--Advertisement--

बाइक से गिरे क्रिकेटर शार्दुल ठाकुर के माता-पिता, सिर और हाथ में लगी चोट

एक दिन पहले ही शार्दुल का सिलेक्शन अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले इकलौते टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम में किया गया है।

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 12:39 PM IST
दोनों पालघर के एक निजी अस्पताल में भर्ती है। दोनों पालघर के एक निजी अस्पताल में भर्ती है।

मुंबई. टीम इंडिया के फास्ट बॉलर शार्दुल ठाकुर के माता-पिता मंगलवार देर रात एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। यह एक्सीडेंट मुंबई के पास पालघर जिले में हुआ है। दोनों एक शादी से वापस लौट रहे थे इसी दौरान यह हादसा हुआ है। देर रात दोनों को पालघर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से पिता को इलाज के लिए मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया। उनके सिर में ब्लड क्लॉट के बाद वोमिटिंग हो रही थी। गौरतलब है कि शार्दुल और उनका परिवार महाराष्ट्र के पालघर का रहनेवाला है। बता दें कि एक दिन पहले ही शार्दुल का सिलेक्शन अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले इकलौते टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम में किया गया है।

ऐसे हुआ एक्सीडेंट
- जानकारी के मुताबिक, मंगलवार रात पालघर में शार्दुल के माता-पिता हंसा ठाकुर और नरेंद्र ठाकुर एक शादी समारोह से मोटरसाइकल पर लौट रहे थे। तभी रास्ते में मोटरसाइकल फिसल गई जिससे दोनों गिर पड़े।
- ज्यादा अंधेरा हो जाने के कारण और सड़क पर अचानक ब्रेक लगाने के कारण यह एक्सीडेंट हुआ।

पिता को लीलावती हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया
- रात तकरीबन 11 बजे दोनों को पालघर जिले के धावले चैरिटेबल हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया।
- हॉस्पिटल के डॉक्टर डॉ प्रकाश गुडडोस्कर ने बताया कि शार्दुल के पिता का सीटी स्कैन करवाया गया है। रिपोर्ट में उनके सिर पर ब्लड क्लॉट मिले हैं। जिसके बाद उन्हें मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया गया है।
- डॉ प्रकाश ने बताया," शार्दुल के पिता डायबिटिक हैं और हाइपर टेंशन से जूझ रहे हैं। कुछ दिनों पहले इनकी दो हार्ट सर्जरी हुई है। हॉस्पिटल में आने के बाद उन्हें वोमेटिंग भी हुई है। जिसके बाद उन्हें मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में शिफ्ट करने का फैसला लिया गया है। जबकि उनकी मां को प्राथमिक उपचार के बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।"

जल्द ही मिलने जाएंगे शार्दुल
- गौरतलब है कि शार्दुल इस वक्त इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेल रहे हैं। कहा जा रहा है कि एक्सीडेंट के बाद उन्होंने अपने पेरंट्स से फोन पर बात की है और जल्द मिलने आने का भरोसा दिया है।
- शार्दुल अपने सादे जीवन के लिए जाने जाते हैं। पालघर के रहने वाले शार्दुल ट्रेनिंग के दिनों में जिस लोकल ट्रेन से पालघर और अंधेरी के बीच सफर करते थे, उसी में साउथ अफ्रिका से टूर्नमेंट खेलने के बाद लौटकर बैठे थे। इस खबर ने मीडिया में खूब सुर्खियां बटोरी थी।

