Hindi News »Maharashtra Latest News »Pune News »News» CA Aspirant From Ahmadabad Dies Due To Suffocation In Kamla Mill Fire.

6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 30, 2017, 03:13 PM IST

वे पहली बार मुंबई आईं थीं और नए साल पर मुंबई में जश्न मनाने की उनकी इच्छा अधूरी रह गई।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    सीए फाइनल ईयर की स्टूडेंट थी यशा ठक्कर।

    मुंबई. लोअर परेल में कमला मिल कैंपस में छत पर बने पब में चल रही बर्थडे पार्टी का जश्न दर्जनभर परिवारों के लिए मातम में बदल गया। गुरुवार आधी रात इस पब में लगी आग ने 14 लोगों की जान ले ली। मरने वालों में अहमदाबाद की रहने वाली सीए की स्टूडेंट यशा ठक्कर भी थीं। 6 महीने पहले यशा की कार में आग लग गई थी और वे किसी तरह मौत के मुंह से बाहर आईं थी। लेकिन इस बार उनके लक ने साथ नहीं दिया। वे पहली बार मुंबई आईं थीं और नए साल पर मुंबई में जश्न मनाने की उनकी इच्छा अधूरी रह गई। अपनी कजिन के साथ डिनर कर रही थी यशा...

    - गुरुवार की रात पब में अधिकतर लोग अपनों के साथ डिनर करने गए थे, उनमें से कइयों को जरा-सा भी आभास नहीं था कि यह उनका आखिरी डिनर है।
    - इनमें से एक थीं अहमदाबाद की यशा ठक्कर। यशा चार्टर्ड एकाउंटेंट का एग्जाम देकर खासतौर पर न्यू ईयर सेलिब्रेट करने मुंबई में अपने आंटी के घर आई थीं।
    - लेकिन उनकी ये अंतिम इच्छा अधूरी रह गई और नए साल की दस्तक से दो दिन पहले उनकी डेथ हो गई। हादसे के वक्त यशा '1 अबव' पब में अपनी कजिन मानसी के साथ डिनर कर रहीं थीं।

    - उनके अंकल देवेंद्र ठक्कर ने बताया कि यशा की डेथ भी दम घुटने से हुई है। मानसी को मामूली चोट आई है और वे खुद को बचाने में कामयाब रही। दोनों एक दूसरे के बेहद क्लोज थे और इस घटना से मानसी सदमे में है।
    - शुक्रवार दोपहर यशा का पार्थिव शरीर सड़क रास्ते से अहमदाबाद ले जाया गया।

    - इस हादसे के बाद यशा के एक और अंकल आशीष शाह ने अपना लंदन जाना कैंसिल कर दिया। वे शुक्रवार सुबह लंदन जाने वाले थे। उन्होंने बताया कि यशा पढ़ाई में बहुत तेज थी और वे मॉडलिंग के लिए भी ट्राई कर रही थी।

    6 महीने पहले बची थी यशा की जान
    - इस घटना से 6 महीने पहले यशा और उनके पति अलाप की जान एक हादसे में बच गई थी। वे अपने पति के साथ एक कार से जा रही थीं और अचाना उसमें आग लग गई। वे किसी तरह से जान कार से बाहर निकले और दोनों की जान बच गई थी।
    - यशा और अलाप की मुलाकात सीए की पढ़ाई के दौरान हुई थी और पिछले साल ही दोनों ने शादी की थी। शुक्रवार को अलाप भी मुंबई आने वाले थे और सभी मिलकर एक साथ नए साल का जश्न मनाने की तैयारी कर रहे थे।
    - आग लगने से एक घंटे पहले यशा ने अपने हसबैंड को मैसेज कर लिखा था,"जल्द आ जाओ मैं मिस कर रही हूं।"

    15 दिन पहले खोई मां, अब पत्नी भी नहीं रही
    - कुछ ऐसी ही कहानी है प्रीति राजगरिया की। उसके पति के राजेश के अनुसार प्रीति अपने दो दोस्तों के साथ नेहरू सेंटर में एक कार्यक्रम देखने गई थी। वहां से लौटते वक्त उन्होंने वन अबव में डिनर करने का फैसला किया और कमला मिल्स पहुंच गईं।
    - उनके हसबैंड राजेश ने बताया,"मैं शनिवार को ही वडोदरा से रात तकरीबन 11.30 बजे वर्ली स्थित अपने घर पहुंचा था। घर पहुंच कर मैंने प्रीति को कॉल किया, लेकिन उसने उठाया नहीं और कुछ ही देर बाद हादसे की खबर मिली।"
    - करीब 15 दिन पहले ही राजेश की मां का देहांत हुआ था। राजेश अभी मां को खोने के गम से निकले भी नहीं थे कि पत्नी का भी साथ हमेशा के लिए छूट गया।

    आगे की स्लाइड्स में देखिए यशा की कुछ और फोटोज ...

  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    अपने पति अलाप के साथ यशा ठक्कर।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    यशा अपने हसबैंड और रिलेटिव्स के साथ न्यू ईयर सेलिब्रेट करने की प्लानिंग कर रही थी।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    एक साल पहले हुई थी यशा की शादी।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    यशा और अलाप दोनों न्यू ईयर एक साथ सेलिब्रेट करने वाले थे।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    अपनी मां के साथ यशा ठक्कर।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    यशा की डेथ से पूरा परिवार सदमे में है।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    शुक्रवार को यशा की बॉडी अहमदाबाद पहुंची।
  • 6 महीने में दूसरी बार हुआ था मौत से सामना, जिंदा रहती तो पूरी हो जाती ये इच्छा
    +8और स्लाइड देखें
    शनिवार को यशा का अंतिम संस्कार किया गया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Pune News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: CA Aspirant From Ahmadabad Dies Due To Suffocation In Kamla Mill Fire.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×