--Advertisement--

उपराष्ट्रपति के सामने टपकने लगी पुणे महानगरपालिक की नई इमारत, विपक्ष ने किया कटाक्ष

नए सभागृह में लीकेज के चलते जल रिसाव होने लगा और उपराष्ट्रपति के सामने ही कई जगह पानी टपकने लगे।

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 03:37 PM IST

पुणे. महानगरपालिका (मनपा) के बढ़ते कामकाज को देखते हुए प्रशासनिक भवन के ठीक बगल में ही करोड़ों रुपए खर्च कर नई विस्तारित इमारत बनाई गई है। इस इमारत का उद्घाटन गुरुवार को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के हाथों किया गया। लेकिन इस ऐतिहासिक मौके पर बारिश की वजह से फजीहत हो गई। नए सभागृह में लीकेज के चलते जल रिसाव होने लगा और उपराष्ट्रपति के सामने ही कई जगह पानी टपकने लगे। कार्यक्रम में मंच पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस भी मौजूद थे।

विपक्ष ने सरकार को घेरा

- नए भवन में पानी टपकने की इस घटना को लेकर विपक्ष ने आलोचना शुरू कर दी है। उनका कहना है कि सत्ताधारियों कि जल्दबाजी का नतीजा महानगरपालिका को भुगतना पड़ा। सत्ता पक्ष पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण को पुणे वासी बरसों तक याद रखेंगे।

सभागृह में भरा पानी

- भारी बारिश के चलते दीवारों के सहारे पानी टेबल, कुर्सियों पर गिरने लगा। इस कारण कुछ देर के लिए कार्यक्रम भी प्रभावित हुआ। मनपा कर्मचारियों ने किसी तरह से अखबार बिछा कर अपनी इज्जत बचाई। कैंपस में भी पानी भर जाने से बाहर जाने में भी आंगतुकों को दिक्कत आई।

क्या खास है इस नई इमारत में ?
- महानगरपालिका की ओर से करोड़ों रुपए खर्च कर यह इमारत बनाई गई है। तीन मंजिला इमारत में सभी राजनैतिक कार्यालय, आम सभागृह, नगर सचिव विभाग हैं। इसके ग्राउंड फ्लोर पर नागरिक सुविधा केंद्र, एक खिड़की योजना कक्ष, पोस्ट ऑफिस, बैंक ATM, टीएनपीएल पास कार्यालय है।

- पहली मंजिल पर विभिन्न दलों के कार्यालय व नगर सचिव कार्यालय है। दूसरी मंजिल पर महापौर, सभागृह नेता, स्थाई समिति सभागृह और पत्रकार कक्ष बनाया गया है। तीसरी मंजिल पर आम सभा कार्यालय है।