• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Pune
  • Now after the online order, there is no hassle of waiting for the delivery boy, you can take the parcel from Padbank anytime in 24 hours

सुविधा / ऑनलाइन ऑर्डर के बाद डिलीवरी बाॅय का इंतजार नहीं, पाॅडबैंक से 24 घंटे में पार्सल ले सकेंगे

ऑनलाइन ऑर्डर के बढ़ते ट्रेंड के बीच पॉडबैंक भी बढ़ेंगे। ऑनलाइन ऑर्डर के बढ़ते ट्रेंड के बीच पॉडबैंक भी बढ़ेंगे।
X
ऑनलाइन ऑर्डर के बढ़ते ट्रेंड के बीच पॉडबैंक भी बढ़ेंगे।ऑनलाइन ऑर्डर के बढ़ते ट्रेंड के बीच पॉडबैंक भी बढ़ेंगे।

  • इन पाॅडबैंक को ऑफिस काॅम्प्लेक्स, रहवासी साेसायटी और इमारताें में लगाया जाने लगा है
  • निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई ने भी पाॅडबैंक आधारित सुविधा ‘आईबाॅक्स’ लाॅन्च की है

दैनिक भास्कर

Feb 04, 2020, 08:15 AM IST

पुणे. दाे दशक पहले तक बाजाराें में लगे लाल लेटरबाॅक्स हर घर-दफ्तर की जरूरत का हिस्सा थे। पहले कूरियर सर्विस ने इनकी जरूरत कम की। फिर वाॅट्सएप, फेसबुक, टेलीग्राम और माेबाइल फाेन के जमाने में इन्हें भुला दिया गया। अब 21वीं सदी में लेटरबाॅक्स का डिजिटल अवतार सामने आया है। अब इन डिजिटल पाॅर्सल लाॅकर काे पाॅडबैंक नाम दिया गया है। इन्हें ऑफिस काॅम्प्लेक्स, रहवासी साेसायटी और इमारताें में लगाया जाने लगा है।

अभी तक किसी सामान का ऑनलाइन ऑर्डर करने पर आपकाे डिडलीवरी बाॅय के दिए समय पर घर-ऑफिस में रुककर इंतजार करना पड़ता था। ऐसे में आपकाे अपनी मीटिंग छाेड़नी पड़ती है। अब इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। डिलीवरी बाॅय आपके घर या ऑफिस के बाहर ही लगे पाॅडबैंक में पार्सल छाेड़ जाएगा। आप अपनी सुविधा अनुसार ओटीपी डालकर उसे कभी भी ले सकेंगे। फिलहाल इस तरह की सुविधा पुणे में शुरू की गई है।

नीजी बैंक ने भी लगाए आईबॉक्स
इस सुविधा से रियल एस्टेट मैनेजर काे बड़ी-बड़ी साेसायटी में अपने फ्लैट मालिकाें या किराएदाराें की सुरक्षा की चिंता भी नहीं करनी पड़ेगी। दरअसल, महानगराें की बड़ी टाउनशिप में दिनभर में सैकड़ाें डिलीवरी बाॅय पहुंचते हैं। ऐसे में फ्लैट या डुप्लेक्स में रहने वाले लाेगाें की सुरक्षा एक बड़ी चिंता हाेती है। नई सुविधा में डिलीवरी बाॅय गेट पर ही लगे पाॅडबैंक में आपका पार्सल छाेड़ जाएगा, जिसे आप कभी भी ले सकेंगे। निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई ने भी पाॅडबैंक आधारित सुविधा ‘आईबाॅक्स’ लाॅन्च की है। इससे ग्राहक कभी भी अपने डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, चेक बुक व रिटर्न चेक ले सकते हैं।

ऑनलाइन ऑर्डर का ट्रेंड बढ़ रहा
देश में ऑनलाइन ऑर्डर कर सामान मंगवाने का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है। बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप और गूगल की ताजा रिपोर्ट बताती है कि मोबाइल के जरिये खाना मंगवाने का बाजार 25 से 30% की रफ्तार से बढ़ रहा है। इसके 2022 तक 56,800 करोड़ रुपए होने की संभावना है। वहीं संपूर्ण ऑनलाइन खर्च अगले पांच साल में 25% बढ़कर 9 लाख करोड़ रुपए होने की संभावना है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना