरुवार की रात पब में अधिकतर लोग अपनों के साथ डिनर करने गए थे, उनमें से कइयों को जरा-सा भी आभास नहीं था कि यह उनका आखिरी डिनर है।
- इनमें से एक थीं अहमदाबाद की यशा ठक्कर। यशा चार्टर्ड एकाउंटेंट का एग्जाम देकर खासतौर पर न्यू ईयर सेलिब्रेट करने मुंबई में अपने आंटी के घर आई थीं।
- लेकिन उनकी ये अंतिम इच्छा अधूरी रह गई और नए साल की दस्तक से दो दिन पहले उनकी डेथ हो गई। हादसे के वक्त यशा '1 अबव' पब में अपनी कजिन मानसी के साथ डिनर कर रहीं थीं।

- उनके अंकल देवेंद्र ठक्कर ने बताया कि यशा की डेथ भी दम घुटने से हुई है। मानसी को मामूली चोट आई है और वे खुद को बचाने में कामयाब रही। दोनों एक दूसरे के बेहद क्लोज थे और इस घटना से मानसी सदमे में है।
- शुक्रवार दोपहर यशा का पार्थिव शरीर सड़क रास्ते से अहमदाबाद ले जाया गया।

- इस हादसे के बाद यशा के एक और अंकल आशीष शाह ने अपना लंदन जाना कैंसिल कर दिया। वे शुक्रवार सुबह लंदन जाने वाले थे। उन्होंने बताया कि यशा पढ़ाई में बहुत तेज थी और वे मॉडलिंग के लिए भी ट्राई कर रही थी।

6 महीने पहले बची थी यशा की जान
- इस घटना से 6 महीने पहले यशा और उनके पति अलाप की जान एक हादसे में बच गई थी। वे अपने पति के साथ एक कार से जा रही थीं और अचाना उसमें आग लग गई। वे किसी तरह से जान कार से बाहर निकले और दोनों की जान बच गई थी।
- यशा और अलाप की मुलाकात सीए की पढ़ाई के दौरान हुई थी और पिछले साल ही दोनों ने शादी की थी। शुक्रवार को अलाप भी मुंबई आने वाले थे और सभी मिलकर एक साथ नए साल का जश्न मनाने की तैयारी कर रहे थे।
- आग लगने से एक घंटे पहले यशा ने अपने हसबैंड को मैसेज कर लिखा था,"जल्द आ जाओ मैं मिस कर रही हूं।"

15 दिन पहले खोई मां, अब पत्नी भी नहीं रही
- कुछ ऐसी ही कहानी है प्रीति राजगरिया की। उसके पति के राजेश के अनुसार प्रीति अपने दो दोस्तों के साथ नेहरू सेंटर में एक कार्यक्रम देखने गई थी। वहां से लौटते वक्त उन्होंने वन अबव में डिनर करने का फैसला किया और कमला मिल्स पहुंच गईं।
- उनके हसबैंड राजेश ने बताया,"मैं शनिवार को ही वडोदरा से रात तकरीबन 11.30 बजे वर्ली स्थित अपने घर पहुंचा था। घर पहुंच कर मैंने प्रीति को कॉल किया, लेकिन उसने उठाया नहीं और कुछ ही देर बाद हादसे की खबर मिली।"
- करीब 15 दिन पहले ही राजेश की मां का देहांत हुआ था। राजेश अभी मां को खोने के गम से निकले भी नहीं थे कि पत्नी का भी साथ हमेशा के लिए छूट गया।

आगे की स्लाइड्स में देखिए यशा की कुछ और फोटोज ...

X
शनिवार को यशा का अंतिम संस्कारशनिवार को यशा का अंतिम संस्कार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..