न्यूज़

--Advertisement--

शादी के मंडप में घंटों बैठी रही दुल्हन, नहीं आया दूल्हा, थाने पहुंचा मामला

दुल्हन न कुछ कह पा रही थी, न कुछ समझ पा रही थी, बस उसके मन में यही सवाल कौंध रहा था कि आखिर उसके साथ ऐसा क्यों हुआ।

Danik Bhaskar

Jun 04, 2018, 12:07 PM IST

नागपुर. हाथों में सुर्ख मेहंदी, आंखों में न जाने कितने सपने संजोए शादी के जोड़े में सजी दुल्हन सिसक-सिसक कर रोती रही। क्योंकि जिसके साथ जीने और मरने की कसमें खाईं, वो शादी के मंडप पर नहीं पहुंचा। दो घंटे तक जब दुल्हे की कोई खबर नहीं लगी, तो परिजन थाने पहुंच गए। दुल्हन न कुछ कह पा रही थी, न कुछ समझ पा रही थी, बस उसके मन में यही सवाल कौंध रहा था कि आखिर उसके साथ ऐसा क्यों हुआ।

दूल्हे का इंतजार करती रही, लेकिन वो नहीं आया
- रविवार दोपहर दो बजे राधिका शादी के मंडप में दूल्हे का इंतजार कर रही थी। वक्त बीतता गया और राधिका के दूल्हे यानी प्रवीण का कुछ पता नहीं था।
- राधिका की मां का आरोप है कि प्रवीण की मां ने उसे कहीं भगा दिया। उसे शादी में शामिल होने नहीं दिया गया। बताया जा रहा है कि दोनो के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। पिछले 10 साल से वो एक दूसरे को अच्छी तरह जानते थे। इसी बीच दोस्ती गहरी हो गई। बात जब आगे बढ़ी, तो कुछ समय बाद प्रवीण ने शादी करने से साफ इंकार कर दिया था। जिसके बाद - 22 मई को सकलदरा थाने में पंचायत हुई थी। इस दौरान फैसला हुआ था कि दोनो की शादी कराई जाएगी। शादी की तारीक 3 जून रखी गई थी। इनविटेशन कार्ड छप गए और तय समय के मुताबिक सभी रिश्तेदार समारोह स्थल पर पहुंचे। लेकिन मंडप में दूल्हा नहीं पहुंचा।


सिसक-सिसक कर रोती रही दुल्हन
- सेवादल नगर, भांडे प्लाट रहवासी प्रवीण की मां का कहना कुछ और ही है। उन्होंने बताया कि शादी के कार्ड छपने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। बेटे प्रवीण ने बताया था कि उसे हल्दी लगने वाली है। जिसके लिए वो घर से निकला था। इसके बाद वो कहां गया इस बात की उन्हें खबर नहीं है। उधर लड़की का रो-रो कर बुरा हाल है। वहां मौजूद पुलिसवाले और रिश्तेदारों ने उसे काफी समझाने की कोशिश की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

Click to listen..