न्यूज़

--Advertisement--

PM की हत्या की साजिश वाला पत्र सहानभूति बटोरने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा: शरद पवार

शरद पवार ने आगे कहा, लेटर में सत्‍यता है कि नहीं इसपर मुझे शक है।

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 09:16 AM IST
एनसीपी चीफ पार्टी की स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। एनसीपी चीफ पार्टी की स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।

पुणे. कुछ दिनों पहले पुणे पुलिस ने खुलासा किया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या हो सकती है। इस साजिश के खुलासे के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार ने इन खबरों को सहानुभूति बटोरने का प्रयास बताया है। पवार के इस बयान पर महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने भी आपत्ति जताते हुए दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

धमकी भरे पत्र की जानकारी अखबार को नहीं देते: पवार

- पुणे में राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के 20वें स्‍थापना दिवस के मौके पर बोलते हुए पवार ने कहा,"वो कहते हैं कि धमकी भरा पत्र मिला है। आज एक रिटायर्ड पुलिस अधिकारी मुझसे मिले, उन्‍होंने पूरी जिंदगी सीआईडी में काम किया है। उस अधि‍कारी ने मुझे बताया कि इन खतों में कुछ दम नहीं है। अगर धमकी के खत आते हैं तो कोई अखबार को नहीं बताता। सीआईडी को सूचित करता है और सतर्कता बरती जाती है।"

यह सहानभूति लेने का प्रयास है
- शरद पवार ने आगे कहा, "लेटर में सत्‍यता है कि नहीं इसपर मुझे शक है। धमकी भरे खत आए हैं ऐसा कहकर लोगों की सहानुभूति लेने का प्रयास किया जा रहा है। मुझे भरोसा है कि लोग इस पर विश्‍वास नहीं करेंगे।"

सीएम फडणवीस ने कहा-पवार से इतना नीचा गिरने की उम्मीद नहीं थी

- शरद पवार के इस बयान के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस एक ट्वीट कर इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। उन्होंने कहा कि पवार से इतना नीची गिरने की उम्मीद नहीं की जा सकती है।
- उन्होंने ट्वीट कर कहा, "यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि पुलिस ने जो दस्तावेज बरामद किए और उनमें प्रधानमंत्री मोदी जी की हत्या की साजिश की बात आ रही है, उसपर शरद पवार जी संदेह कर रहे हैं।"

- सीएम फडणवीस ने आगे कहा, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हमारे देश के नेता हैं किसी एक पार्टी के नहीं. शरद पवार से इतना नीचे गिरने की उम्मीद नहीं की जाती है। पुलिस के पास सारे सबूत हैं और सच सामने आ ही जाएगा।''

यह है पीएम की हत्या की साजिश का मामला
- शुक्रवार को महाराष्ट्र में भीमा-कोरेगांव हिंसा के आरोपियों से पुलिस को संदिग्ध ईमेल और चिट्ठी मिली हैं। इनमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश का जिक्र है।
- पुणे पुलिस के मुताबिक, माओवादियों ने प्रधानमंत्री के रोड शो को निशाना बनाने की बात लिखी है। पुलिस ने ये सभी दस्तावेज कोर्ट में पेश किए।
- पुलिस ने माओवादियों के इंटरनल कम्युनिकेशन को इंटरसेप्ट किया। ईमेल में कहा गया- ''नरेंद्र मोदी 15 राज्यों में भाजपा की सरकार बनाने में कामयाब हुए हैं। अगर ऐसे ही चलता रहा तो सभी मोर्चों पर पार्टी के लिए परेशानी खड़ी हो जाएगी। कॉमरेड किसन और कुछ अन्य सीनियर कॉमरेड ने मोदी राज खत्म करने के लिए कारगर सुझाव दिए हैं। हम इसके लिए राजीव गांधी जैसे हत्याकांड पर विचार कर रहे हैं। यह आत्मघाती जैसा होगा और इसके नाकाम होने की संभावना भी ज्यादा है। पर पार्टी हमारे प्रस्ताव पर विचार जरूर करे। उन्हें रोड शो में टारगेट करना असरदार रणनीति हो सकती है। पार्टी का अस्तित्व किसी भी त्याग से ऊपर है। बाकी अगले पत्र में।''

कोरेगांव हिंसा मामले में पांच गिरफ्तार
- बता दें कि 1 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने नक्सलियों का हाथ होने का दावा किया है। केरल निवासी एक्टिविस्ट रोना विल्सन समेत 5 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच में पुलिस के हाथ माओवादियों के ईमेल और चिट्ठी लगी है। भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच में पुलिस के हाथ माओवादियों के ईमेल और चिट्ठी लगी है।
X
एनसीपी चीफ पार्टी की स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।एनसीपी चीफ पार्टी की स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।
भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच में पुलिस के हाथ माओवादियों के ईमेल और चिट्ठी लगी है।भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच में पुलिस के हाथ माओवादियों के ईमेल और चिट्ठी लगी है।
Click to listen..