--Advertisement--

महाराष्ट्र में बनेगा नागपुर, मुंबई और औरंगाबाद का पर्यटन त्रिकोण

यह गोल्डन ट्राइएंगल जयपुर-दिल्ली-आगरा की तर्ज पर होगा।

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 09:18 AM IST
इसके लिए तीन महीने के भीतर विस इसके लिए तीन महीने के भीतर विस

मुंबई. महाराष्ट्र में देशी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए राज्य का पर्यटन विभाग मुंबई-औरंगाबाद-नागपुर का त्रिकोण बनाएगा। यह गोल्डन ट्राइएंगल जयपुर-दिल्ली-आगरा की तर्ज पर होगा। इस योजना के लिए तीन माह के भीतर विस्तृत प्रारूप तैयार किया जाएगा और सलाहकार फर्म की नियुक्ति के लिए जल्द ही ग्लोबल टेंडर निकाले जाएंगे।

क्या होगा इस प्रोजेक्ट में खास?
- जानकारों की राय में राज्य में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ाई जा सकती है। लेकिन पर्यटकों को आकर्षित करने के मामले में महाराष्ट्र देश के कई राज्यों से पीछे है। इसलिए अब पर्यटन विभाग मुंबई-औरंगाबाद व नागपुर को मिलाकर एक पर्यटन त्रिकोण बनाना चाहता है।
- पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव विजय कुमार गौतम ने 'दैनिक भास्कर' को बताया कि इस पर्यटन त्रिकोण को लोकप्रिय बनाने के लिए इन तीनों जगहों के लिए परिवहन के अच्छे साधनों के अलावा तीनों शहरों के आसपास पर्यटकों के लिए ढांचागत सुविधाओं का विकास करना जरूरी है।
- इसके लिए तीन महीने के भीतर विस्तृत प्रारूप तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी योजना इन तीनों शहरों के आसपास पर्यटकों को विश्वस्तरीय सुविधाएं प्रदान करने की है, ताकि विदेशी पर्यटक भी आकर्षित हों।

मुंबई से औरंगाबाद व नागपुर तक के लिए ऐसा है प्लान
- पर्यटन विभाग की योजना यह है कि पर्यटक पहले मुंबई पहुंचे तो मुंबई के साथ कोंकण के समुद्री किनारों की सैर के बाद औरंगाबाद के लिए रवाना हो सके। वहां अजंता-एलोरा की गुफाओं के साथ अहमदनगर स्थित किले का दीदार कर सके। धार्मिक अभिरुचि वाले पर्यटकों के लिए शिर्डी और शनि शिंगणापुर भी जाने का विकल्प होगा।
- औरंगाबाद से नागपुर पहुंच कर जंगल सफारी का आनंद उठाया जा सकेगा। अमरावती में स्थित मेलघाट भी लोकप्रिय पर्यटन स्थल है।

एंटरटेनमेंट हब बनेगा
-पर्यटकों को इस टूरिस्ट ट्राएंगल से जोड़ने के लिए पर्यटन स्थलों के आसपास मनोरंजन के साधन विकसित करने होंगे। इसमें स्थानीय लोक संगीत के कार्यक्रमों के आयोजन और स्थानीय खानपान शामिल होगा। इलाके के प्राकृतिक स्थलों को पर्यटकों के बीच लोकप्रिय बनाया जाएगा।

समृृद्धि महामार्ग भी साबित होगा मददगार
- पर्यटन विभाग का मानना है कि मुंबई-नागपुर के बीच बनने वाला समृद्धि महामार्ग भी इस त्रिकोण को विकसित करने में काफी मददगार होगा। इससे इन तीनों प्रमुख शहरों के बीच शहर यातायात की अच्छी सुविधा हो जाएगी। जबकि छोटे शहरों के बीच हवाई संपर्क बढ़ाने के लिए शुरू की गई केंद्र सरकार की उडान योजना से भी राज्य पर्यटन त्रिकोण बढ़ाने में मदद मिलेगी।

X
इसके लिए तीन महीने के भीतर विसइसके लिए तीन महीने के भीतर विस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..