Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Transgender Woman Seeks President Permission For Mercy Killing

एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु

बता दें कि शानवी ने एयर इंडिया में केबिन क्रू के सदस्य के तौर पर नौकरी के लिए अप्लाई किया था।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 15, 2018, 06:10 PM IST

  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    शानवी पोनुसामी इन दिनों मुंबई में रह रही हैं।

    मुंबई. एयर इंडिया में नौकरी न मिलने पर मुंबई में रह रही ट्रांसजेंडर शानवी ने पोन्नुस्वामी इच्छा मृत्यु की मांग की है। शानवी का आरोप है कि ट्रांसजेंडर होने की वजह से उसे एयर इंडिया में नौकरी नहीं मिली। नौकरी देने से मना करने के बाद उसने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु दिए जाने की दरख्वास्त की है। बता दें कि शानवी ने एयर इंडिया में केबिन क्रू के सदस्य के तौर पर नौकरी के लिए अप्लाई किया था। क्या है शानवी की अपील...

    - शानवी ने भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा,"मैंने किसी और एयरलाइन में अप्लाई नहीं किया। जब सरकारी एयरलाइन में आपके लिए (ट्रांसजेंडर) के लिए कोई कैटेगरी नहीं है, तब आप प्राइवेट एयरलाइंस से क्या उम्मीद कर सकते हैं? अब मैं जियूं या मरूं ये राष्ट्रपति के हाथ में है।"
    - शानवी ने आगे कहा, "उन्होंने कहा कि हमारे पास ट्रांसजेडर के लिए कोई कैटेगरी नहीं है। लेकिन क्या मुझे टैक्स पर डिस्काउंट मिलता है। मुझे टैक्स चुकाना पड़ता है। मेरे पास अनुभव और योग्यता है। क्या ये सिर्फ मेरे जेंडर का मामला है?"


    शानावी ने लड़ी लंबी कानूनी लड़ाई
    - शानवी ने तमिलनाडु से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करके मॉडलिंग शुरू कर दी है। वे इन दिनों मुंबई में रह रही हैं।
    - मॉडलिंग के दौरान ही उन्होंने यह तय किया कि वे एयर इंडिया ज्वाइन करेंगी। लेकिन उनके सामने उनका ट्रांसजेडर होना प्रॉब्लम बन गया।
    - जब उन्होंने एअर इंडिया में एयर होस्टेस और केबिन क्रू के लिए अप्लाई किया तो उनकी एप्लिकेशन सिर्फ इस बात के कारण रद्द कर दी गई, क्योंकि एअर इंडिया में मेल और फीमेल के अलावा तीसरा ऑप्शन नहीं था।
    - इस पूरे मामले के बाद भी शानवी ने हार नहीं मानी और वे सुप्रीम कोर्ट पहुंची। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एविएशन मिनिस्ट्री से चार हफ्तों के अंदर इस बात पर जवाब मांगा। सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि आदेश के बाद भी थर्ड जेंडर का ऑप्शन क्यों नही रखा गया?
    - राष्ट्रपति को लिखे पत्र में शानवी ने दावा किया है कि न तो एयर इंडिया और न ही नागर विमानन मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट का जवाब दिया है। उसने कहा है कि बिना नौकरी के वह अपना गुजारा करने में सक्षम नहीं है और इसलिए उसे इच्छा मृत्यु की अनुमति दी जाए।

  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    ट्रांसवुमन शानवी पोनुसामी एयर होस्टेस बनना चाहती हैं।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    मॉडलिंग के दौरान ही उन्होंने यह तय किया कि वे एयर इंडिया ज्वाइन करेंगी।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    एयर इंडिया ने उनकी एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर दिया है।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    ट्रांसजेंडर शानवी के फेसबुक पर कई हजार फॉलोअर हैं।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    तमिलनाडु की रहने वाली हैं शानवी।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    शानवी को सोशल मीडिया में सेल्फी क्वीन के नाम से भी जाना जाता है
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    फिलहाल शानवी मॉडलिंग कर रही हैं।
  • एयर इंडिया में नौकरी करना चाहती है ये ट्रांसजेंडर, ठुकराने पर मांगी इच्छा मृत्यु
    +8और स्लाइड देखें
    राष्ट्रपति को लिखे पत्र में शानवी ने इच्छा मृत्यु की मांग की है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×