--Advertisement--

ऑनलाइन मंगवाए गए थे 28 चाकु और तलवार, छापा मार पुलिस ने 7 लोग किए गिरफ्तार

बीते दिनों औरंगाबाद में सांप्रदायिक दंगा हुआ था। ऐसे वक्त में हथियार आना, वह भी ऑनलाइन काफी गंभीर मामला है।

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 04:06 PM IST
Racket of online shopping of swords and knife busted at aurangabad.

औरंगाबाद. शहर में हुई हिंसा का मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि पुलिस के हाथ हथियारों का एक बड़ा जखीरा लगा है। इनमें भारी संख्या में तलवारें शामिल हैं। ये तलवारें इ कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट से मंगवाई गई थी। औरंगाबाद क्राइम ब्रांच ने गुप्त सूचना पर फ्लिपकार्ट के हब पर छापा मारा और 28 तलवारें, चाकू और गुप्ती बरामद की हैं। इस मामले में अब तक 7 लोग अरेस्ट हो चुके हैं। सभी को बुधवार को स्थानीय कोर्ट में पेश किया गया, जहां से अदालत ने उन्हें 3 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। बता दें कि बीते दिनों औरंगाबाद में सांप्रदायिक दंगा हुआ था। ऐसे वक्त में हथियार आना, वह भी ऑनलाइन काफी गंभीर मामला है। पुलिस इस पूरे मामले को गंभीरता से देख रही है।

6 लोग हिरासत में लिए गए
- औरंगाबाद पुलिस के मुताबिक, दंगे के बाद औरंगाबाद के 24 लोगों ने इन हथियारों को फ्लिपकार्ट पर आर्डर करके मंगाया था।
- ये सभी औरंगाबाद के अलग-अलग इलाकों में रहते हैं। ऑनलाइन हथियार मंगाने वाले 24 में से 6 लोगों को क्राइम ब्रांच ने अपनी हिरासत में लिया है।

औरंगाबाद से ही हुई थी इन हथियारों की बुकिंग
- पुलिस ने यह जो हथियार फ्लिपकार्ट के औरंगाबाद हब से जप्त किए हैं। इनकी बुकिंग औरंगाबाद से ही की गई थी और इन हथियार की डिलीवरी जल्द ही होने ही वाली थी।
- हब से बरामद हथियार में 13 तलवारें, 14 चाकू, 1 गुप्ती शामिल है।


पुलिस कर रही है मामले की जांच
- एडिशनल पुलिस कमिश्नर मिलिंद भराम्बे ने बताया,"फ्लिपकार्ट पर हथियार बेचने की जानकारी महाराष्ट्र के गृह विभाग को भी दे दी गई है। फिलहाल कंपनी के हब मैनेजर को क्राइम ब्रांच ने हिरासत में लिया है। सभी से पूछताछ जारी है। हम यह पता कर रहे हैं कि आखिर क्यों यह हथियार औरंगाबाद में मंगवाए गए थे।"
- सीपी भराम्बे ने आगे बताया, फ्लिपकार्ट व इसकी को मार्केटिंग इंस्टाकार्ट सर्विस के जय भवानी नगर स्थित कार्यालय पर मारे गए छापे में 8 शस्त्र पाए गए, जिसमें 8 तलवारें, एक बड़ा चाकू और एक खुखरी शामिल है। जबकि नागेश्वरवाड़ी के कार्यालय में 818 पार्सल पाए गए। इसमें चार तलवारें, दो गुप्ती 12 चाकू शामिल है। बरामद सभी जानलेवा साबित होने वाले हथियार जप्त किए गए हैं।

राजस्थान से मंगवाए गए थे हथियार
- पुलिस तहकीकात में यह बात सामने आई है कि हथियारों के यह पार्सल ऑनलाइन नागेश्वरवाड़ी स्थित कार्यालय के लिए राजस्थान से और जय भवानी नगर के कार्यालय के लिए भिवंडी से भेजे गए हैं।
- पहले दोनों कार्यालयों से ग्राहकों को खिलौने के नाम पर हथियार के पार्सल पहुंचाए गए हैं। एक हथियार की कीमत 1100 से 2000 रुपए है।

Racket of online shopping of swords and knife busted at aurangabad.
X
Racket of online shopping of swords and knife busted at aurangabad.
Racket of online shopping of swords and knife busted at aurangabad.
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..