--Advertisement--

मुंबई में सुबह से हल्की बारिश, पालघर के कई इलाकों में अभी भी भरा पानी

मुख्यमंत्री फडणवीस ने सभी से जरुरत पड़ने पर ही घरों से बाहर निकलने की अपील की है।

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 04:14 PM IST

मुंबई. बुधवार को मुंबईकरों के लिए थोड़ी राहत की खबर सामने आई। सुबह से यहां बारिश नहीं हो रही है। लेकिन लगातार चार दिन की बारिश से शहर से सटे पालघर जिले के वसई, विरार और नालासोपारा इलाके में अभी भी घुटनों तक पानी भरा हुआ है। सड़कों पर लंबा जाम नजर आ रहा है। नालासोपारा में ट्रेन की पटरियां पानी में डूबी हुई है। इन इलाकों में लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया। वहीं, मुंबई के वेस्टर्न एक्सप्रेसवे पर कई किलोमीटर का जाम लगा हुआ है। मौसम विभाग ने आज भी मुंबई, पालघर में भारी बारिश की चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री फडणवीस ने सभी से जरुरत पड़ने पर ही घरों से बाहर निकलने की अपील की है।

धीमी गति से चल रही है लोकल
- मंगलवार को भारी बारिश से विरार और नालासोपारा के बीच ट्रैक पर पानी भरने के कारण विरार से भायंदर तक की रेल सेवा को बंद करना पड़ा था। बुधवार को कुछ लोकल गाड़ियों को विरार से भायंदर के लिए चलाया गया, लेकिन उनकी रफ्तार काफी धीमी रखी गई है। भायंदर से चर्चगेट और चर्चगेट से भायंदर तक रेल सेवा सामान्य है, जबकी चर्चगेट से विरार डाउन लाइन पूरी तरह बंद है। विरार से भायंदर के बीच लोकल की रफ्तार 10 किमी प्रति घंटे रखी गई है। धीरे-धीरे लंबी दूरी की ट्रेनें भी चल रही हैं। विरार से डहाणू के लिए लोकल रेल सेवा सामान्य कर दी गई है।

बॉम्बे हाईकोर्ट की रेलवे और बीएमसी को फटकार
- हर साल बारिश के आगे बेबस नजर आने वाली बीएमसी और रेलवे को बॉम्बे हाईकोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। रेलवे को झाड़ते हुए कोर्ट ने पूछा कि जब रेलवे को यह अच्छी तरह से पता है कि नीचले इलाको में हर बारिश में जब पानी भर जाता है तो ट्रैक की ऊंचाई क्यों नहीं बढ़ाई गयी? कोर्ट ने कहा कि मुंबई की लोकल सेवा के लिए अलग से रेलवे बोर्ड क्यों नहीं बनाया जाता, क्यों हर बार दिल्ली बोर्ड से इजाजत मांगने की जरूरत पड़ती है? यही नहीं कोर्ट ने रेलवे से यह भी पूछा कि आखिर क्यों ने इस काम को प्राइवेट हाथों में सौंप दिया जाये?
लगातार बारिश के बाद जलभराव को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को भी फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा क्यों बीएमसी बारिश के लिए तैयारी नहीं करती है।

बारिश ने ली 3 की जान
- वारली नदी में डूबकर महादया राध्य दुमाडा (66) की मौत हो गई। विरार पश्चिम डोंगरपाडा स्थित देशमुख आली निवासी राकेश खोत (30) की डूबने से जान गई। वहीं कल्याण के कोनगांव की सड़क पर हुए गड्ढे के कारण पशुओं की खाद्य सामग्री से भरा एक ट्रक भिवंडी की तरफ से आ रहे एक ऑटोरिक्शा पर पलट गया, जिससे रिक्शा में सवार एक व्यक्ति की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।


भारी बारिश से बेहाल हुए पालघर, ठाणे और नवी मुंबई
- मंगलवार को पालघर, ठाणे और नवी मुंबई बारिश से बेहाल हो गया था। ठाणे और पालघर के सभी स्कूलों की छुट्टी कर दी गई थी। मंगलवार को मुंबई के हिंदमाता, कोलाबा, माटुंगा, दादर, सांताक्रूज और सायन के कई इलाकों में पानी भर गया था। जिससे रेल, सड़क और हवाई यातायात पर इसका भारी असर पड़ा। पश्चिम रेलवे के अंतर्गत विरार से भाईंदर के बीच रेल का सेवाओं का परिचालन पूरी तरह ठप हो गया। इस कारण 100 से अधिक लोकल सेवाएं रद्द की गईं। राजधानी और अगस्त क्रांति जैसी एक्सप्रेस गाड़ियों को भी रद्द करना पड़ा। वसई से वापी तक इतना पानी भरा कि मुंबई आने वाली ट्रेनें बीच में ही अटक गईं।

अगले 24 घंटे मुंबई में भारी बारिश की चेतावनी
- मौसम विभाग ने बुधवार को अगले 24 घंटे मुंबई में और अगले 48 घंटे ठाणे, पालघर और कोंकण में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। सोमवार सुबह 8.30 से मंगलवार सुबह 8.30 तक सांताक्रुज में 184.3 एमएम बारिश दर्ज हुई है। कोलाबा में भी 24 घंटे में 166 एमएम बरिश दर्ज हुई है। इस दौरान सबसे अधिक बारिश (223 एमएम) गोरगांव में दर्ज हुई। मंगलवार को दोपहर के बाद बारिश का सबसे अधिक असर वसई, विरार पालघर और नेरुल में दिखा।

रवने पर फिसला विमान
- मुंबई एयरपोर्ट पर शाम 3.30 बजे एयरइंडिया का एक विमान रवने पर फिसल गया। बारिश के चलते रनवे पर पानी भरा हुआ था। विमान लैंड करते वक्त फिसल कर रनवे से आगे चला गया। हालांकि, पायलट की सूझबूझ के चलते कोई हादसा नहीं हुआ। यात्रियों और केबिन क्रू को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। एयरइंडिया ने दुर्घटना की जांच का आदेश दे दिया है।