--Advertisement--

कपल ने लव मैरिज के आठ माह बाद लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखी ये कहानी

दुविधा में फंसे जोड़े ने मंगलवार को फांसी लगाई। उन्होंने सुसाइड नोट में किसी को दोषी न ठहराने की बिनती की है।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 06:01 PM IST
महाराष्ट्र के धुले जिले का मामला- यहां एक नवविवाहित जोड़े ने पेड़ से लटक सुसाइड कर लिया। दोनों चुपके से शादी की थी। इसकी जानकारी घरवालों को नहीं थी। महाराष्ट्र के धुले जिले का मामला- यहां एक नवविवाहित जोड़े ने पेड़ से लटक सुसाइड कर लिया। दोनों चुपके से शादी की थी। इसकी जानकारी घरवालों को नहीं थी।

धुले (महाराष्ट्र). साकरी तहसील के तहत धाडणे गांव में एक नवविवाहित जोड़े ने बरगद के पेड़ पर फंदा बना फांसी लगा ली। इस जोड़े ने आठ माह पहले लव मैरिज की थी। लड़के के घरवालों के डर से दोनों गांव से दूर रहते थे। शादी के बाद दोनों को उम्मीद थी कि परिवार वाले उन्हें अपना लेंगे, लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो कपल ने सुसाइड कर लिया। उन्होंने सुसाइड नोट में किसी को दोषी न ठहराने को कहा है। क्या है पूरा मामला...


- पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार को धाडणे फाटा के सुनसान इलाके में एक बरगद से पेड़ से सचिन बागुल (21) और दीपाली चव्हाण (20) की लाशें लटकती मिलीं। गांव वालों के जानकारी देने पर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों की बॉडी को नीचे उतारा। पुलिस को सचिन की जेब में सुसाइड नोट मिला था। उसमें लिखा था कि उनकी खुदकुशी के लिए किसी को जिम्मेदार न ठहराया जाए।


घर वालों से छुपाई थी शादी की बात


- पुलिस के मुताबिक, सचिन बागुल एक पोल्ट्री फार्म में मैनेजर था। वहां पर एक साल पहले उसकी पहचान दीपाली से हुई थी। दोनों अलग-अलग कास्ट के थे। दोनों जानते थे कि घरवाले शादी की परमिशन नहीं देंगे। उन्होंने 4 मई 2017 को नासिक के सप्त श्रृंगी देवी के मंदिर में शादी कर ली। इसकी भनक दोनों ने घरवालों को नहीं लगने दी। सचिन को डर था कि उसके घर वाले दीपाली का स्वीकार नहीं करेंगे। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद होता था। मंगलवार को दोनों सचिन के गांव में मिले। इसके बाद उन्होंने एक साथ सुसाइड करने का फैसला किया। दोनों ने एक-दूसरे को गले लगा कर फांसी लगाई। इससे पहले सुसाइड नोट में प्यार से शादी तक की सारी कहानी लिखी।

सुसाइड नोट में क्या लिखा ?

- सचिन और दीपाली ने अलग-अलग सुसाइड नोट लिखे हैं। उन्होंने अपने अपने परिवारों को खुश रहने के लिए कहा है। दोनों ने कहा है कि जाति भेद के विचारों की वजह से हमने अपनी शादी की बात आपसे छिपाई। अब आपस में विवाद न करें। सचिन ने अपनी सुसाइड नोट में लिखा है कि पप्पा-मम्मी मुझे माफ करना, दीदी की शादी अच्छे घर में कराना। वहीं, दीपाली ने लिखा है कि मेरे दोनों भाई मुझे माफ करना, मम्मी-पापा को खुश रखना। मैंने मोबाइल बेच दिया, पैसों की ज़रूरत थी। मेरे अकाउंट से पैसे निकाल लेना।

मंगवाल को दोनों ने सुसाइड करने का फैसला किया और पांच पन्नों का सुसाइड नोट लिख फांसी लगाई। मंगवाल को दोनों ने सुसाइड करने का फैसला किया और पांच पन्नों का सुसाइड नोट लिख फांसी लगाई।
दोनों एक साल पहले मिले थे। इसके बाद उन्होंने 4 मई 2017 को शादी की। दोनों एक साल पहले मिले थे। इसके बाद उन्होंने 4 मई 2017 को शादी की।
शादी के बाद भी दोनों अलग अलग रहते थे। शादी के बाद भी दोनों अलग अलग रहते थे।
सचिन दीपाली को घर लाना चाहता था, लेकिन परिवार वालों द्वारा उसे बाहर निकालने का भी डर था। सचिन दीपाली को घर लाना चाहता था, लेकिन परिवार वालों द्वारा उसे बाहर निकालने का भी डर था।
दीपाली ने भी अपने घर वालों से शादी की बात छिपाई थी। दीपाली ने भी अपने घर वालों से शादी की बात छिपाई थी।
सचिन उर्फ कैलास ने अपने पापा को अच्छे से रहने के लिए कहा है। सचिन उर्फ कैलास ने अपने पापा को अच्छे से रहने के लिए कहा है।
उसने अपनी गलती पर घरवालों से साॅरी कहा है। उसने अपनी गलती पर घरवालों से साॅरी कहा है।
दीपाली और सचिन ने सुसाइड नोट पर हस्ताक्षर कर सबको खुश रहने को कहा है। दीपाली और सचिन ने सुसाइड नोट पर हस्ताक्षर कर सबको खुश रहने को कहा है।