--Advertisement--

इस शख्स ने आर्डर किया 55 हजार का आईफोन, कंपनी ने थमा दिया साबुन

फिलहाल इस मामले में शॉपिंग वेबसाइट के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:06 PM IST
शिकायत पर सुनवाई न होने पर तबरेज ने मुंबई में कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। शिकायत पर सुनवाई न होने पर तबरेज ने मुंबई में कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है।

मुबंई. एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने एक बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट से 55 हजार में आईफोन 8 खरीदा। लेकिन जब उसे डिलीवरी मिली तो उसके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई। उसे आई फोन की जगह डिब्बे में10 रुपये का डिटर्जेंट बार पैक कर डिलीवर कर दिया गया था। फिलहाल इस मामले में शॉपिंग वेबसाइट के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। क्या है पूरा मामला...

- मुंबई के रहने वाले 26 वर्षीय तबरेज मेहबूब नगराली का आरोप है कि उन्होंने आईफोन ऑर्डर किया था और उसने इसके लिए पूरी पेमेंट भी एडवांस में किया था।

- तबरेज के मुताबिक, 22 जनवरी को नवी मुंबई के पास पनवेल में उसके घर पर एक पैकेट डिलिवर किया गया। पैकेट लेने के बाद तबरेज ने डिलीवरी बॉय को डिजिटल सिग्नेचर दिया और वह वहां से चला गया।
- उसके जाने के बाद तबरेज ने कुछ देर बाद बॉक्स को खोला तो उसमें पिंक रंग का कपड़े धोने का साबुन मिला।
- इसके बाद तबरेज ने तुरंत वेबसाइट के कस्टमर केयर सेंटर पर कॉल किया और इस मामले में कंप्लेंट दर्ज करवाई।
- कॉल सेंटर एग्जीक्यूटिव ने उन्हें 25 जनवरी तक इस समस्या को सुलझाने का वादा किया था। तबरेज 29 जनवरी तक इंतजार करते रहे लेकिन कोई भी फोन वेबसाइट की ओर से उनके पास नहीं आया।
- बार-बार कॉल करने पर शॉपिंग वेबसाइट की ओर से बताया गया कि वे इस मामले में कुछ भी नहीं कर सकते। इसके बाद उन्होंने तबरेज को शॉपिंग के लिए ब्लैकलिस्टेड कर दिया।

दर्ज हुआ धोखाधड़ी का केस
- इस घटना के बाद तबरेज ने मध्य मुंबई के बायकुला पुलिस स्टेशन में शॉपिंग वेबसाइट फ्लिपकार्ट के खिलाफ धोखाधड़ी का केस भी दर्ज करवाया है।
- वहीं बायकुला पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अविनाश शिंगटे ने बताया कि नगराली ने गुरुवार को इस मामले में शिकायत दर्ज कराई है।
- इस मामले में ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया। फ्लिपकार्ट के एक प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी इस घटना की जांच कर रही है।

उन्हें डिब्बे में आईफोन की जगह साबुन दिया गया। उन्हें डिब्बे में आईफोन की जगह साबुन दिया गया।
कई दिनों ने कार्रवाई न होने पर तबरेज ने केस दर्ज करवाया है। कई दिनों ने कार्रवाई न होने पर तबरेज ने केस दर्ज करवाया है।
तबरेज ने कई दिन तक वेबसाइट के जवाब का इंतजार किया। तबरेज ने कई दिन तक वेबसाइट के जवाब का इंतजार किया।
आईफोन के डिब्बे में रखा हुआ था निरमा साबुन। आईफोन के डिब्बे में रखा हुआ था निरमा साबुन।
फ्लिपकार्ट की ओर से इस मामले में कार्रवाई का वादा किया गया है। फ्लिपकार्ट की ओर से इस मामले में कार्रवाई का वादा किया गया है।
एफआईआर से पहले कंपनी ने इस मामले में अपने हाथ खींच लिए थे। एफआईआर से पहले कंपनी ने इस मामले में अपने हाथ खींच लिए थे।
X
शिकायत पर सुनवाई न होने पर तबरेज ने मुंबई में कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है।शिकायत पर सुनवाई न होने पर तबरेज ने मुंबई में कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है।
उन्हें डिब्बे में आईफोन की जगह साबुन दिया गया।उन्हें डिब्बे में आईफोन की जगह साबुन दिया गया।
कई दिनों ने कार्रवाई न होने पर तबरेज ने केस दर्ज करवाया है।कई दिनों ने कार्रवाई न होने पर तबरेज ने केस दर्ज करवाया है।
तबरेज ने कई दिन तक वेबसाइट के जवाब का इंतजार किया।तबरेज ने कई दिन तक वेबसाइट के जवाब का इंतजार किया।
आईफोन के डिब्बे में रखा हुआ था निरमा साबुन।आईफोन के डिब्बे में रखा हुआ था निरमा साबुन।
फ्लिपकार्ट की ओर से इस मामले में कार्रवाई का वादा किया गया है।फ्लिपकार्ट की ओर से इस मामले में कार्रवाई का वादा किया गया है।
एफआईआर से पहले कंपनी ने इस मामले में अपने हाथ खींच लिए थे।एफआईआर से पहले कंपनी ने इस मामले में अपने हाथ खींच लिए थे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..