--Advertisement--

रिटायरमेंट के बाद यहां रहते हैं रतन टाटा, ड्राइवर भी आता है मर्सीडीज से

रिटायर्ड होने के बाद रतन टाटा मुंबई के कोलाबा में समुद्र किनारे बने सफेद रंग के खूबसूरत बंगले में रह रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 12:37 PM IST
कोलाबा के इस बंगले में रहते हैं रतन टाटा। कोलाबा के इस बंगले में रहते हैं रतन टाटा।

मुंबई. टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन रतन नवल टाटा का 28 दिसंबर को जन्मदिन था। इस मौके पर हम उनकी लाइफ से जुड़ी दिलचस्प बाते बताने जा रहे हैं। टाटा ग्रुप को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने के बाद उन्‍होंने जनवरी 2013 में रिटायरमेंट ले लिया था। रिटायर होने के बाद रतन टाटा मुंबई के कोलाबा में समुद्र किनारे बने सफेद रंग के खूबसूरत बंगले में रह रहे हैं। टाटा का पर्सनल ड्राइवर भी मर्सडीज कार से आता है।​ क्या है इस बंगले में खास...

- टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा का मुंबई स्थित निवास अपनी खूबसूरती और वास्तुकला के लिए फेमस है। समुद्र की लहरें जब इस बंगले की ओर बढ़ती हैं तो यह किसी आइलैंड जैसा लगता है। टाटा ने खुद इसे डेकोरेट कराया है।
- 13,350-sq-ft के इस बंगले को पूरी तरह सफेद रंग से पेंट किया गया है। यहां तक कि विंडो ग्लास, दीवारें और दरवाजे भी सफेद हैं। दिसंबर, 2012 में टाटा ग्रुप से रिटायर होने के बाद रतन टाटा अपना ज्यादातर वक्त कोलाबा स्थित अपने बंगले में बिताते हैं। इस खूबसूरत बंगले को रतन टाटा ने अपने रिटायरमेंट के एक साल पहले खुद अपनी जरूरतों के मुताबिक डिजाइन करवाया था।
- यह बंगला कोलाबा पोस्ट ऑफिस के ठीक पीछे स्थित है। इस बंगले के बेसमेंट में पार्किग बनाई गई है। इसमें 10-12 कारें पार्क की जा सकती हैं। इसी हिस्से में सर्वेंट क्वार्टर बनाए गए हैं। बंगले के बाहर एक बड़ा गार्डन है, जिसमें रतन टाटा एक्सरसाइज करते हैं और शाम को अपने डॉगी को टहलाते हैं।

अंदर से ऐसा है बंगला

- तीन फ्लोर के इस बंगले को सात लेवल (प्रत्येक फ्लोर के दो भाग) में डिवाइड किया गया है। फर्स्ट फ्लोर के निचले हिस्से में लिविंग रूम और ऊपरी हिस्से में सन डेक है। यहां करीब 50 लोगों के साथ पार्टी की जा सकती है। इसी हिस्से में टाटा का स्टडी रूम है। दूसरे फ्लोर के निचले हिस्से में तीन बेडरूम और ऊपरी हिस्से में एक लाइब्रेरी है। तीसरे फ्लोर के निचले हिस्से में मीडिया रूम है, जिसमें टाटा खास लोगों से मुलाकात करते हैं। इसी हिस्से में एक बेडरूम और एक जिम भी है। ऊपरी हिस्से में स्विमिंग पूल, लाउंज और सन डेक है।

मर्सडीज से आता था ड्राइवर

- रतन टाटा के ड्राइवर को लेने के लिए मर्सडीज कार जाती थी। कार पर बैठकर टाटा का ड्राइवर उनके घर या दफ्तर आता था। इसके बाद वो टाटा की दूसरी कार की ड्राइविंग सीट पर बैठकर उन्हें ऑफिस पहुंचाता था।

6 महीनों तक बिना काम सैलरी

- रतन टाटा जितने बड़े उद्योगपति हैं, उतने ही बड़े इंसान भी माने जाते हैं। 26/11 को मुंबई में हुए आतंकी हमले से उनका होटल ताज पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था। हमले के बाद छह महीने तक होटल को बंद करना पड़ा था। कर्मचारियों को परिवार का हिस्सा मानने वाले टाटा ने उस अवधि में सभी कर्मचारियों को पूरी सैलरी दी। नए-पुराने सभी कर्मचारियों को उनकी सैलरी मनीऑर्डर के जरिए घर पहुंचा दी जाती थी।

परिवार के सदस्यों के लिए लाइफटाइम पेंशन

- 26/11 हमलों के दौरान होटल में मारे गए कर्मचारियों के परिजनों को लाइफटाइम पेंशन देना शुरू किया। कर्मचारियों के लड़के और लड़कियों को दुनिया भर में कहीं भी पढ़ने की सुविधा भी दी। इतना ही नहीं, उन्हें मुफ्त इलाज की सुविधा भी दी गई। टाटा ने कर्मचारियों द्वारा पहले लिया गया 'लोन' पूरी तरह से माफ कर दिया।

आगे की स्लाइड्स में देखिए रतन टाटा के घर की कुछ और फोटोज...