ऐसा रहा है शार्दुल का क्रिकेट करियर

- शार्दुल ठाकुर को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक रहा, वे 13 साल की उम्र से सुबह 3.30 बजे उठकर क्रिकेट सीखने के लिए मुंबई के चर्चगेट स्टेशन जाया करते थे।
- स्कूल क्रिकेट के दौरान ही वे 6 बॉल पर 6 सिक्स लगाकर फेमस हो गए थे। उन्होंने अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू नवंबर 2012 रणजी ट्रॉफी में राजस्थान टीम के खिलाफ खेलते हुए किया था। हालांकि उनकी शुरुआत बेहद खराब थी, क्योंकि शुरुआती चार मैचों में वे केवल 4 विकेट ही ले सके थे।
- अगले साल यानी 2013-14 रणजी ट्रॉफी में उन्होंने शानदार परफॉर्म करते हुए 6 मैचों में 26.25 के एवरेज से 27 विकेट लिए थे। इनमें से एक मैच में उन्होंने 5 विकेट निकाले थे।
- 2014-15 रणजी ट्रॉफी में तो उनकी परफॉर्मेंस और बेहतर हो गई। इस सीजन में उन्होंने 10 मैचों में 20.81 के एवरेज से कुल 48 विकेट लिए। इस सीजन में वे संयुक्त रूप से टॉप विकेट टेकर बॉलर रहे।
- इस परफॉर्मेंस के बाद उनका सिलेक्शन ऑस्ट्रेलिया ए और साउथ अफ्रीका ए टीम के खिलाफ होने वाले चार दिवसीय मैचों के लिए इंडिया ए टीम में हो गया। इसी साल उन्होंने बोर्ड प्रेसिडेंट इलेवन टीम की ओर से साउथ अफ्रीका के खिलाफ प्रैक्टिस मैच खेला।
- 2015-16 के रणजी ट्रॉफी फाइनल में उन्होंने सौराष्ट्र क्रिकेट टीम के खिलाफ कुल 8 विकेट लिए। उन्हीं की इस परफॉर्मेंस की वजह से मुंबई की टीम 41वीं बार रणजी ट्रॉफी चैम्पियन बनी।
- 2014 IPL सीजन में शार्दुल को किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 20 लाख रुपए में खरीदा। 2015 IPL उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्सटीम के लिए खेला। वहीं इस साल हुए IPL में वे राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स टीम से खेले।
- शार्दुल ने अबतक 49 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिसमें वे 169 विकेट ले चुके हैं। वहीं 33 लिस्ट ए मैचों में उनके नाम पर 55 विकेट दर्ज हैं। इसके अलावा 30 टी-20 मैचों में वे 32 विकेट ले चुके हैं।

सचिन की सलाह मानी, बदल गई लाइफ
- साल 2012 में क्रिकेट में करियर बनाने की कोशिश कर रहे शार्दुल का वजन बेहद ज्यादा था, तब उनका वजन 83 किलो तक हो गया था।
- डेब्यू सीजन में उनकी बॉलिंग से ज्यादा चर्चा उनके बढ़े हुए वजन को लेकर हुई थी। उस वक्त उन्हें कई लोग वजन कम करने की सलाह दे रहे थे, लेकिन शार्दुल पर कुछ असर नहीं हो रहा था।
- इसी दौरान उनकी मुलाकात मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर से हुई। जिन्होंने भी शार्दुल को समझाते हुए यही कहा कि अगर क्रिकेट में करियर बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले अपनी फिटनेस पर ध्यान देना होगा।
- सचिन के कहने के बाद शार्दुल को ये बात समझ में आ गई और उन्होंने अपना वजन कम करते हुए खोई फिटनेस हासिल की। इस दौरान उन्होंने 13 किलो वजन कम कर लिया था।

शार्दुल के पिता का हाथ फ्रेक्चर हुआ है। शार्दुल के पिता का हाथ फ्रेक्चर हुआ है।
शार्दुल ने लोकल ट्रेन में मुंबई से पालघर तक की यात्रा की थी। शार्दुल ने लोकल ट्रेन में मुंबई से पालघर तक की यात्रा की थी।
X
दोनों पालघर के एक निजी अस्पताल में भर्ती है।दोनों पालघर के एक निजी अस्पताल में भर्ती है।
शार्दुल के पिता का हाथ फ्रेक्चर हुआ है।शार्दुल के पिता का हाथ फ्रेक्चर हुआ है।
शार्दुल ने लोकल ट्रेन में मुंबई से पालघर तक की यात्रा की थी।शार्दुल ने लोकल ट्रेन में मुंबई से पालघर तक की यात्रा की थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..