न्यूज़

--Advertisement--

नहीं पूरी हो रही थी डिमांड, विधान भवन के बाहर पहुंची किन्नरों ने किया हंगामा

किन्नरों की एक टोली नाचते-गाते विधान भवन के बाहर पहुंची और अपने परंपरागत तरीके से जमकर हंगामा किया।

Danik Bhaskar

Dec 23, 2017, 11:45 AM IST
किन्नर समाज के लोगों ने नागपुर में विधान भवन के बाहर किया हंगामा। किन्नर समाज के लोगों ने नागपुर में विधान भवन के बाहर किया हंगामा।

नागपुर. शहर में रहनेवाले किन्नर कई वर्षों से अपनी विभिन्न मांगों को लेकर विभिन्न स्तरों पर धरना प्रदर्शन कर चुके रहे हैं। लेकिन इनकी मांगों की तरफ सरकार ने ध्यान नहीं दिया है। जिसके बाद शुक्रवार को शीतसत्र समाप्त होने से पहले किन्नरों की एक टोली नाचते-गाते विधान भवन के बाहर पहुंची और अपने परंपरागत तरीके से जमकर हंगामा किया और अपना विरोध दर्ज करवाया। हंगामा बढ़ता देख सुरक्षाकर्मियों को बीच में आना पड़ा। बड़े आंदोलन की दी है चेतावनी...

- किन्नरों की एक टोली ने गणेश टेकड़ी रोड पर प्रदर्शन कर राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस प्रदर्शन में शहर के सभी किन्नर समाज के लोग मौजूद थे।

- उत्तमबाबा सेनापति और विद्या कांबले के नेतृत्व में निकले इस मोर्चे ने अपने परंपरागत शैली में सरकार को जमकर कोसा। मोर्चे को संबोधित करते हुए उत्तमबाबा सेनापति, चमचम गजभिये और विद्या कांबले ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने भी तृतीयपंथी समाज को तीसरा दर्जा दिया है, लेकिन सरकार ने आज तक इस समाज को तीसरा दर्जा नहीं दिया। जबकि इसके लिए इस समाज ने कई बार आंदोलन का सहारा भी लिया। लेकिन सरकार ने उनकी कोई सुध नहीं ली।
- विभिन्न मांगों को लेकर सड़क पर उतरे इस मोर्चे ने भी मांगें पूरी नहीं होने पर इससे भी बड़ा आंदोलन छेड़ने की सरकार को चेतावनी दी है।

यह थीं किन्नरों की मांगें
- तृतीयपंथी समाज को िवधान परिषद सदस्य में आरक्षण दें, सरकारी विभागों में भी तीसरा वर्ग के रूप में उल्लेख हो, कला, व्यापार आदि में भी आरक्षण दें, पाठयक्रमों में भी तृतीयपंथी का उल्लेख हो, सहित आदि मांगें की हैं।

परंपरागत तरीके से नाचते हुए सरकार की जमकर आलोचना की। परंपरागत तरीके से नाचते हुए सरकार की जमकर आलोचना की।
किन्नर समाज ने आगे बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है। किन्नर समाज ने आगे बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है।
तकरीबन एक घंटे तक चला किन्नरों का हंगामा। तकरीबन एक घंटे तक चला किन्नरों का हंगामा।
हटाने के लिए सुरक्षाकर्मियों को बीच में आना पड़ा। हटाने के लिए सुरक्षाकर्मियों को बीच में आना पड़ा।
Click to listen..