Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Divyamarathi Marathi Literature Festival The Heart Of Matter

प्रेम जटिल नहीं सरल और मासूम, 'द हार्ट आॅफ मैटर' में युवा साहित्यकारों ने रखी बात

दिव्य मराठी के लिटरेचर फेस्टिवल के'द हार्ट आॅफ मैटर' सेशन विभिन्न प्रांतों से आए युवा साहित्यकारो अपने विचार रखें।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 11:00 AM IST

  • प्रेम जटिल नहीं सरल और मासूम, 'द हार्ट आॅफ मैटर' में युवा साहित्यकारों ने रखी बात
    +1और स्लाइड देखें
    युवा साहित्यकारों ने प्रेम को लेकर अपने विचार रखें।
    नासिक.प्रेम मानवी संबंधों का एक महत्वपूर्ण धागा है। प्रेम जटिल नहीं बल्कि सरल और मासूम होता है, लेकिन हम जिससे प्रेम करते हैं उसे आई लव यू कहना बड़ा कठिन होता है। प्रेम पूरी तरह से व्यक्त करने पर एक प्रकार का खालीपन महसूस होता है, इसलिए प्यार में सारी चीजें बताई नहीं जानी चाहिए। यह कहना है युवा साहित्यकार आशीष चौधरी का। दिव्य मराठी के लिटरेचर फेस्टिवल के तीसरे दिन 'द हार्ट आॅफ मैटर' सेशन में भारत के विभिन्न प्रांतों से आए युवा साहित्यकारों ने प्रेम को लेकर अपने विचार रखें। आशीष के अलावा डाॅ. नीलिमा चौहान, डाॅ. सुनील आज़ाद और नीलोत्पल मृणाल इस सेशन में शामिल हुए। कार्यक्रम का सूत्र संचालन DainikBhaskar.com के एडिटर अनुज खरे ने किया। प्रेम को योनि शुचिता से न जोड़ें.....
    -युवा साहित्यकार नीलिमा चौहान ने सेशन में अपनी बात रखते कहा कि पुरुष प्रधान व्यवस्था में प्यार में स्त्री की बगावत अपरिहार्य है।
    -किसी भी महिला को एक ही व्यक्ति से प्यार करने का पुरुष प्रधान विचार को लेकर उन्होंने आपत्ति भी जताई।
    -चौहान ने आगे कहा कि किसी भी स्त्री को योनि शुचिता, पवित्रता जैसी परंपरा के अनुसार जीना पड़ता है लेकिन पुरुष इस दायरे में नहीं जी सकता।
    -पुरुष प्रधान व्यवस्था ने स्त्री को इमेज के बंधन में बांध रखा है। स्त्री को मुक्त होने के लिए अपनी मन की भावना व्यक्त करने जैसा माहौल अपने समाज में नहीं है। मैं अपने लेखन से यह माहौल ढूंढने का प्रयास कर रही हूं।
    डाॅ. सुनील आजाद ने कहा कि प्रेम महासागर और महाकाव्य जैसा होता है, वह एक तरफा नहीं हो सकता।
    -नीलोत्पल ने बताया कि अपना मिट्टी से जो नाता है वह टूट नहीं सकता। हमारे साहित्य को परंपरा की ओर जाना ही होगा।
  • प्रेम जटिल नहीं सरल और मासूम, 'द हार्ट आॅफ मैटर' में युवा साहित्यकारों ने रखी बात
    +1और स्लाइड देखें
    कार्यक्रम का सूत्र संचलन DainikBhaskar.com के एडिटर अनुज खरे ने किया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×