--Advertisement--

महाराष्ट्र में अब सरकारी कर्मचारियों के स्थानांतरण काउंसलिंग से होंगे

जारी शासनादेश के अनुसार, अब क्लास 2, 3 व 4 के कर्मचारियों के तबादले काउंसलिंग से होंगे।

Dainik Bhaskar

Apr 26, 2018, 09:25 AM IST
नियम के अनुसार, तीन साल बाद सरक नियम के अनुसार, तीन साल बाद सरक

मुंबई. राज्य के सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों को अब अपने मनचाहे स्थल पर तबादले के लिए जुगाड़ नहीं खोजना पड़ेगा। सामान्य प्रशासन विभाग की तरफ से जारी शासनादेश के अनुसार, अब क्लास 2, 3 व 4 के कर्मचारियों के तबादले काउंसलिंग से होंगे। यानि कर्मचारियों को यह पता होगा कि उन्हें कहां भेजा जा रहा है।

यह है नया तबादला नियम
- सरकार के तबादला अधिनियम के अनुसार, तीन साल बाद सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों का तबादला किया जाना चाहिए। इसके लिए अप्रैल-मई का महीना तय किया गया है।
- सामान्य प्रशासन विभाग ने वर्ग ब से ड तक के कर्मचारियों का तबादला काउंसलिंग के जरिए करने का फैसला लिया है। जिन कर्मचारियों का तबादला प्रस्तावित है, उनको उनके परिमंडल पर बुला कर बताया जाएगा कि तबादले के लिए कौन-कौन सी जगह रिक्त हैं।
- सभी को उनको तीन विकल्प दिए जाएंगे। उन्हें अपनी सुविधा के अनुसार तबादले के लिए एक विकल्प चुनना होगा। जिले के भीतर तबादले का अधिकार जिलाधिकारी के पास होगा, जबकि जिले के बाहर तबादले के लिए ये पद्धति अपनाई जाएगी।

जिला परिषद स्कूलों का होगा ऑनलाइन तबादला
- प्रदेश के जिला परिषद स्कूलों के शिक्षकों का अब ऑनलाइन तबादला होगा। शिक्षकों को नए स्कूलों में जाने के लिए 20 स्कूलों का विकल्प दिया जाएगा।
- ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने बताया कि ऑनलाइन तबादले में पति पत्नी एकत्रीकरण यानी शिक्षक पति और शिक्षिका पति-पत्नी की नियुक्ति 30 किलोमीटर के दायरे में स्थित स्कूल में ही होगी। साथ ही तबादले में बीमार व दिव्यांग शिक्षकों और सैनिकों की शिक्षिका पत्नियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

मेडिकल ऑफिसर के लिए भी मांगी अनुमति
- राज्य के स्वास्थ्य विभाग में तबादले के लिए संबंधित मंत्री के पास हर रोज विधायकों-सांसदों व मंत्रियों के दर्जनों पत्र पहुंचते हैं।

- स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग के क्लास 2 व 3 के कर्मचारियों के तबादले के लिए सामान्य प्रशासन विभाग का आदेश लागू होगा। हमने सामान्य प्रशासन विभाग से पूछा है कि क्या मेडिकल ऑफिसर के तबादले के लिए भी इस पद्धति का इस्तेमाल किया जा सकता है।

- अधिकारी ने बताया कि हर बार तबादले के मौसम में 300 से 400 सिफारिशी पत्र हमारे पास पहुंचते हैं। तबादले के इस नये नियम से मंत्रियों ने राहत की सांस ली है।

X
नियम के अनुसार, तीन साल बाद सरकनियम के अनुसार, तीन साल बाद सरक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..