पुणे / आध्यात्मिक केंद्र के संचालक की पिटाई से कोमा में गया छात्र, श्लोक नहीं सुनाने पर बुरी तरह से पीटा था

पीड़ित बच्चा पिछले 8 दिनों से कोमा में है। पीड़ित बच्चा पिछले 8 दिनों से कोमा में है।
X
पीड़ित बच्चा पिछले 8 दिनों से कोमा में है।पीड़ित बच्चा पिछले 8 दिनों से कोमा में है।

  • पुलिस ने बच्चे की पिटाई करने वाले आलंदी के एक संस्था संचालक को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है
  • 10 फरवरी को संस्था के संचालक महाराज पोव्हने ने बच्चे को हरिपाठ पढ़ने के लिए कहा, लेकिन बच्चा सही से सुना नहीं सका 

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 02:30 PM IST

पुणे. शहर से सटे आलंदी इलाके में हरिपाठ(श्लोक) का अध्यन न करने पर एक नाबालिग बच्चे की इस कदर पिटाई हुई कि वह कोमा में चला गया। पुलिस ने बच्चे की पिटाई करने वाले आलंदी के एक संस्था संचालक को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है।

शुक्रवार को मामले की जांच कर रहे पुलिस इंस्पेक्टर(क्राइम) नरेंद्र जाधव ने बताया कि पीड़ित(10 वर्ष) माउली ज्ञानराज कृपा प्रसाद आध्यात्मिक केंद्र में पढ़ता है। 10 फरवरी को संस्था के संचालक महाराज पोव्हने ने बच्चे को हरिपाठ पढ़ने के लिए कहा। लेकिन वह सही ढंग से उसे नहीं सुना सका। जिसके बाद महाराज ने उसे तब तक पीटा जब तक कि वह बेसुध नहीं हो गया।

इस घटना के कुछ देर बाद छात्र को आलंदी के हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया, जहां इलाज के दौरान वह कोमा में चला गया। उसकी मां ने इस मामले में महराज के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। डॉक्टर के मुताबिक, बच्चे के छाती में गंभीर चोट लगने के कारण वह कोमा में चला गया है। फिलहाल उसका इलाज जारी है और पुलिस ने आरोपी को गुरुवार को पकड़ लिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना