--Advertisement--

महीनों से गायब थी ये लेडी पुलिस ऑफिसर, लिवइन पार्टनर ने कटर से काटी बॉडी

पुलिस के मुताबिक अभय ने अश्विनी को मारने के लिए पॉवर कटर का इस्तेमाल किया है।

Dainik Bhaskar

Mar 03, 2018, 07:16 PM IST
अश्विनी तकरीबन दो साल से गायब अश्विनी तकरीबन दो साल से गायब

मुंबई. अप्रैल 2016 में गायब हुईं महाराष्ट्र पुलिस की असिस्टेंट इंस्पेक्टर अश्विनी बिदरे-गोरे के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस मामले में गिरफ्तार किए गए चार लोगों में से एक ने कहा है- अश्विनी को सीनियर इंस्पेक्टर अभय कुरुंदकर (मुख्य आरोपी) ने मारा है। पुलिस के मुताबिक, अभय ने अश्विनी को मारने के लिए पॉवर कटर का इस्तेमाल किया था। मारने के बाद बॉडी को खाड़ी में फेंका...

- यह सनसनीखेज खुलासा अश्विनी बिदरे मामले में गिरफ्तार आरोपी महेश फणनिकर ने किया है। उसने पूछताछ में बताया, अभय कुरुंदकर ने पावर कटर से अश्विनी की बॉडी के टुकड़े करके वसई की खाड़ी में फेंक दिया था।
- बता दें, महेश इस मामले में मुख्य आरोपी सीनियर इंस्पेक्टर अभय कुरुंदकर का दोस्त है।
- महेश ने आगे बताया, अभय ने अश्विनी के शरीर के टुकड़े करने के बाद उसे भायंदर स्थित अपने फ्लैट में दो दिन तक फ्रिज में रखा।

ऐसे गायब हो गई थी महिला अधिकारी
- पुलिस के मुताबिक, अभय और अश्विनी के बीच प्रेम संबंध था। अभय ने उससे शादी का वादा भी किया था। अश्विनी मुंबई के कामोठे में स्तिथ ह्यूमन राइट्स कमीशन के ऑफिस में तैनात थी।
- 15 अप्रैल 2016 को वो अपने ऑफिस से घर के लिए निकली, लेकिन 18 महीने बीत गए। न तो अश्विनी घर पहुंची और ना ही उसका कोई सुराग मिला।
- अश्विनी के घरवालों ने पुलिस अधिकारी अभय कुरुंदकर के ऊपर उसे गायब करने का आरोप लगाया। उसके घरवालों ने कलंबोली पुलिस थाने में जाकर आरोपी पुलिस अधिकारी अभय के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।
- पुलिस को शक है कि अश्विनी को रास्ते से हटाने के लिए पहले अपहरण किया गया और फिर उसकी हत्या कर दी गई। फिलहाल कलंबोली पुलिस अज्ञात स्थान पर अभय कुरूंदकर से पूछताछ कर रही है, ताकि इस पूरे मामले की तह तक पहुंचा जा सके।

सामने आया था पिटाई का वीडियो
- अश्विनी के परिवार ने भी सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर अभय पर गंभीर आरोप लगाते हुए वीडियो जारी किया था। वीडियो में अभय पुलिस अधिकारी अश्विनी के साथ मारपीट करता नजर आ रहा था।
- परिवार का आरोप है कि अश्विनी के लापता होने के पीछे कोई और नहीं बल्कि अभय है। जिसने पहले तो अश्विनी को ब्लैकमेल कर उसे जबरन फंसाया और फिर जब उसने शादी का दबाव बनाया तो उसे रास्ते से हटा दिया।
- परिवार ने पुलिस पर भी गंभीर सवाल खड़े किए हैं, उनके मुताबिक आरोपी सामने है फिर भी पुलिस उसे हाथ तक नहीं लगा रही है।


दोनों के बीच था अफेयर
- जांच में सामने आया है कि अश्विनी की शादी साल 2005 में राजू नामक व्यक्ति से हुई थी। शादी के एक साल बाद अश्विनी ने पुलिस एग्जाम पास किया।
- पुलिस में शामिल होने के बाद उसकी पोस्टिंग पुणे में हुई। कुछ महीने बाद उसका सांगली ट्रांसफर हो गया। जहां उसकी मुलाकात पुलिस अधिकारी अभय कुरुंदकर से हुई। दोनों मकी दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई।
- साल 2013 में अश्विनी की पोस्टिंग रत्नागिरी में हुई। इसके बाद भी अभय उससे मिलने आता था।
- अश्विनी के पिता और पति राजू को ये बात अच्छी नहीं लगती थी। इसी बीच दोनों में किसी बात को लेकर अनबन शुरू हुई। जिसके बाद साल 2015 में अश्विनी ने अपना ट्रांसफर कलंबोली पुलिस स्टेशन में करा लिया।
- अश्विनी के घरवालों की माने तो अभय इसी बात से नाराज था और बार-बार उसे धमकी दे रहा था।

X
अश्विनी तकरीबन दो साल से गायब अश्विनी तकरीबन दो साल से गायब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..