--Advertisement--

ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में ऐसे सेलिब्रेट हुआ न्यू ईयर, 39 देशों से आये थे फॉलोअर

इस खास सेलिब्रेशन में शामिल होने के लिए 39 देशों से लोग आये हुए थे।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 07:59 AM IST
पुणे के कोरेगांव पार्क इलाके में स्थित ओशो मेडीटेशन रिजार्ट में न्यू ईयर का जश्न ऐसे मनाया गया। पुणे के कोरेगांव पार्क इलाके में स्थित ओशो मेडीटेशन रिजार्ट में न्यू ईयर का जश्न ऐसे मनाया गया।

पुणे. नए साल यूं तो पूरे विश्व में नाच गाने में मस्त होकर जश्न और जोश के साथ सेलिब्रेट किया गया। लेकिन पुणे के ओशो मेडिटेशन रिसोर्ट में इसका अंदाज कुछ अलग ही था। इस साल यहां नया साल 'वन वर्ल्ड वन सेलिब्रेशन।' थीम के साथ सेलिब्रेट हुआ। इस खास सेलिब्रेशन में शामिल होने के लिए 39 देशों से लोग पुणे आये हुए थे। 65 शहरों से आये 800 फॉलोअर हुए थे शामिल...

- मेडिटेशन रिजार्ट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, इंडिया के 18 राज्यों के 65 शहरों से आये 800 लोग इस सेलिब्रेशन का हिस्सा बने। यहां पांच दिन पहले से ही जश्न का माहौल बन गया था।
- यहां हर रोज एक तरफ देश-विदेश से आये हुए हजारों लोग दिन भर तरह-तरह की एक्टिविटीज में शामिल होकर आत्मिक स्वास्थ्य और सुकून का आनंद ले रहे थे वहीं दूसरी तरफ रात में तेज म्यूजिक की धुन पर थिरक रहे थे।

नये साल के स्वागत के लिए दो टाइप के प्रोग्राम

- ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ वर्ल्ड म्युजिक के साथ डांस सेलिब्रेशन और दूसरी तरफ ओशो के ध्यान कक्ष में ध्यान का आयोजन भी किया गया था।
- ओशो के लोग आधी रात मौन रहकर नये साल में प्रवेश करते हैं। यह एक अद्भुत अनुभव होता है।
- इसके पीछे उनके साधकों का मानना है कि साल के पहले दिन आपके मन में जो विचार होता है वही अगले साल की दिशा तैयार करते हैं। अगर उस दिन आप रातभर बेहोश होकर नृत्य और शराब की मस्ती में डूबे रहे तो अगले साल बेहोशी में जागेंगे। यह बेहोशी अगले साल की आधारशिला बनेगी।
- 31 दिसंबर को ठीक बारह बजे मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ पटाखे फूट रहे थे, संगीत की धुन चरम शिखर पर थी और दूसरी तरफ ओशो के फॉलोअर ध्यान कक्ष में मौन बैठ कर नये साल का स्वागत कर रहे थे।

नए साल को लाकर यह थे ओशो के विचार
- आपको बता दें कि नये साल के विषय में ओशो के विचार अनोखे हैं। वे कहते थे, "जिसे आप नया कहते हैं वह पुराने की तुलना में नया होता है। अगर भूत और भविष्य को छोड़ दें तो वर्तमान भी बेमानी हो जाएगा। समय के टुकड़े मत करो, समय एक ही है: 'अभी' और स्थान एक ही है "यहां" (हियर एण्ड नाऊ) इसलिए 'हैपी न्यू ईयर' ना कहें, 'हैपी नाऊ हियर' कहें।"
- इसका पालन करते हुए बारह बजने के बाद सारे फॉलोअर एक दूसरे को यही कहते हुए शुभकामनाएं दे रहे थे, 'हैपी नाऊ हियर।'

