--Advertisement--

सिद्धिविनायक मंदिर के अध्यक्ष आदेश बांदेकर को सरकार ने दिया राज्यमंत्री का दर्जा

सरकार ने शासनादेश जारी कर कहा है कि बांदेकर को हर महीने भत्ता समेत अन्य सुविधाएं दी जाएंगी।

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 01:08 PM IST

मुंबई. शिवसेना सचिव व फिल्म अभिनेता आदेश बांदेकर को राज्यमंत्री पद का दर्जा मिला है। आदेश बांदेकर श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर न्यास के वर्तमान अध्यक्ष हैं। इस संबंध में सरकार ने शासनादेश जारी कर कहा है कि बांदेकर को हर महीने हजारों रुपए भत्ते के तौर पर दिए जाएंगे।

कौन हैं आदेश बांदेकर?
- अभिनय से करियर की शुरुआत करने वाले आदेश बांदेकर ने साल 2009 में शिवसेना में प्रवेश किया। उनके करियर की शुरुआत दूरदर्शन के 'ताक धिना धिन' से हुई थी। उसके बाद उन्हें मराठी चैनल के गेम शो 'होम मिनिस्टर' से लोकप्रियता मिली। शिवसेना ने बांदेकर को दादर से मनसे के नितिन सरदेसाई के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा, लेकिन वे चुनाव हार गए। शिवसेना ने बांदेकर को पार्टी का सचिव पद दिया। साल 2017 में वे श्रीसिद्धिविनायक गणपति मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नियुक्त किए गए।

मत्रीपद मिलने के बाद मिलेगा ये लाभ
- राज्य मंत्री पद का दर्जा मिलने के बाद आदेश बांदेकर को प्रतिमाह पारिश्रमिक, बैठक भत्ता, वाहन भत्ते, का लाभ मिलेगा। उनको प्रतिमाह ₹7500 पारिश्रमिक दिया जाएगा। इसके अलावा प्रत्येक बैठक के लिए ₹500 भत्ता, फोन के लिए ₹3000, स्वयं का वाहन उपयोग करने पर प्रतिमाह ₹10000 का वाहन भत्ता, वाहन चालक सहित अन्य सुविधाएं मिलेंगी। राज्य मंत्री पद के लिए आवश्यक सुख सुविधाओं के लिए खर्च सिद्धिविनायक मंदिर न्यास निधि से उपलब्ध कराकर देने का निर्देश सरकार ने दिया है।