Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Justice For Arpita Campaign Starts In Social Media For Arpita Tiwari

सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन

उसके दोस्तों ने सोशल मीडिया में मुहिम चलाई है। इसके लिए फेसबुक पेज भी बनाया गया है।

Nishant Shamsi | Last Modified - Dec 22, 2017, 01:29 PM IST

  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    एंकर अर्पिता तिवारी की मर्डर की गुत्थी 11 दिन बाद भी नहीं सुलझी है।

    मुंबई. मॉडल, एंकर और होस्ट अंकिता तिवारी की हत्या एक अनसुलझी पहेली बनती जा रही है। अंकिता की मौत के 11 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। अर्पिता के परिजन इस बारे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से भी मिल चुके हैं। वहीं उसके दोस्तों ने ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ नाम से सोशल मीडिया में मुहिम चलाई है। इसके लिए फेसबुक पेज भी बनाया गया है। पुलिस अंकिता के ब्वॉयफ्रेंड समेत पांच लोगों को इस हत्याकांड के संदिग्धों के रूप में देख रही है। ये वही पांच लोग हैं जो अंकिता की मौत से पहले उनके साथ फ्लैट में थे। इन पांचों में एक ऐसा शख्स ऐसा भी है जिसने पुलिस को बताया है कि उसने एक आरोपी को अर्पिता के साथ आपत्तिजनक हाल में देखा था। मौत से पहले ये पांच अर्पिता के साथ थे मौजूद...

    - अर्पिता तिवारी की बहन श्वेता तिवारी ने कहा कि अर्पिता की मौत किसी घटना का परिणाम है। यह न तो सुसाइड है और न ही एक्सीडेंट यह पूरी तरह से प्लांड मर्डर है। अर्पिता के पिता त्रिवेणी तिवारी ने अपनी फ्लैट में मौजूद पांच लोगों की पहचान कर ली है। ये पांचों अर्पिता और उसके ब्वॉयफ्रेंड के दोस्त हैं।
    - त्रिवेणी तिवारी के मुताबिक, अर्पिता की मौत से पहले फ्लैट में उसका ब्वॉयफ्रेंड पंकज जाधव, अमित कुमार (जिसने फ्लैट रेंट पर लिया था), मनीष (अमित के यहां पेइंग गेस्ट के रूप में रहता था), श्रवण( पेइंग गेस्ट अमित के साथ) और मुन्ना (बदला हुआ नाम) कुक थे।
    - परिवार को शक है की या तो इनमें से किसी एक ने या सभी ने मिलकर अर्पिता का मर्डर किया है।

    अर्पिता के ब्वॉयफ्रेंड ने झगड़ों की बात कबूल की

    - परिवार को अर्पिता की मौत को लेकर सबसे ज्यादा शख्स उसके ब्वॉयफ्रेंड पंकज जाधव पर है। उनकी सिस्टर ने आरोप लगाया है कि पंकज और अर्पिता के बीच अक्सर लड़ाइयां होती रहती थी और दोनों जल्द ही अलग होना चाहते थे।

    - पंकज ने भी इस बात को पुलिस के सामने स्वीकार किया है। उसने बताया है कि उसका और अंकिता का तकरीबन ब्रेकअप हो चुका था। पंकज के मुताबिक वारदात वाले दिन पंकज, अर्पिता और अमित तीनों हॉल में सोए हुए थे और बाकी दोस्त दूसरे कमरे में सो रहे थे।

    नौकर ने किए चौकाने वाले खुलासे

    - पुलिस सूत्रों की माने तो फ्लैट में मौजूद नौकर ने इस मामले में सबसे बड़ा खुलासा किया है। उसने उस रात एक युवक को अर्पिता के कपड़े खोलते हुए देखा था।

    - पुलिस को दिए बयान में घर के नौकर ने बताया है कि सोमवार सुबह 5 :40 बजे उसकी नींद खुली। उसने देखा कि एक लड़का अर्पिता के बेहद करीब में सो रहा था। जब वे सोने गए थे तो तीनों अलग-अलग सो रहे थे।
    - नौकर के मुताबिक, उसने सबसे कम शराब पी हुई थी और जब उसकी आंख खुली तो उसने देखा कि अर्पिता के बगल में सोया लड़का उसके कपड़े हटा रहा था।
    - नौकर को जगा देख वह वापस आंख बंद कर लेट गया। नौकर को लगा कि यह सब अर्पिता की मर्जी से हो रहा है और वह चुपचाप वहां से चला गया।
    - पुलिस नौकर के इस बयान पर कई बार अन्य लड़कों से पूछताछ कर चुकी है। हालांकि, मामला संवेदनशील होने के नाते आधिकारिक तौर पर कुछ भी बोलने से बच रही है।

    इस हाल में मिली अर्पिता की बॉडी

    - मालवणी पुलिस के अनुसार, अर्पिता मीरा रोड इलाके में रहती थी और उसकी बॉडी मानव तल बिल्डिंग की दूसरी मंजिल के टेरेस पर अंडर गारमेंट्स में मिली है। वो सोमवार को अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ मालवणी के कच्चा रास्ता स्थित मानव तल बिल्डिंग के 15वें फ्लोर में बने एक फ्लैट में गई थी। वहां एक पार्टी चल रही थी।

    पुलिस को दोस्तों ने बताई ये कहानी

    - अर्पिता के साथियों ने पुलिस को बताया है कि सुबह चार बजे तक पार्टी हुई और पता नहीं उसके बाद क्या हुआ। सुबह जब आंख खुली तो अर्पिता फ्लैट से गायब थी।

    - अर्पिता अपने दोस्त पंकज जाधव के साथ मानवस्थल बिल्डिंग में आई थी। 15वीं फ्लोर के 1501 नंबर फ्लैट में पार्टी हो रही थी। पंकज और अर्पिता सुबह चार बजे तक पार्टी करते रहे और सुबह नौ बजे सबकी आंख खुली तो अर्पिता वहां नहीं थी।
    - ढूंढने पर पता चला कि बाथरूम का दरवाजा बंद है। जब दरवाजा तोड़ा गया तो शीशा टूटा हुआ था। नीचे आने पर पता चला कि दूसरी मंजिल पर अर्पिता की लाश झूल रही है।

    चोट के निशान बने शक की वजह

    - अर्पिता की मौत के मामले में प्रिलिमनरी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक, उसके साथ किसी तरह की जोर जबरदस्ती नहीं की गयी थी। लेकिन मौत की वजह मल्टीपल इंजरी है। ये इंजरी किसी भी फॉर्म में हो सकती है या तो कूदने की वजह से या फिर ऊपर से नीचे फेंकने की वजह से। अर्पिता के सिर और शरीर के कई हिस्सों में गहरे चोट के निशान थे।

  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    अर्पिता की डेथ के मामले में पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज किया है।
  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    अर्पिता की सिस्टर का आरोप है की उसका ब्वॉयफ्रेंड उसे मारता था।
  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    एक बड़ी इवेंट कंपनी खोलने का अर्पिता का प्लान था।
  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    इसी बिल्डिंग के सेकंड फ्लोर से मिली अर्पिता की बॉडी।
  • सोशल मीडिया में शुरू हुआ ‘जस्टिस फॉर अर्पिता’ कैंपेन, सीएम से मिले परिजन
    +5और स्लाइड देखें
    अर्पिता के परिजनों ने सीए को लेटर लिखकर मदद की गुहार लगाई है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Pune News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Justice For Arpita Campaign Starts In Social Media For Arpita Tiwari
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×