--Advertisement--

महाराष्ट्र उपचुनाव: पालघर में भाजपा और भंडारा गोंदिया में एनसीपी की जीत

पालघर में जहां 46.50 प्रतिशत मतदान हुआ, वहीं भंडारा-गोंदिया में वोटिंग प्रतिशत 42 रहा।

Danik Bhaskar | May 31, 2018, 05:41 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र की 2 लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के परिणाम आ चुके हैं। पालघर लोकसभा सीट से बीजेपी के राजेंद्र गावित विजयी हो गए हैं। वहीं, भंडार गोंदिया सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) के मधुकर कुकडे ने जीत हासिल की है। यहां कुकडे को 2,70,471 वोट मिले। यहां से भाजपा के हेमंत पटले दूसरे नंबर पर रहे हैं। पटले को 2,43,204 वोट हासिल हुए। दोनों सीटों पर 28 मई को वोटिंग हुई थी। उपचुनावों में पालघर में 46.50 प्रतिशत मतदान हुआ, वहीं भंडारा-गोंदिया में 42 % था। पालघर उपचुनाव में बीजेपी-शिवसेना में मुख्य मुकाबला माना जा रहा था। आज ही महाराष्ट्र के पलूस कडेगांव विधानसभा सीट के उपचुनाव का भी परिणाम आएगा। यह सीट कांग्रेस विधायक पतंगराव कदम के निधन से खाली हुई है। पालघर सीट, बीजेपी सांसद चिंतामण वनगा के निधन से खाली हुई थी।

पालघर सीट के परिणाम/रुझान

पहला राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 11236
शिवसेना 8190
कौन आगे? बीजेपी

दूसरा राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 23271
शिवसेना 18505
कौन आगे? बीजेपी

तीसरा राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 33464
शिवसेना 26318
कौन आगे? बीजेपी

चौथा राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 44869
शिवसेना 34218
कौन आगे? बीजेपी

पांचवा राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 56812
शिवसेना 42578
कौन आगे? बीजेपी

छठवां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 69757
शिवसेना 52893
कौन आगे? बीजेपी

सातवां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 80097
शिवसेना 62680
कौन आगे? बीजेपी

अाठवां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 91795
शिवसेना 73387
कौन आगे? बीजेपी

नौवा राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 102154
शिवसेना 84311
कौन आगे? बीजेपी

10वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 113183
शिवसेना 95772
कौन आगे? बीजेपी

11वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 124166
शिवसेना 105677
कौन आगे? बीजेपी

12 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 134884
शिवसेना 115142
कौन आगे? बीजेपी

13 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 145751
शिवसेना 125740
कौन आगे? बीजेपी

14 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 155608
शिवसेना 136552
कौन आगे? बीजेपी

15 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 166138
शिवसेना 147441
कौन आगे? बीजेपी

16 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 179344
शिवसेना 156757
कौन आगे? बीजेपी

17 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 190492
शिवसेना 168477
कौन आगे? बीजेपी

18 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 201508
शिवसेना 179860
कौन आगे? बीजेपी

19 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 214030
शिवसेना 188307
कौन आगे? बीजेपी

20 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 263683
शिवसेना 237207
कौन आगे? बीजेपी

21 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 237151
शिवसेना 209314
कौन आगे? बीजेपी

22 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 248316
शिवसेना 221449
कौन आगे? बीजेपी

23 वां राउंड

पार्टी वोट
बीजेपी 257506
शिवसेना 231861
कौन आगे? बीजेपी

गोंदिया के 49 बूथों पर फिर हुए चुनाव
- 28 मई को हुए उपचुनाव के दौरान पालघर और गोंदिया में कई जगहों पर ईवीएम खराबी की खबरे भी आई। जिसके बाद बुधवार को गोंदिया के 49 बूथों पर फिर से मतदान हुआ। इन बूथों पर 42 फीसदी वोटिंग हुई।

- शिवसेना के नेता संजय राउत बुधवार को राज्य में सहयोगी भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने मुंबई की पालघर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा कार्यकर्ताओं पर धांधली करने का आरोप लगाया।

- संजय राउत ने चुनाव आयोग पर भी निष्पक्ष न रहने के आरोप जड़े और उसे एक राजनीतिक दल की ‘तवायफ’ तक बता दिया।

पालघर-जीत क्यों अहम
- पालघर परंपरागत रूप से बीजेपी की सीट रही है। स्थानीय स्तर पर बहुजन विकास आघाडी की भी पकड़ है।
- श्रीनिवास वनगा को अपना उम्मीदवार बनाकर शिवसेना की उम्मीदों के पंख लग गए। वनगा परिवार पालघर का सम्मानित परिवार है।

- चुनाव भाजपा व शिवसेना के बीच शक्ति प्रदर्शन का प्रतीक बन गया है। भाजपा अपने स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ को भी प्रचार के लिए यहां भेज चुकी है।

- 2014 में इस सीट पर भाजपा उम्मीदवार चिंतामण वनगा को 5 लाख 33 हजार 201 वोट मिले थे। यह कुल मतदान का 53.7% था। उन्होंने बहुजन विकास अघाडी पार्टी के बलीराम सुकुर जाधव को 2 लाख 39 हजार 520 वोटों से शिकस्त दी थी। जाधव को 29.6% वोट मिले थे।

