--Advertisement--

किसानों संग धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ कड़े कानून बने: शरद पवार

इस सालाना सम्मेलन का उद्घाटन शरद पवार के हाथों किया गया।

Danik Bhaskar | Aug 24, 2018, 01:05 PM IST

पुणे. पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने किसानों के साथ धोखाधड़ी करनेवालों पर कार्रवाई हेतु कड़े कानून बनाने की जरूरत बताई है। पवार शुक्रवार को महाराष्ट्र राज्य अंगूर उत्पादक संघ के 58वें सालाना सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने अंगूर उत्पादकों को सलाह देते हुए कहा, "अंगूर ही नहीं बल्कि फलों के उत्पादन और निर्यात में हम अग्रणी हैं, मगर इसमें विश्वसनीयता काफी मायने रखती है, इसका ध्यान देना जरूरी है।"

और क्या बोले पवार?

- पुणे के शिव छत्रपति क्रीड़ा संकुल में इस सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि अंगूर निर्यात में भारत का हिस्सा 6 से सात फीसदी है। ऐसे में अंगूर उत्पादकों को निर्यात क्षेत्र में काफी अवसर हैं। इसके लिए दर्जेदार उत्पादन बढ़ाने की आवश्यकता है। इसकी वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में विश्वसनीयता बनाकर देश का नाम ऊंचा किया जा सकता है। उन्होंने आगे कहा कि हरित क्रांति के बाद भारत की पहचान एक निर्यातक देश के रूप में हुई है। अंगूर के साथ ही फलों के उत्पादन और निर्यात में हम आगे हैं। चावल, गेंहू, फल और कपास निर्यात में हम दूसरे नंबर पर हैं। अव्वल स्थान पाने के लिए किसानों औऱ विज्ञानियों के बीच समन्वय होना जरूरी है। अंगूर की खेती और निर्यात में कई चुनौतियां हैं उसे मात देकर आगे बढ़ने के विशेष प्रयासों की आवश्यकता बताते हुए पवार ने किसानों से धोखाधड़ी करनेवालों के खिलाफ़ कड़े कानून बनाने की बात दोहराई। इस सालाना सम्मेलन का उद्घाटन शरद पवार के हाथों किया गया। इस मौके पर संघ के अध्यक्ष सुभाष आरवे, उपाध्यक्ष राजेंद्र पवार, सोपान कांचन आदि उपस्थित थे।