--Advertisement--

अपनी सास की हत्या और वाइफ को घायल करने के आरोपी को पुलिस ने पकड़ा

मिथिलेश के खिलाफ रसोई में रखे चाकू से सास की हत्या करने और पत्नी को गंभीर रूप से जख्मी करने का आरोप है।

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:24 PM IST
शुक्रवार को सास की हत्या के बाद से फरार था आरोपी। शुक्रवार को सास की हत्या के बाद से फरार था आरोपी।

मुंबई: सास मंजुला देवी झा की हत्या और पत्नी अर्चना मिश्र पर जानलेवा हमला कर फरार चल रहे 28 वर्षीय आरोपी मिथिलेश मिश्र को समता नगर पुलिस ने मंगलवार को पोइसर से गिरफ्तार कर लिया। वहां वह अपने किसी रिश्तेदार के यहां छिपा हुआ था। मिथिलेश के खिलाफ 26 अप्रैल की शाम साढ़े पांच बजे रसोई में रखे चाकू से सास की हत्या करने और पत्नी को गंभीर रूप से जख्मी करने का आरोप है।

नशे का आदी था आरोपी
- नशे के आदी मिथिलेश ने 54 वर्षीया मंजुला के सीना, पेट और शरीर के निचले हिस्से में चाकू से 3 बार वार कर उसकी हत्या कर दी और 22 वर्षीया अर्चना के गले और चेहरे पर उसी चाकू से कम से कम 6 बार वार कर भाग गया था।
- मंजुला की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि अर्चना शताब्दी अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। इस संबंध में समता नगर पुलिस आरोपी मिथिलेश के खिलाफ हत्या और जानलेवा हमला करने का मामला दर्ज कर घटना की जांच कर रही है।

ऐसे हुई आरोपी की गिरफ्तारी
- पुलिस के अनुसार, आरोपी मिथिलेश ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद वह मौके से भाग गया। उस वक्त उसकी जेब में सिर्फ 40 रुपये ही थे, जिसका खयाल उसे बाद में आया।
- चूंकि, घटना के बाद से पुलिस उसे ढ़ूंढ रही थी, इसलिए बाहर जाने और गिरफ्तारी के डर से वह इधर-उधर भागने की बजाए पोइसर के बड़े नाले में ही छिपा हुआ था, जहां वह खाना नहीं खाता था। उसने खाने के लिए 40 रुपये का खजूर खरीद लिया था और रात में पानी और खजूर खाकर वह जैसे-तैसे समय गुजार रहा था।
- इस तरह से उसने चार दिन गुजार लिए, मगर मंगलवार को पुलिस को मिथिलेश के पोइसर में ही किसी रिश्तेदार के यहां जाने की भनक मुखबिर द्वारा लग गई, जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर उसे गिरफ्तार कर लिया।
- पुलिस अब उसके रिश्तेदारों से भी पूछताछ कर रही है, जिसने उसको ठिकाना दिया था। बताया जा रहा है कि मिथिलेश पिछले दो महीने से मोबाइल का इस्तेमाल नहीं कर रहा था। इस वजह से उसके लोकेशन को ट्रेस करना पुलिस के लिए कठिन साबित हो रहा था।
समता नगर मंजुला देवी झा हत्याकांड


मायके में रहती थी पत्नी
- समता नगर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी मिथिलेश को अर्चना के चरित्र पर शक था और वह अक्सर नशे की हालत में उसकी पिटाई करता था।
- अर्चना के पिता सहज झा के अनुसार, मिथिलेश और अर्चना की शादी 2013 में हुई थी और दोनों को एक बेटी भी है। ये लोग पोइसर के शिवाजी नगर स्थित दुर्गा माता मंदिर के पास भाड़े की एक मकान में रहते थे।
- मिथिलेश नशे का अधिक मात्रा में सेवन करता था। अर्चना जब उसे रोकती, तो वह उसकी बेरहमी से पिटाई कर देता था। पति के अत्याचार से तंग आकर आखिरकार अर्चना पति का घर छोड़ कर रहने के लिए बेटी सहित हमलोगों के पास पोइसर आ गई थी। इसके बाद दामाद अक्सर अर्चना को वापस ससुराल भेजने की बात कहता था, लेकिन नशेड़ी होने की वजह से हमलोग बेटी को उसके पास भेजना नहीं चाहते थे।

इसी नाले में छिपकर बैठा हुआ था आरोपी। इसी नाले में छिपकर बैठा हुआ था आरोपी।