- कांग्रेस-एनसीपी ने 2014 में इस सीट से कोई उम्मीदवार नहीं उतारा था, लेकिन इस बार साझेदारी करके दामोदर शिंगदा को टिकट दिया है। वो कांग्रेस में रहे भाजपा उम्मीदवार राजेंद्र गावित के वोट काट सकते हैं।

पालघर सीट का गणित
- पालघर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 6 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। इनमें से डहाणू, पालघर, बोइसर, नालासोपारा और वसई में बड़ी संख्या में हिंदी भाषी मतदाता हैं। इन मतदाताओं पर भाजपा की नजर है।
- 6 विधानसभा सीटों में से दो पर भाजपा, एक पर शिवसेना और तीन पर बहुजन विकास आघाडी के विधायक हैं। इस हिसाब से देखा जाए, तो बहुजन विकास आघाडी की ताकत ज्यादा है, लेकिन बहुजन विकास आघाडी के राजनीतिक हित केंद्रीय राजनीति से ज्यादा स्थानीय राजनीति से जुड़े हैं।
- पालघर लोकसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 15-16 लाख के करीब है। इनमें से करीब 25 फीसदी मतदाता हिंदी भाषी हैं। इनमें उत्तरप्रदेश, बिहार, राजस्थान और गुजरात के लोग शामिल हैं।
- राजस्थानी और गुजराती मूल के मतदाता मुख्य रूप से व्यापारी हैं और उत्तर प्रदेश और बिहार के बहुसंख्य मतदाता श्रमिक वर्ग के हैं।

2-भंडारा-गोंडिया (लोकसभा), महाराष्ट्र

क्यों हो रहा उपचुनाव
- भाजपा सांसद नाना पटोले ने मोदी सरकार पर किसानों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था। इसके चलते यह सीट खाली हो गई थी। बाद में उन्‍होंने कांग्रेस की सदस्‍यता ग्रहण कर ली।


मैदान में कौन-कौन
- मुकाबला बीजेपी और एनसीपी के बीच माना जा रहा है। बीजेपी ने यहां से हेमंत पाटले और एनसीपी ने मधुकर कुकडे को मैदान में उतारा है।

क्यों अहम
- महाराष्ट्र में शिवसेना से टकरार चल रही है। यहां मुकाबला एनसीपी व भाजपा के बीच बताया जा रहा है। ऐसे में भाजपा इस सीट पर चुनाव जीत कर एनसीपी पर मनोवैज्ञानिक जीत हासिल करना चाहती है।
- पूर्व भाजपा सांसद ने किसानों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया था। अगर भाजपा यहां से हारती है तो राज्य में किसानों के मध्य एक गलत संदेश जाने का भी अंदेशा है।

- 2014 में यहां नाना पटोले को 6 लाख 6 हजार 129 वोट (50.6%) मिले थे। उन्होंने एनसीपी के दिग्गज नेता प्रफुल्ल पटेल को करीब डेढ़ लाख वोटों से शिकस्त दी थी।

28 प्रतिशत करोड़पति उम्मीदवार
- भंडारा-गोंदिया और पालघर सीट से खड़े उम्मीदवारों में से सात यानी 28 फीसदी करोड़पति प्रत्याशी हैं। कुल छह उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं जिनमें से चार गंभीर मामलों में आरोपी हैं।
- एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) ने सभी 25 उम्मीदवारों द्वारा दायर हलफनामें का अध्ययन किया है। जिसके मुताबिक भाजपा के दोनों उम्मीदवार करोड़पति हैं। जबकि भारिप बहुजन महासंघ, बहुजन विकास आधाडी, राकांपा और कांग्रेस के एक-एक उम्मीदवार करोड़पति हैं।

भाजपा प्रत्याशी गावित के पास 9 करोड़ संपत्ति
- पालघर से भाजपा उम्मीदवार राजेंद्र गावित की संपत्ति सबसे ज्यादा नौ करोड़ रुपए है। गावित पर ही सबसे ज्यादा दो करोड़ 73 लाख रुपए का कर्ज भी है। चार उम्मीदवारों ने अपनी संपत्ति दो लाख रुपए से कम घोषित की है। 25 उम्मीदवारों में से सिर्फ तीन ऐसे थे जिन्होंने अपनी सालाना आय 10 लाख रुपए से ज्यादा घोषित की है। दो उम्मीदवारों ने अपने पैन कार्ड से जुड़ी जानकारी नहीं दी है। दोनों सीटों पर एक भी महिला उम्मीदवार मैदान में नहीं है।

पांचवीं पास भी उम्मीदवार
- उम्मीदवारों में 5 पोस्टग्रैजुएट और 5 के पास ग्रैजुएशन की डिग्री है। इसके अलावा 7 उम्मीदवार 12वीं पास, तीन उम्मीदवार 10वीं पास, 4 उम्मीदवार आठवीं पास और 1 उम्मीदवार सिर्फ पांचवीं पास है। आयुवर्ग की बात करें तो सबसे ज्यादा सात उम्मीदवार 31 से 40 आयुवर्ग के हैं। इसके अलावा 71 से 80 आयुवर्ग का एक, 61 से 70 आयुवर्ग के 5, 51 से 60 आयुवर्ग के चार, 41 से 50 आयुवर्ग के छह जबकि दो उम्मीदवारों की आयु 25 से 30 साल के बीच है।