--Advertisement--

महिला को थी बेटी की चाहत, 10 महीने के बेटे को मार कर ड्रम में छिपाया

उसे औरंगाबाद की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 2 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

Danik Bhaskar | Jun 26, 2018, 04:42 PM IST

औरंगाबाद. महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक महिला ने बेटी की चाहत में अपने 10 महीने के बच्चे को ड्रम में डूबा कर मार डाला। पुलिस ने महिला को अरेस्ट कर लिया है। डॉग स्क्वॉड की सहायता से बच्चे का शव एक प्लास्टिक के ड्रम से बरामद हुआ है। पुलिस ने महिला के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत केस दर्ज कर लिया है। सोमवार को उसे औरंगाबाद की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 2 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।


बेटे को मारने के बाद पहुंच गई मामला दर्ज करवाने
- बिड़किन पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर पंडित सोनावणे ने बताया,"गंगापुर तहसील के पिंपरखेड़ा की रहने वाली 22 वर्षीय वेदिका रामेश्वर एरंडे शनिवार को अपने माता-पिता से मिलने के लिए पैठण खेड़ा आई थी। शाम को वेदिका अपने 10 महीने के बच्चे प्रेम परमेश्वर एरंडे के साथ सो रही थी। आधी रात को उसकी नींद खुली तो उसका बच्चा गायब था। इसके बाद उसने माता-पिता को बच्चा नहीं होने की जानकारी दी। सभी ने देर रात तक बच्चे को खोजा और देर रात बिडकिन पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई।

ऐसे बरामद हुआ बच्चे का शव
- इंस्पेक्टर पंडित सोनावणे ने आगे बताया कि देर रात डॉग स्क्वॉड को बुलाकर बच्चे को तलाशने का काम शुरू किया गया। डॉग ने ही एक प्लास्टिक के ड्रम में कुछ संदिग्ध होने का सुराग दिया। इसके बाद ड्रम को खोला गया तो उसमें बच्चे का शव पड़ा हुआ था।

पूछताछ में कबूल किया गुनाह
- इसके बाद पूछताछ के दौरान पुलिस ने वेदिका को हिरासत में ले लिया। कड़ाई से पूछताछ के बाद वेदिका ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि यह उसका दूसरा बच्चा था। लेकिन दूसरी बार भी जब उसे बेटा हुआ तो वह बेहद दुखी हुई। बेटी की चाहत में उसने इसकी हत्या की है। महिला ने बताया कि उसे लगा था कि दो बेटे होने के बाद ससुराल वाले आगे बेटी पैदा करने की बात से इनकार कर रहे थे।