न्यूज़

--Advertisement--

कॉलेज में फीस भरने के लिए नहीं थे पैसे, परेशान स्टूडेंट ने इमारत से लगाई छलांग

विद्यार्थी का परिवार पैसों की तंगी से जूझ रहा था।

Danik Bhaskar

Apr 10, 2018, 04:12 PM IST
महाराष्ट्र के औरंगाबाद का माम महाराष्ट्र के औरंगाबाद का माम

औरंगाबाद. महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक छात्र ने कॉलेज की इमारत से छलांग लगाकर खुदकुशी की कोशिश की है। घटना औरंगाबाद के एमआईटी नर्सिंग कॉलेज की है। कहा जा रहा है कि कॉलेज की इमारत से छलांग लगाने वाला विद्यार्थी का परिवार पैसों की तंगी से जूझ रहा था। छात्र के पास पैसे नहीं थे कि वो कॉलेज का फीस भी भर सके और कॉलेज की ओर से फीस देने का दबाव बनाया जा रहा था। अंत में निराश होकर उसने खुदकुशी का प्रयास किया। अस्पताल में भर्ती छात्र की हालत गंभीर बताई जा रही है।

1) सामने आया घटना का वीडियो
- औरंगाबाद के एमआईटी के नर्सिंग कॉलेज में पढ़ाई करने वाला सचिन वाघ नाम के विद्यार्थी ने मंगलवार दोपहर 12 बजे कॉलेज की बिल्डिंग से कूद कर सुसाइड का प्रयास किया।
- इस पूरी घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि विद्यार्थी पहले कॉलेज के तीसरी मंजिल पर जाता है। गैलरी में आकर छलांग लगा देता है।
- घटना के बाद छात्र को पास के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उसके दोनों पैर टूट गए हैं।
- छात्र के परिजनो को भी मामले की जानकारी दे दी गई है। उनका कहना है कि स्टूडेंट को फीस के लिए कॉलेज की ओर से परेशान किया जा रहा था। फिलहाल औरंगाबाद पुलिस इस मामले की जांच में जुट हुई है।

2) कॉलेज ने कहा चीटिंग कर रहा था स्टूडेंट
- स्टूडेंट के सुसाइड के प्रयास पर कॉलेज के डायरेक्टर मोनीश शर्मा ने बताया, " सुसाइड की कोशिश करने वाला फर्स्ट ईयर नर्सिंग का स्टूडेंट था। आज उसका प्री यूनिवर्सिटी एग्जाम था। एग्जाम के दौरान वह चीटिंग करते हुए पकड़ा गया था। उसके पास से चिट भी पकड़ी गई। इसके बाद उसे पकड़कर कॉलेज के प्रिंसिपल के पास ले जाया गया। उसके खिलाफ कार्रवाई जारी ही थी तभी वह वहां से भाग निकला और तीसरी मंजिल पर जाकर बिल्डिंग से छलांग लगा दी। उसकी कोई भी फीस बाकी नहीं थी"
- वहीं इस मामले में स्थानीय कॉरपोरेटर सुरेश पाटिल ने आरोप लगाया है कि सचिन कॉलेज के इंटरनल एग्जाम में चीटिंग करते हुए पकड़ा गया था। यह मामला इतना बड़ा नहीं है कि उसे सुसाइड जैसा प्रयास करना पड़े। इस मामले में कॉलेज पर आरोप साबित हो रहे हैं। इसलिए इसकी जांच करवाई जानी चाहिए।

Click to listen..