विधानसभा चुनाव / मंत्री पंकजा मुंडे की चुनावी जनसभा में हंगामा, 6 लोग हिरासत में लिए गए



Maharashtra Assembly election: people create rucks in pankaja munde rally at pimpari
X
Maharashtra Assembly election: people create rucks in pankaja munde rally at pimpari

  • सभा में हंगामे के कारण पंकजा मुंडे को कुछ देर के लिए अपना भाषण भी रोकना पड़ा
  • वे सभी मंत्रालय में कुछ लंबित मसलों को लेकर नारेबाजी कर रहे थे

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2019, 04:24 PM IST

पुणे. शहर से सटे पिंपरी चिंचवाड़ में रविवार को महाराष्ट्र की ग्राम विकास व महिला बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे की प्रचार सभा में कुछ स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया। इनमें ज्यादातर महिलाएं शामिल थीं। सोमवार सुबह इस मामले में 6 लोगों को हिरासत में लिया गया है। फिलहाल सभी से वाकड़ पुलिस स्टेशन में पूछताछ जारी है।

 

सभा में हंगामे के कारण पंकजा मुंडे को कुछ देर के लिए अपना भाषण भी रोकना पड़ा।  वे सभी मंत्रालय में कुछ लंबित मसलों को लेकर नारेबाजी कर रहे थे। इन्हें रोकने के चक्कर में भाजपा कार्यकर्ताओं संग इनकी झड़प भी हुई।

 

ऐसे शुरू हुआ हंगामा

थेरगांव के कैलास मैरिज हॉल में चिंचवड़ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा- शिवसेना महायुति के प्रत्याशी विधायक लक्ष्मण जगताप के प्रचारा के लिए ग्रामविकास मंत्री पंकजा मुंडे की सभा का आयोजन किया गया था। इसमें स्थानीय लोगों ने रिंगरोड, अवैध निर्माणों के नियमितीकरण जैसे लंबित मामलों को उठाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी और सभा में ही पंकजा से जवाब मांगने लगे। जिसके बाद पंकजा ने नारेबाजी करनेवालों को दूसरी पार्टियों का कार्यकर्ता बताया।
 


पंकजा का विरोध करने वालों का कहना था

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी को घर देने की बात कर रहे हैं यहां उन्ही की पार्टी हमारे घरों पर बुलडोजर चलाकार हमें बेघर करने की कोशिश में हैं।

इस हंगामे से स्टेज पर बैठे नेता असहज हो गए। हालांकि, मुंडे ने लोगों से शांत रहने की अपील करते हुए अपना भाषण जारी रखा सभा के बाहर भाजपा समर्थकों और नारेबाजी करनेवाले गुट के बीच झड़प भी हुई।

 

सभा में बोलते हुए पंकजा ने सवाल उठाया: पुणे के लोग परली में क्या कर रहे हैं

  • पुणे जिले के राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ता मेरे चुनाव क्षेत्र में क्यों आ रहे हैं? उन्होंने कहा कि चुनाव में विभिन्न तरह के अफवाह फैलाए जाती हैं। पर उस पर बिना ध्यान दिए कार्यकर्ता काम करते रहें। इससे जीत पाने में मुश्किल नहीं होगी।
  • पुणे शहर व जिले में महायुति का माहौल बेहतर है।  ऐसे में युति के उम्मीदवारों की जीत को लेकर कोई शंका नहीं है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि आज की सभा  प्रचार की नहीं, बल्कि जीत की सभा होनी चाहिए।
  • निवास, स्वच्छतागृह की सुविधा, स्वछता अभियान, जैसी अनेकों योजनाएं केंद्र सरकार ने चलाई हैं। राज्य सरकार  ने महिलाओं के लिए योजनाएं चलाई हैं। महिला बचत गुटों के तहत लगभग 44 लाख महिला जोडे गए हैं।
  • चुनाव के दौरान आघाडी की ओर से कितना भी गलत प्रचार किया जाए पर उसका खास उपयोग विपक्षी दलों को नहीं होगा।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना