--Advertisement--

आय से अधिक संपत्ति मामला: कांग्रेस नेता कृपाशंकर सिंह को कोर्ट ने किया बरी

अदालत ने बगैर इजाजत के उनके खिलाफ अभियोग शुरू किए जाने के कारण मामला खत्म कर दिया है।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 04:03 PM IST
Disproportionate assets case: Former Maharashtra minister Kripashankar Singh gets relief

मुंबई. शहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कृपाशंकर सिंह को विशेष अदालत ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में बरी कर दिया है। अदालत ने बगैर इजाजत के उनके खिलाफ अभियोग शुरू किए जाने के कारण मामला खत्म कर दिया है। क्या है पूरा मामला....


- अप्रैल 2015 में मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने सिंह और उनके रिश्तेदारों के खिलाफ आरोपपत्र पेश किया था। 
- इससे एक साथ पहले एक सामाजिक कार्यकर्ता ने सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक इकाई से शिकायत की। 
- इसके अलावा उन्होंने बांबे हाई कोर्ट में भी जनहित याचिका दायर की। उन्होंने सिंह पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया।
- हाई कोर्ट के निर्देश के बाद भ्रष्टाचार निरोधक इकाई और आर्थिक अपराध शाखा ने मामले की जांच शुरू की। जांच एजेंसियों ने सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के आरोपों को सही पाया था। लेकिन, नवंबर 2016 में सिंह हाई कोर्ट चले गए। 
- उनका कहना था कि 2015 में वे विधायक थे। जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ अभियोग शुरू करने के लिए राज्य सरकार से दो बार इजाजत मांगी। लेकिन, दोनों बार राज्यपाल ने एजेंसियों का अनुरोध खारिज कर दिया।

 

कृपाशंकर सिंह की सफाई
कृपाशंकर सिंह के अनुसार, 2016 में जब वे विधायक नहीं रहे, तो उनके खिलाफ जांच एजेंसियों ने आरोपपत्र दाखिल कर दिया। लेकिन, इसमें कोई नया तथ्य नहीं दिया गया था। अदालत के फैसले के बाद कृपाशंकर सिंह ने कहा कि इससे साबित हो गया कि निर्दोष लोगों को न्याय जरूर मिलता है। भले ही इसमें देरी हो सकती है।

Disproportionate assets case: Former Maharashtra minister Kripashankar Singh gets relief
X
Disproportionate assets case: Former Maharashtra minister Kripashankar Singh gets relief
Disproportionate assets case: Former Maharashtra minister Kripashankar Singh gets relief
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..