--Advertisement--

राहुल की ताजपोशी पर खिलाफ हुए उनके रिश्तेदार, कहा-कांग्रेस का काला दिन

बता दें कि शहजाद वही शख्स हैं जिन्होंने राहुल के अध्यक्ष पद पर नामांकन का सबसे पहले विरोध किया था।

Dainik Bhaskar

Dec 16, 2017, 12:39 PM IST
शहजाद पूनावाला, राहुल गांधी को शहजाद पूनावाला, राहुल गांधी को

मुंबई. राहुल गांधी (47) शनिवार को कांग्रेस के 60वें अध्यक्ष बन गए। राहुल के अध्यक्ष बनने पर एक तरफ कांग्रेस पार्टी देश भर में जश्न मना रही है, तो कुछ ऐसे पुराने कांग्रेसी भी हैं जो लगातार उनके अध्यक्ष बनने का विरोध कर रहे हैं। इनमें से एक हैं उनके रिश्तेदार और पार्टी के सपोर्टर शहजाद पूनावाला। शहजाद ने आज के दिन को कांग्रेस पार्टी का 'ब्लैक डे' बताते हुए राहुल गांधी को पार्टी का इललीगल अध्यक्ष करार दिया है। बता दें कि शहजाद वही शख्स हैं जिन्होंने राहुल के अध्यक्ष पद पर नामांकन का सबसे पहले विरोध किया था। बता दें कि शहजाद के भाई तहसीन पूनावाला रॉबर्ट वाड्रा के जीजा हैं। ट्विटर और फेसबुक पर लिखा 'ब्लैक डे'...

- शहजाद पूनावाला ने अपने ट्विटर और फेसबुक अकाउंट से अपनी फोटोज हटा कर उसकी जगह 'ब्लैक डे' की फोटो लगाई है।
- ट्विटर पर राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए शहजाद ने लिखा है," ब्लैक डे फॉर कांग्रेस, जब राहुल गांधी(शहजादे) को कांग्रेस का असंविधानिक और अवैध अध्यक्ष चुना गया है, यह काला दिन है और हमें उन्हें अकबर रोड और अमेठी से उखाड़ फेंकने का काम करना है। असली कांग्रेस बचाओं, वंशवाद हटाओ।"


खुद चुनाव लड़ना चाहते था पूनावाला
- मीडिया से बातचीत में शहजाद ने कहा था कि वह कांग्रेस प्रेसिडेंट की पोस्ट के लिए खुद चुनाव लड़ना चाहते हैं, लेकिन वह ऐसा नहीं कर सकते हैं, क्योंकि इस पोस्ट के लिए वोट करने वाले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के रिप्रेजेंटेटिव्स राज्यों के कांग्रेस प्रेसिडेंट्स की ओर से अप्वाइंट किए जाते हैं।
- पूनावाला ने बताया था कि इन राज्यों के प्रेसिडेंट्स को राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी अप्वाइंट करती हैं। शहजाद पूनावाला ने राहुल गांधी को चुनौती दी कि वे पहले कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट की पोस्ट से इस्तीफा दें, इसके बाद प्रेसिडेंट पोस्ट के लिए चुनाव लड़ें।

राहुल गांधी को लिखा था लेटर
- शहजाद ने राहुल गांधी को एक पत्र लिखकर पूछा था, "क्या कांग्रेस में प्रेसिडेंट की पोस्ट डायरेक्ट या इनडायरेक्ट रूप से सिर्फ ‘गांधी’ नाम वालों के लिए ही रिजर्व है?"
- इसके लिए उन्होंने कांग्रेस के एक स्पोक्सपर्सन के उस बयान का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगले 50 साल तक ‘गांधी’ ही कांग्रेस के प्रेसिडेंट होंगे?
- शहजाद ने कांग्रेस प्रेसिडेंट पोस्ट के चुनाव को पूरी तरह से मजाक बताया। उन्होंने कहा, "मेरे जैसा एक कार्यकर्ता राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने की सोच भी सकता था, अगर उन्होंने उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया हुआ होता और एक सामान्य कांग्रेस कार्यकर्ता की तरह पार्टी प्रेसिडेंट की पोस्ट का चुनाव लड़ते।"
- उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा था, "सच बोलने के लिए हिम्मत चाहिए, मेरे खिलाफ कई हमले होंगे, लेकिन मेरे पास सबूत हैं।"

भाई ने तोड़ा रिश्ता
- उन्होंने अपने भाई तहसीन पूनावाला को भी टैग करते हुए लिखा था, "तहसीन को इस बात का कोई अंदाजा नहीं है, नहीं तो वो मुझे भी इस मुद्दे पर बोलने से रोक देता।" बता दें कि तहसीन पूनावाला रॉबर्ट वाड्रा के जीजा हैं।
- इस बीच, तहसीन ने भी ट्वीट के जरिए इसका जवाब दिया था। उन्होंने इसमें लिखा था, "मैं यह जानकर हैरान हूं कि शहजाद ने यह सब तब किया, जब कांग्रेस गुजरात में जीतने जा रही है। मैं उनसे राजनीतिक रूप से सारे रिश्ते खत्म करने का एलान करता हूं। कांग्रेस राहुल गांधी को प्रेसिडेंट बनाना चाहती है।"

X
शहजाद पूनावाला, राहुल गांधी कोशहजाद पूनावाला, राहुल गांधी को
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..