'वन वर्ल्ड वन सैलिब्रेशन' थीम पर हुआ था ये सेलिब्रेशन। 'वन वर्ल्ड वन सैलिब्रेशन' थीम पर हुआ था ये सेलिब्रेशन।
इस कार्यक्रम में 39 देशों से आये लोग शामिल हुए थे। इस कार्यक्रम में 39 देशों से आये लोग शामिल हुए थे।
ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ संगीत की धुन पर सेलिब्रेशन हो रहा था। ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ संगीत की धुन पर सेलिब्रेशन हो रहा था।
दूसरी तरफ शांत बैठ लोग ओशो को याद कर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर रहे थे। दूसरी तरफ शांत बैठ लोग ओशो को याद कर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर रहे थे।
इसमें 18 राज्यों के 65 शहरों से ओशो के फॉलोअर आये थे। इसमें 18 राज्यों के 65 शहरों से ओशो के फॉलोअर आये थे।
कैंपस में ऐसे ह्यूमन स्टैचू बनाये गए थे। कैंपस में ऐसे ह्यूमन स्टैचू बनाये गए थे।
लोगों ने ऐसे झूमते हुए सेलिब्रेट किया न्यू ईयर। लोगों ने ऐसे झूमते हुए सेलिब्रेट किया न्यू ईयर।
इस बार  'वन वर्ल्ड वन सेलिब्रेशन' थीम से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस बार 'वन वर्ल्ड वन सेलिब्रेशन' थीम से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था।
12 बजते ही लोग जश्न में झूम उठे। 12 बजते ही लोग जश्न में झूम उठे।
नए साल के स्वागत के लिए ओशो मेडिटेशन रिजार्ट को कलरफुल ढंग से सजाया गया था। नए साल के स्वागत के लिए ओशो मेडिटेशन रिजार्ट को कलरफुल ढंग से सजाया गया था।
X
पुणे के कोरेगांव पार्क इलाके में स्थित ओशो मेडीटेशन रिजार्ट में न्यू ईयर का जश्न ऐसे मनाया गया।पुणे के कोरेगांव पार्क इलाके में स्थित ओशो मेडीटेशन रिजार्ट में न्यू ईयर का जश्न ऐसे मनाया गया।
'वन वर्ल्ड वन सैलिब्रेशन' थीम पर हुआ था ये सेलिब्रेशन।'वन वर्ल्ड वन सैलिब्रेशन' थीम पर हुआ था ये सेलिब्रेशन।
इस कार्यक्रम में 39 देशों से आये लोग शामिल हुए थे।इस कार्यक्रम में 39 देशों से आये लोग शामिल हुए थे।
ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ संगीत की धुन पर सेलिब्रेशन हो रहा था।ओशो मेडिटेशन रिजार्ट में एक तरफ संगीत की धुन पर सेलिब्रेशन हो रहा था।
दूसरी तरफ शांत बैठ लोग ओशो को याद कर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर रहे थे।दूसरी तरफ शांत बैठ लोग ओशो को याद कर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर रहे थे।
इसमें 18 राज्यों के 65 शहरों से ओशो के फॉलोअर आये थे।इसमें 18 राज्यों के 65 शहरों से ओशो के फॉलोअर आये थे।
कैंपस में ऐसे ह्यूमन स्टैचू बनाये गए थे।कैंपस में ऐसे ह्यूमन स्टैचू बनाये गए थे।
लोगों ने ऐसे झूमते हुए सेलिब्रेट किया न्यू ईयर।लोगों ने ऐसे झूमते हुए सेलिब्रेट किया न्यू ईयर।
इस बार  'वन वर्ल्ड वन सेलिब्रेशन' थीम से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था।इस बार 'वन वर्ल्ड वन सेलिब्रेशन' थीम से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था।
12 बजते ही लोग जश्न में झूम उठे।12 बजते ही लोग जश्न में झूम उठे।
नए साल के स्वागत के लिए ओशो मेडिटेशन रिजार्ट को कलरफुल ढंग से सजाया गया था।नए साल के स्वागत के लिए ओशो मेडिटेशन रिजार्ट को कलरफुल ढंग से सजाया गया था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..