--Advertisement--

नागपुर में भाजपा कार्यकर्ता समेत परिवार के 5 सदस्यों की हत्या, पुलिस को किसी करीबी पर शक

यह घटना मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के गृह नगर की है ऐसे में शहर की कानून व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 04:52 PM IST

  • भाजपा कार्यकर्ता कमलाकर पोहणकर, उनकी पत्नी, मां, बेटी और भतीजे की हत्या की गई
  • छोटी बेटी और भतीजी दूसरे कमरे में सो रही थीं वे सुरक्षित हैं

नागपुर. शहर के आराधना नगर इलाके में भाजपा कार्यकर्ता कमलाकर पोहणकर समेत परिवार के पांच सदस्यों की बेरहमी से हत्या कर दी गई। घटना रविवार देर रात की बताई जा रही है। सभी को मारने के लिए धारदार हथियार का इस्तेमाल किया गया। कमलाकर की छोटी बेटी और भतीजी दूसरे कमरे में सो रही थीं वे सुरक्षित हैं। पुलिस को कमलाकर के साले पर शक है। हालांकि, हत्या की वजह साफ नहीं है। नागपुर मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस का गृह नगर है। ऐसे में घटना ने शहर की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

बेडरूम से किचन और बाथरूम तक लाशें बिखरी थीं

- पुलिस ने बताया कि कमलाकर उनकी पत्नी अर्चना (45), बेटी वेदांती (12), मां मीराबाई (73) और भतीजे कृष्णा की हत्या की गई है। कमलाकर की छोटी बेटी मिताली (9) और भतीजी वैष्णवी (7) दूसरे कमरे में सो रही थीं, लिहाजा उनकी जान बच गई।
- कमलाकर की बेटी और भतीजी ने सुबह पड़ोसियों को घटना की जानकारी दी। उन्होंने पुलिस को सूचना दी।
- पुलिस घर में दाखिल हुई तो देखा बेडरूम से किचन और बाथरूम तक लाशें बिखरी पड़ी थीं।

साले पर हत्या का शक
- मामले की जांच कर रहे नागपुर पुलिस के डीसीपी नीलेश भरणे ने बताया कि कमलाकर के घर के सामने उसके साले विवेक पालटकर की बाइक मिली है, लेकिन उसका फोन बंद आ रहा हैं। इस घटना में विवेक का बेटा मारा गया।
- पुलिस को शक है की विवेक का इस हत्या में लिंक हो सकता है। विवेक पर साल 2014 में अपनी पत्नी सविता की हत्या का आरोप है। वह कुछ दिन पहले ही जेल से रिहा हुआ है। पुलिस कमलाकर की कॉल डिटेल्स से भी हत्या के सुराग तलाश रही है।

प्रॉपर्टी डीलिंग विवाद भी हत्या का कारण हो सकता है
- कमलाकर प्रॉपर्टी की खरीद-फारोख्त भी करते थे। पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि पैसों के लेन-देन को लेकर कुछ समय पहले उनका कुछ लोगों से विवाद हुआ था। पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर रही है।
- घर के अंदर से लूटपाट, छीना-झपटी या चोरी का कोई निशान नहीं मिला है। घर का दरवाजा भी अंदर से खुला हुआ था। इसलिए माना जा रहा है कि इस हत्याकाण्ड में किसी परिचित का हाथ हो सकता है।

परिवार के सदस्यों के शव अलग-अलग कमरों में मिले। परिवार के सदस्यों के शव अलग-अलग कमरों में मिले।
पुलिस का मानना है कि हमलावर दो या दो से ज्यादा हो सकते हैं। पुलिस का मानना है कि हमलावर दो या दो से ज्यादा हो सकते हैं।
X
परिवार के सदस्यों के शव अलग-अलग कमरों में मिले।परिवार के सदस्यों के शव अलग-अलग कमरों में मिले।
पुलिस का मानना है कि हमलावर दो या दो से ज्यादा हो सकते हैं।पुलिस का मानना है कि हमलावर दो या दो से ज्यादा हो सकते हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended