Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Man Give Photography Training To Blind People

1100 नेत्रहीनों को फोटोग्राफर बना चुका है यह शख्स, फूटपाथ पर मिला था आईडिया

दिव्य मराठी के लिटरेचर फेस्टिवल में भौमिक और उनका नेत्रहीन स्टूडेंट भावेश पटेल का 'अ वर्ल्ड ऑफ पॉसिबिलिटीज बाइ यूज ऑफ ला

मंदार जोशी | Last Modified - Nov 05, 2017, 05:56 PM IST

  • 1100 नेत्रहीनों को फोटोग्राफर बना चुका है यह शख्स, फूटपाथ पर मिला था आईडिया
    +2और स्लाइड देखें
    दिव्य मराठी लिटरेटर फेस्टिवल में पार्थो भौमिक और भावेश पटेल ने अपने फोटोग्राफी के किस्से सुनाए।
    नासिक.जो लोग अपनी आंखों से दुनिया नहीं देख सकते है, उनके काम को लेकर हमेशा संदेह किया जाता है। नेत्रहीन भी प्रोफेशनल फोटोग्राफर की तरह अच्छी तस्वीरें खींच लोगों को चौंका सकते हैं इस पर कोई यकीन नहीं करेगा, लेकिन एेसा हुआ है। मुंबई में रहने वाले पार्थो भौमिक ने पिछले 11 सालों में 1100 नेत्रहीनों को फोटोग्राफी का प्रशिक्षण देकर उन्हें प्रशिक्षित किया है। दिव्य मराठी के लिटरेचर फेस्टिवल में भौमिक और उनका नेत्रहीन स्टूडेंट भावेश पटेल का 'अ वर्ल्ड ऑफ पॉसिबिलिटीज बाइ यूज ऑफ लाइफ' सेशन में अंजना तिवारी ने इंटरव्यू लिया। वहीं DainikBhaskar.com के एडिटर अनुज खरे ने दोनों को सम्मानित किया। कार्यक्रम का सूत्र संचालन एेश्वर्या उखाणे ने किया। कैटरीना भी कर चुकी है तारीफ...
    -पार्थो जॉॅब करते थे, 2006 में वे फ्लोरा फाउंटेन इलाके में घूम रहे थे। उन्हें फुटपाथ पर मैगजीन मिला। उसमें एक नेत्रहीन लोगों की फोटोग्राफी पर एक आर्टिकल छपा था।
    - आर्टिकल पढ़कर पार्थो ने नेत्रहीन लोगों को फोटोग्राफी सिखाने का फैसला किया। पहले उन्हें एक स्टूडेंट मिला। अब यह संख्या 1100 तकत पहुंची है।
    - उन्होंने अपने इंटरव्यू में बताया कि नेत्रहीन लोग दुनिया में जो कलाएं है उसका लुत्फ उठा सके और इससे उनके चेहरे पर जो खुशी मिलती है। इससे अन्य लोगों को प्रोत्साहन मिलता है।
    - भौमिक ने बताया कि दुनिया कुछ भी असंभव नहीं है। यहीं हम इसके माध्यम से बताना चाहते हैं।
    नेत्रहीन स्टूडेंट ने खींची कैटरीना की फोटो
    -मुंबई के सेंट जेवियर्स कॅालेज का नेत्रहीन स्टूडेंट भावेश पटेल को पार्थो भौमिक ने फोटोग्राफी का प्रशिक्षण दिया है।
    -भावेश ने कुछ दिन पहले लक्स साबुन के एड के लिए कैटरीना कैफ के फोटो खींचे थे। जब कैटरीना ने यह फोटो देखें तो उस उसे विश्वास नहीं हुआ।
    पार्थो के आग्रह करने पर भावेश को प्रोफेशनल फोटोग्राफर की तरह पैसे भी दिए गए। अब तक जगहों पर नेत्रहीन फोटोग्राफर्स के फोटोज की एग्जीबिशन लगाई गई है।

    ऐसे दी जाती है ट्रेनिंग
    नेत्रहीन फोटोग्राफर्स को प्रशिक्षण देते समय स्पर्श अनुभव और आवाज का आधार लिया जाता है।
    -उन्होंने यह भी बताया कि देख सकने वाले लोगों के लिए भी हम आंखों पर पट्टी बांधकर फोटोग्राफी करने का प्रशिक्षण दे रहे हैं।
    -ईश्वर एक शक्ति हमसे ले लेता तो वह दूसरी दे देता है, बस वह हमें समझना जरुरी होता है।
    -पार्थो नेत्रहीन फोटोग्राफर्स द्वारा खींचे गए फोटोज की एक खास बुक भी पब्लिश करते हैं। बुक में फोटो को स्पर्श करने पर उसकी डिटेल्स सुनाई देती है।
  • 1100 नेत्रहीनों को फोटोग्राफर बना चुका है यह शख्स, फूटपाथ पर मिला था आईडिया
    +2और स्लाइड देखें
    अंजना तिवारी ने दोनों का इंटरव्यू लिया।
  • 1100 नेत्रहीनों को फोटोग्राफर बना चुका है यह शख्स, फूटपाथ पर मिला था आईडिया
    +2और स्लाइड देखें
    नेत्रहीन फोटोग्राफर्स के फोटोज की अनोखी किताब दिखाते हुए पार्थो भौमिक।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×