--Advertisement--

महाराष्ट्र: वर्जिनिटी टेस्ट पर बोलना पड़ेगा भारी, पुलिस करेगी कड़ी कार्रवाई

हर तीन महीने में वर्जिनिटी टेस्ट से जुड़ी शिकायतों के मामलों की समीक्षा की जाएगी।

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 09:10 AM IST
.महाराष्ट्र के कंजारा भाट समाज में शादी से पहले वर्जिनिटी टेस्ट की कुप्रथा है। .महाराष्ट्र के कंजारा भाट समाज में शादी से पहले वर्जिनिटी टेस्ट की कुप्रथा है।

मुंबई. प्रदेश में कौमार्य परीक्षण (वर्जिनिटी टेस्ट) से जुड़े मामले सामने आने पर पुलिस खुद संज्ञान लेकर कार्रवाई करेगी। वर्जिनिटी टेस्ट के बारे में यदि कोई सार्वजनिक रूप से चर्चा करता है, तो संबंधित के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। इससे जुड़े निर्देश सभी पुलिस स्टेशनों को दिए जाएंगे। इसके साथ ही हर तीन महीने में वर्जिनिटी टेस्ट से जुड़ी शिकायतों के मामलों की समीक्षा की जाएगी। बुधवार को विधान परिषद में प्रदेश के गृह राज्यमंत्री रणजीत पाटील ने यह आश्वासन दिया। मंत्रालय में बुलाई बैठक...

- गृहराज्य मंत्री पाटील ने कहा कि कौमार्य परीक्षण के बारे में जानकारी मिलने पर पुलिस जाल बिछाकर आरोपियों को पकड़ेगी।
- उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सामाजिक बहिष्कार व्यक्तियों का संरक्षण (प्रतिबंध, बंदी और निवारण) अधिनियम के तहत पीड़ित व्यक्ति की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा कौमार्य परीक्षण के मामले को लेकर मंत्रालय में एक बैठक बुलाई जाएगी।

शिवसेना ने उठाया मामला
- बुधवार को सदन में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जरिए शिवसेना सदस्य नीलम गोर्हे ने यह मामला उठाया था। गोर्हे ने कहा कि राज्य में कंजारभाट समाज में कौमार्य परीक्षण की प्रथा है। विवाह के बाद लड़की का कौमार्य परीक्षण किया जाता है। इस प्रथा को बंद करने के लिए कंजारभाट समाज के कुछ युवा सामने आए हैं। लेकिन कंजारभाट समाज के लोग पंचों को बुलाकर कौमार्य परीक्षण प्रथा का विरोध कर रहे युवाओं को परेशान करते हैं। सरकार को लोगों को जागरूक करने वाले युवाओं को पुलिस सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए।


गड़चिरोली दुष्कर्म मामले में आरोपी गिरफ्तार
- नीलम गोर्हे ने कहा कि गड़चिरोली में दुष्कर्म की घटना के बाद पंचों ने मटन और शराब की पार्टी का फरमान सुनाया था। इसके जवाब में पाटील ने कहा कि गड़चिरोली के धानोरा तहसील के मोहर्ली में हुई घटना में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

ऐसे सुर्खियों में आया यह मामला

- 14 जनवरी को पुणे के विश्रांतवाडी में वर्जिनिटी टेस्ट होने के बाद शादी के मंडप में लड़की के पिता को पंचायत के लोगों के सामने पंचों को पैसा देकर उसकी शादी अधिकृत करने के लिए मजबूर किया गया था।
- कंजारा भाट समाज में आज भी शादी के बाद वर्जिनिटी टेस्ट की जाती है। जांच करने के लिए जात पंचायत बैठाई जाती और पैसों की मांग की जाती है। इसके बाद इन्हें शादी की अनुमति दी जाती है।
- इसी वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध कंजारा भाट समाज के कुछ पढ़े-लिखे लड़के-लड़कियों ने किया है। इसका विरोध करने वालों की मांग है कि ऐसी प्रथाएं बंद की जाएं।
- इसके लिए फेसबुक, व्हाट्स ऐप पर इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसे लेकर Stop the "V" Ritual नाम का वॉट्स ऐप ग्रुप भी तैयार किया है। इस ग्रुप में 70 से 80 लड़के-लड़कियां जुड़े हुए हैं।
- इस मुहिम को शुरू करने वालों का आरोप है कि ग्रुप के पॉपुलर होने से कंजारा समाज के लोग उनके खिलाफ हो गए और रविवार को उन्हें घेर कर उनके साथ मारपीट की।

इस मामले के खिलाफ आवाज उठाने वाले युवकों की पिटाई भी हो चुकी है। इस मामले के खिलाफ आवाज उठाने वाले युवकों की पिटाई भी हो चुकी है।
X
.महाराष्ट्र के कंजारा भाट समाज में शादी से पहले वर्जिनिटी टेस्ट की कुप्रथा है।.महाराष्ट्र के कंजारा भाट समाज में शादी से पहले वर्जिनिटी टेस्ट की कुप्रथा है।
इस मामले के खिलाफ आवाज उठाने वाले युवकों की पिटाई भी हो चुकी है।इस मामले के खिलाफ आवाज उठाने वाले युवकों की पिटाई भी हो चुकी है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..