--Advertisement--

भंडारा-गोंदिया के 49 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान, गोंदिया के DM पर गिरी गाज

पुनर्मतदान शाम 6 बजे तक जारी होगा। 31 मई को मतगणना होगी।

Danik Bhaskar | May 30, 2018, 09:43 AM IST
भंडारा-गोंदिया के 49 मतदान केंद्रों पर फिर से वोटिंग हो रही है। भंडारा-गोंदिया के 49 मतदान केंद्रों पर फिर से वोटिंग हो रही है।

मुंबई. भंडारा-गोंदिया लोकसभा उपचुनाव में ईवीएम-वीवीपैट मशीनों के खराब होने के कारण 49 मतदान केंद्रों पर बुधवार सुबह 7 बजे से पुनर्मतदान हो रहा है। पुनर्मतदान शाम 6 बजे तक जारी होगा। 31 मई को मतगणना होगी। भंडारा-गोंदिया सीट से बीजेपी सांसद नाना पटोले के पिछले वर्ष इस्तीफा देकर कांग्रेस में चले जाने के कारण यहां उपचुनाव हो रहे हैं।

75 मतदान केंद्रों पर हुई थी मशीन खराब

- 28 मई को हुए मतदान के दौरान 75 मतदान केंद्रों पर वोटिंग मशीनों के खराब होने की शिकायत मिली थी, जिनमें से 35 मतदान केंद्रों पर मशीनों की खामियां दूर नहीं की जा सकीं थीं। यहां पुनर्मतदान की मांग की गई थी।
- यूपी की कैराना लोकसभा सीट पर भी इसी वजह से 73 बूथों पर दोबारा मतदान होगा।

गोंदिया के डीएम हटाये गए
- मंगलवार को अचानक गोंदिया के कलेक्टर अभिमन्यु काले को पद से हटा दिया गया। उनकी जगह पर नागपुर जिला परिषद की सीईओ कादंबरी भगत-बलकवडे को नियुक्त किया गया है।

गोंदिया-भंडार की सीट पर 18 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं

- गोंदिया-भंडार की सीट पर 18 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर कांग्रेस और शिवसेना ने अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है। इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के हेमंत पटले और राकांपा के मधुकरराव कुकड़े के बीच कड़ा मुकाबला है।

2019 में मतपत्रों से हो चुनाव: निरुपम
- भंडारा-गोंदिया और उत्तर प्रदेश में कैराना लोकसभा सीट के लिए सोमवार को हुए उप चुनाव में बड़े पैमाने पर वोटिंग मशीनों में आई खराबी के बाद 2019 में होने वाले लोकसभा के आम चुनाव वोटिंग मशीनों के बजाए मतपत्रों के जरिए कराए जाने की मांग जोर पकड़ने लगी है।
- देश के अलग-अलग हिस्सों से इस तरह की मांग उठ रही है। मुंबई में भी मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने मंगलवार को एक बयान जारी कर 2019 में ईवीएम की बजाय मतपत्रों के द्वारा चुनाव कराए जाने की मांग की है।
- निरुपम ने अपने बयान में कहा कि आयोग की लाख सफाई के बाद भी राजनीतिक दलों, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों, राजनीतिक कार्यकर्ताओं और यहां तक कि आम लोगों के मन में भी वोटिंग मशीनों को लेकर पक्का भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया में जनता का भरोसा होना लोकतंत्र के लिए जरूरी है।
- उन्होंने कहा कि मशीनें गर्मी से खराब होती तो पहले भी खराब होनी चाहिए थीं और सभी मशीनों को खराब होना चाहिए था। निरुपम ने आरोप लगाया कि सत्ता के लिए भाजपा जिस तरह के हथकंडे अपना रही है, इस बात की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता कि इन मशीनों की सेटिंग से छेड़छाड की कोशिश की गई हो।

गोंदिया-भंडार की सीट पर 18 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। गोंदिया-भंडार की सीट पर 18 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।