--Advertisement--

राजस्व मंत्री पाटील ने कहा: मरीजों के परिजनों के आवास की व्यवस्था करेगी सरकार

निजी संस्थाओं की मदद से मरीजों के रहने और उनके भोजन की व्यवस्था की जाएगी।

Danik Bhaskar | May 08, 2018, 10:12 AM IST
राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील। राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील।

मुंबई. राज्यभर के ग्रामीण इलाकों से मरीजों को मुंबई लेकर आने वाले परिजनों के महानगर में रहने की व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। इसके लिए प्रदेश के राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील ने पहल की है। पाटील मरीजों के परिजनों को रहने के लिए उपनगर के सायन इलाके में किराए पर जगह खोज रहे हैं। जिसमें निजी संस्थाओं की मदद से मरीजों के रहने और उनके भोजन की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए सरकार अपनी तरफ से कोई निधि खर्च नहीं करेगी।

मरीजों के परिजनों को होती है बड़ी दिक्कत
- मंत्री पाटील के कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के ग्रामीण इलाकों से मुंबई के टाटा कैंसर अस्पताल और केईएम जैसे बड़े अस्पतालों में इलाज के लिए मरीजों और उनके परिजनों को आना पड़ता है।
- परिजन इस शहर में दो-चार दिन ठहरने की व्यवस्था कर लेते हैं लेकिन कई बार मरीजों को गंभीर बीमारी होती है। उनका स्वास्थ्य ठीक होने में महीनों लग जाता है। ऐसे में परिजनों को यहां रहने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसके मद्देनजर यह व्यवस्था की जा रही है।

पांच रुपए में मिल रहा भोजन
- अधिकारी ने कहा कि कोल्हापुर में मंत्री पाटील ने एक निजी संस्था की मदद से पांच रुपए में भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई है। जिसका लाभ विद्यार्थयों के साथ-साथ नौकरीपेशा लोग भी ले रहे हैं। इस तरह की सेवा मरीजों के परिजनों के लिए भी उपलब्ध कराने का विचार है।

कई निजी संस्थाओं की मदद से मरीजों के रहने और उनके भोजन की व्यवस्था की जाएगी। कई निजी संस्थाओं की मदद से मरीजों के रहने और उनके भोजन की व्यवस्था की जाएगी।