--Advertisement--

पत्नी की मौत के बाद 8 घंटे तक बॉडी कार में ले घूमता रहा पति, अरेस्ट

पति का कहना है कि मणि ने सुसाइड किया है, जबकि मणि के रिश्तेदारों का आरोप है कि उसकी हत्या की गई है।

Danik Bhaskar | Jun 21, 2018, 05:06 PM IST

मुंबई. शहर के साकीनाका इलाके में रहने वाली शादीशुदा महिला मणि पुरोहित की मौत को लेकर संदेह और गहराता जा रहा है। मणि की मौत के बाद उसका पति सुखराम उसकी बॉडी को कार में लेकर 8 घंटे तक घूमता रहा था। पति का कहना है कि मणि ने सुसाइड किया है, जबकि मणि के रिश्तेदारों का आरोप है कि उसकी हत्या की गई है। पुलिस ने सुखराम को अरेस्ट कर जेल भेज दिया है।

बिना पुलिस को बताये अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहा था पति

- मुंबई पुलिस के मुताबिक, दोनों की शादी पांच साल पहले हुई थी। पिछले कुछ महीनों से दोनों के बीच विवाद चल रहा था। 6 जून को सुखराम ऑफिस से घर पहुंचा तो मणि फंदे पर झूलती मिली। इसके बाद उसने पुलिस को सूचित करने की जगह अपने दो सहयोगियों की सहायता से वाइफ की बॉडी को कार की पिछली सीट पर डाला और उसे लेकर 8 घंटे तक शहर में घूमता रहा। किसी को शक न हो इसलिए उसने बॉडी को साड़ी से ढक रखा था। पुलिस का कहना है कि बॉडी को पकड़ने के लिए उसके दो दोस्त भी पीछे बैठे थे। वे बॉडी को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे।

पत्नी के रिश्तेदार की वजह से हुआ खुलासा

- इसके बाद सुखराम अपनी वाइफ को लेकर बोरीवली पहुंचा। यहां मणि के एक रिश्तेदार ने उसे देखा और उसे सुखराम पर शक हुआ। वह सुखराम और मणि की बॉडी लेकर शताब्दी अस्पताल गए। शताब्दी अस्पताल में प्राथमिक जांच में पता चला की महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। जिसके बाद साकीनाका पुलिस स्टेशन को इसकी जानकारी दी गई।

ऐसे पकड़ा गया पति
- इसके बाद पुलिस ने पति से पूछताछ की तो पति ने बताया कि उसकी पत्नी से अक्सर उसका विवाद होता था इस वजह से फांसी लगाकर उसने खुदकुशी कर ली है। पुलिस ने सुखराम से पूछा आखिर क्यों बिना पुलिस को सूचित किए उसने शव को हाथ लगाया? बिना पुलिस को बताए शव का अंतिम संस्कार क्यों करना चाहते थे? लाश को एम्बुलेंस के बजाय निजी कार से क्यों लाया गया? इन सवालों के संतोषजनक जवाब न दे पाने पर पुलिस ने सुखराम को अरेस्ट कर लिया। उसपर आत्महत्या के लिए उकसाने का केस भी दर्ज किया गया है।