रतन टाटा के ड्राइवर को लेने के लिए मर्सडीज कार जाती है। रतन टाटा के ड्राइवर को लेने के लिए मर्सडीज कार जाती है।
दिसंबर, 2012 में टाटा ग्रुप से रिटायर होने के बाद रतन टाटा अपना ज्यादातर वक्त कोलाबा स्थित अपने बंगले में बिताते हैं। दिसंबर, 2012 में टाटा ग्रुप से रिटायर होने के बाद रतन टाटा अपना ज्यादातर वक्त कोलाबा स्थित अपने बंगले में बिताते हैं।
रतन टाटा के रहने के लिए इस बंगले को फिर से तैयार किया गया था। रतन टाटा के रहने के लिए इस बंगले को फिर से तैयार किया गया था।
रतन टाटा का ओल्ड बंगला। रतन टाटा का ओल्ड बंगला।
इस ओल्ड बंगले को तोड़ कर रतन टाटा का नया घर बनाया गया है। इस ओल्ड बंगले को तोड़ कर रतन टाटा का नया घर बनाया गया है।
अंदर से ऐसा नजर आता है रतन टाटा का बंगला। अंदर से ऐसा नजर आता है रतन टाटा का बंगला।
बंगले के एक हिस्से में सर्वेंट क्वार्टर हैं। बंगले के एक हिस्से में सर्वेंट क्वार्टर हैं।
करीब 13 हजार वर्गफीट एरिया में फैले इस खूबसूरत बंगले को रतन टाटा ने अपने रिटायरमेंट के एक साल पहले खुद अपनी जरूरतों के मुताबिक डिजाइन करवाया था। करीब 13 हजार वर्गफीट एरिया में फैले इस खूबसूरत बंगले को रतन टाटा ने अपने रिटायरमेंट के एक साल पहले खुद अपनी जरूरतों के मुताबिक डिजाइन करवाया था।
X
कोलाबा के इस बंगले में रहते हैं रतन टाटा।कोलाबा के इस बंगले में रहते हैं रतन टाटा।
रतन टाटा के ड्राइवर को लेने के लिए मर्सडीज कार जाती है।रतन टाटा के ड्राइवर को लेने के लिए मर्सडीज कार जाती है।
दिसंबर, 2012 में टाटा ग्रुप से रिटायर होने के बाद रतन टाटा अपना ज्यादातर वक्त कोलाबा स्थित अपने बंगले में बिताते हैं।दिसंबर, 2012 में टाटा ग्रुप से रिटायर होने के बाद रतन टाटा अपना ज्यादातर वक्त कोलाबा स्थित अपने बंगले में बिताते हैं।
रतन टाटा के रहने के लिए इस बंगले को फिर से तैयार किया गया था।रतन टाटा के रहने के लिए इस बंगले को फिर से तैयार किया गया था।
रतन टाटा का ओल्ड बंगला।रतन टाटा का ओल्ड बंगला।
इस ओल्ड बंगले को तोड़ कर रतन टाटा का नया घर बनाया गया है।इस ओल्ड बंगले को तोड़ कर रतन टाटा का नया घर बनाया गया है।
अंदर से ऐसा नजर आता है रतन टाटा का बंगला।अंदर से ऐसा नजर आता है रतन टाटा का बंगला।
बंगले के एक हिस्से में सर्वेंट क्वार्टर हैं।बंगले के एक हिस्से में सर्वेंट क्वार्टर हैं।
करीब 13 हजार वर्गफीट एरिया में फैले इस खूबसूरत बंगले को रतन टाटा ने अपने रिटायरमेंट के एक साल पहले खुद अपनी जरूरतों के मुताबिक डिजाइन करवाया था।करीब 13 हजार वर्गफीट एरिया में फैले इस खूबसूरत बंगले को रतन टाटा ने अपने रिटायरमेंट के एक साल पहले खुद अपनी जरूरतों के मुताबिक डिजाइन करवाया था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..