Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Govandi Women Murder Mystery Solved By Mumbai Police.

ड्रम में मिली थी सेक्स वर्कर की लाश, 13 दिन बाद सुलझी हत्या की गुत्थी

हत्या के इस मामले में नेरुल से एक 60 वर्षीय बुजुर्ग को अरेस्ट किया गया है।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - May 25, 2018, 04:58 PM IST

    • इसी ड्रम के अंदर से बरामद हुई थी महिला की लाश(बाएं)। CCTV की सहायता से पुलिस आरोपी तक पहुंचने में कामयाब हुई।

      मुंबई.शहर के शिवाजी नगर पुलिस ने 13 दिन पहले शहर के गोवंडी इलाके से बरामद सेक्स वर्कर की लाश की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस के मुताबिक, महिला की हत्या कर उसे एक ड्रम में छिपा दिया गया था। हत्या के इस मामले में नेरुल से एक 60 वर्षीय बुजुर्ग को अरेस्ट किया गया है। पुलिस को शक है की इस हत्याकांड में आरोपी की पत्नी भी शामिल है, जो फिलहाल फरार है।

      शव की गुत्थी सुलझाने के लिए बनाई गई 6 टीमें
      - मुंबई पुलिस उपायुक्त शहाजी उमाप ने बताया, "11 मई को दोपहर तीन बजे गोवंडी के नटवर पारेख कंपाउंड की इमारत नंबर एक के पास एक नीले रंग के पानी के ड्रम में करीब 40 वर्षीय अज्ञात महिला का शव मिला था। जानकारी मिलते ही पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। लेकिन कई दिनों की तफ्तीश के बाद भी पुलिस को सफलता नहीं मिल रही थी। जिसके बाद शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दीपक पगारे व पुलिस निरीक्षक (अपराध) हुसेन जतकर के नेतृत्व में सहायक पुलिस निरीक्षक संतोष नरुटे, सचिन कदम, अविनाश पोरे, उत्तम रिकामे, पुलिस उप निरीक्षक अमोधसिद्ध ओलेकर,अमित यादव,मयूर तेरदालकर,संदीप पाटिल और अमोल अम्बवने को मिला कर पुलिस की 6 टीमें गठित की गई थी। जिसमे शिवाजी नगर के अलावा तिलक नगर,चेम्बूर और मुलुंड पुलिस ठाणे के पुलिस अधिकारी भी शामिल थे।"

      ऐसे आरोपी तक पहुंची पुलिस
      - शिवाजी नगर पुलिस ठाणे के पुलिस उप निरीक्षक अमोघसिद्ध ओलेकर ने बताया, "हमने म्हाडा कालोनी की इमारतों में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया। वहीं एक छोटा सुराग मिला। जिस जगह शव बरामद हुआ था उसके आसपास एक लाल रंग का थ्री वीलर कई बार घूमता नजर आया था। उसी टेम्पो में नीले रंग का पानी का ड्रम भी रखा हुआ था। इसके बाद उस थ्री व्हीलर की तलाश शुरू हुई और फिर रिक्शे के नंबर से चालक को हिरासत में लिया गया। पूछताछ की गयी तो पता चला कि आरोपी ने नवी मुंबई की एपीएमसी मार्केट के पास से ड्रम खरीदा था और 600 रुपए रिक्शे का भाड़ा देकर इसे यहां लाया था। इसके बाद जब एपीएमसी मार्केट के सीसीटीवी को खंगाला गया तो पता चला वह ड्रम बाबू भगवान पटेल नाम के शख्स ने खरीदा था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी बाबू भगवान पटेल को नेरुल के करावे गांव से हिरासत में लिया।"

      बचने के लिए आरोपी ने यह दिया तर्क
      - पुलिस सूत्रों के अनुसार इस हत्या में आरोपी की पत्नी नेहा भी शामिल हो सकती है। नेहा वारदात के दूसरे दिन से ही फरार है। वह जलगांव जाने के बहाने घर से निकली थी। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम जलगांव रवाना हो गई है।
      - बाबू ने पूछताछ में बताया कि मृतक महिला उसकी पत्नी की दोस्त थी और उससे मिलने घर पर आई थी। रात को वहीं रुक गई और सुबह नहीं उठी जिसके बाद वो घबरा गया। पुलिस के चक्कर से बचने के लिए उसने उसके शव को छिपाने की प्लानिंग की थी।

      सेक्स वर्कर थी महिला
      - पुलिस के मुताबिक, महिला दादर इलाके में अकेली रहती थी। जांच में यह भी सामने आया है कि वह देह व्यापार के धंधे में भी लिप्त थी।

    • ड्रम में मिली थी सेक्स वर्कर की लाश, 13 दिन बाद सुलझी हत्या की गुत्थी
      +1और स्लाइड देखें
      आरोपी को अरेस्ट कर कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×