Hindi News »Maharashtra »Pune »News» Kanjarbhat Couple Ties Knot By Rejecting Virginity Test.

कांजरभाट समाज में पहली बार बिना वर्जिनिटी टेस्ट हुई शादी, शुरू हुई थी ग्लोबल मुहिम

कांजरभाट समाज में वर्जिनिटी टेस्ट करना अनिवार्य है, जिसके खिलाफ पिछले छह महीने से विवेक लड़ रहे थे।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - May 15, 2018, 03:49 PM IST

  • कांजरभाट समाज में पहली बार बिना वर्जिनिटी टेस्ट हुई शादी, शुरू हुई थी ग्लोबल मुहिम
    +3और स्लाइड देखें
    विवेक ने बिना वर्जिनिटी टेस्ट के की शादी।

    पुणे.महाराष्ट्र के कांजरभाट समाज में वर्जिनिटी टेस्ट के खिलाफ मुहिम शुरू करने वाले विवेक तामयचिकर ने अपने ही समाज के खिलाफ लड़ाई जीती है। विवेक ने बिना वर्जिनिटी टेस्ट के शादी की। 12 मई को विवेक विवाहबंधन में बंधे। विवेक की शादी ऐश्वर्या भाट से हुई है। दोनों ही कांजरभाट समाज से आते है, दोनों को वर्जिनिटी टेस्ट मंजूर नहीं था। बता दें, कांजरभाट समाज में वर्जिनिटी टेस्ट करना अनिवार्य है, जिसके खिलाफ पिछले 6 महीने से विवेक लड़ रहे थे।

    वर्जिनिटी टेस्ट के खिलाफ शुरू की फेसबुक पर मुहिम
    - विवेक तामयचिकर अपने समाज के खिलाफ की लड़ाई को ग्लोबल बनाया। वर्जिनिटी टेस्ट के खिलाफ विवेक ने 'स्टॉप द वी रिच्युअल' नाम का फेसबुक पेज तैयार किया था। जिसके जरिए उनका मकसद समाज में चल रही इस अनिष्ट प्रथा से महिलाओं को छुटकारा दिलाना था।
    - फेसबुक पेज महज 6 महीने में सोशल मुहिम बन गया। समाज के हर स्तर पर इसकी चर्चा होने लगी। इस बारे में आवाज उठाने वाले विवेक और उनके समर्थकों पर हमला भी हुआ, लेकिन विवेक नहीं हारे।
    - उनका कहना था, जो समाज में बुरा है, उसे खत्म होना चाहिए। मैं अपनी शादी बिना वर्जिनिटी टेस्ट के करना चाहता था। यह टेस्ट अमानवीय है। ऐसा मैं मानता हूं। मेरी शादी से यह शुरुआत हुई है तो आगे जाकर शायद पूरी तरह यह रस्म खत्म हो जाएगी।

    क्या है वर्जिनिटी टेस्ट की प्रथा?
    - महाराष्ट्र के कांजरभाट समाज में ऐसी प्रथा है कि शादी के बाद सुहाग रात को नववधू की वर्जिनिटी टेस्ट ली जाती है, जिसके सफल होने पर उसको घर में सम्मान मिलता है। टेस्ट फेल होने पर कई बार इस लड़की को समाज के बहिष्कार का सामना करना पड़ता है। ऐसे कई मामले सामने आए थे।
    - 'स्टॉप द व्ही रिच्युअल' की मुहिम समाज की इसी सोच को बदलने के लिए छेड़ी गई थी। हालांकि, कांजरभाट समाज इसके सख्त खिलाफ था। अभी पिछले हफ्ते ही वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करनेवाले एक जोड़े की जमकर पिटाई की गई थी।
    - ऐसे में विवेक की शादी ऐश्वर्या से होना वह भी बिना किसी वर्जिनिटी टेस्ट के, यह अपने आप में कांजरभाट समाज के बदलाव की तरफ पहला कदम है। महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिती और शिवसेना ने 'स्टॉप द वी रिच्युअल' मुहिम का समर्थन किया था।

    ऐसे सुर्खियों में आया यह मामला

    - कंजारा भाट समाज में आज भी शादी के बाद वर्जिनिटी टेस्ट की जाती है। जांच करने के लिए पंचायत बैठाई जाती है और पैसों की मांग की जाती है। इसके बाद इन्हें शादी की अनुमति मिलती है।
    - इसी वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध कंजारा भाट समाज के कुछ पढ़े-लिखे लड़के-लड़कियों ने किया है।
    - इसके लिए फेसबुक, व्हाट्स ऐप पर इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसे लेकर Stop the "V" Ritual नाम का वॉट्स ऐप ग्रुप भी तैयार किया है। इस ग्रुप में 70 से 80 लड़के-लड़कियां जुड़े हुए हैं।
    - इस मुहिम को शुरू करने वालों का आरोप है कि ग्रुप के पॉपुलर होने से कंजारा समाज के लोग उनके खिलाफ हो गए।

  • कांजरभाट समाज में पहली बार बिना वर्जिनिटी टेस्ट हुई शादी, शुरू हुई थी ग्लोबल मुहिम
    +3और स्लाइड देखें
    विवेक पिछले 6 महीने से इस प्रथा के को खत्म करने की मुहिम चला रखा था।
  • कांजरभाट समाज में पहली बार बिना वर्जिनिटी टेस्ट हुई शादी, शुरू हुई थी ग्लोबल मुहिम
    +3और स्लाइड देखें
    शनिवार को विवेक ने पूरे धूमधाम से अपनी शादी की है।
  • कांजरभाट समाज में पहली बार बिना वर्जिनिटी टेस्ट हुई शादी, शुरू हुई थी ग्लोबल मुहिम
    +3और स्लाइड देखें
    12 मई को विवाह बंधन में बंधे विवेक और ऐश्वर्या।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×